10+ best poetry books in Hindi – हिंदी कविता की किताबें

अगर आप एक कविता प्रेमी हैं तो यह पोस्ट आपके लिए ही है । इसमें मैंने Best Hindi poetry books की लिस्ट तैयार की है जिन्हें आपको जीवन में एक बार तो जरूर पढ़ना चाहिए । इसमें आपको हर poem book के डिस्क्रिप्शन के बाद , कविता की कुछ पंक्तियां भी दी जायेंगी । इससे आप यह निर्णय आसानी से ले सकेंगे कि आपको किताब पढ़ना चाहिए या नहीं ।

अगर poetry books pdf उपलब्ध होंगे तो उसका लिंक भी आपको अवश्य प्रोवाइड किया जायेगा । इसके अलावा , किताब को खरीदने का लिंक भी दिया जायेगा । अगर आप इस पोस्ट पर हैं तो जाहिर सी बात है कि आप एक कविता प्रेमी हैं इसलिए मैंने उन्हीं किताबों को जोड़ा है जो सच में आपकी कविता की प्यास बुझाती हैं । तो चलिए इस लिस्ट की शुरुआत करते हैं ।

10+ Best Hindi poetry books

फिलहाल लिस्ट में मैंने 10 Hindi poetry books को ही जोड़ा है । अगर आपको इसमें दी गई किताबों के अलावा अन्य बेहतरीन कविता की किताबों के बारे में पता है तो उनके नाम कॉमेंट बॉक्स में जरूर दें । इसके अलावा अगर आप कॉमेंट बॉक्स में अपना नाम लिखकर Hi भेजें तो मैं एक बेहतरीन कविता आपको पढ़ने के लिए suggest करूंगा ।

1. अपने सामने – कुंवर नारायण

Best Hindi poetry books के सूची में मेरी पसंदीदा किताब अपने सामने को मैं सबसे पहले स्थान पर रखना चाहूंगा । इस किताब को कुंवर नारायण जी ने लिखा था जिसमें ढेरों कविताओं का संग्रह है । Goodreads पर इस कविता संग्रह को 4.5/5 तो वहीं Rekhta पर 5/5 की रेटिंग मिली है । इस कविता संग्रह को वर्ष 2003 में प्रकाशित किया गया था ।

कविता संग्रह की प्रमुख कविताएं हैं :

  • अंतिम ऊंचाई
  • आपद्धर्म
  • तुम मेरे हर तरफ़
  • काफ़ी बाद
  • उस टीले तक

अगर आप कुंवर नारायण जी की कविताओं पर गौर करें तो आप पाएंगे कि इन्होंने लगभग सभी विषयों को बड़े ही करीब से स्पर्श किया है , महसूस किया है तब लिखा है । इनकी कविताओं में कहीं भी छल कपट नहीं , इन्होंने बस वही लिखा है जो जिया है । अंतिम ऊंचाई की कुछ खूबसूरत पंक्तियां :

शुरू-शुरू में सब यही चाहते हैं

कि सब कुछ शुरू से शुरू हो,

लेकिन अंत तक पहुँचते पहुँचते हिम्मत हार जाते हैं

हमें कोई दिलचस्पी नहीं रहती

कि वह सब कैसे समाप्त होता है

जो इतनी धूमधाम से शुरू हुआ था

हमारे चाहने पर

अंतिम ऊंचाई : कुंवर नारायण

आप किताब को Amazon से खरीद सकते हैं । हालांकि , इस Poetry book की सारी कविताएं आप Hindi- Kavita पर जाकर मुफ्त में पढ़ सकते हैं । नीचे कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको कौन सी कविता सबसे पसंद आई ।

2. मधुशाला – हरिवंश राय बच्चन

Madhushala poetry book

Poetry books in Hindi की इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर मेरी पसंदीदा कविता संग्रह मधुशाला है । मधुशाला को जाने माने कवि हरिवंश राय बच्चन जी ने लिखा था । मधुशाला में कुल 7 भाग हैं जिनमें कवि ने मधु और मादकता की मदद से कविता और कवि को केंद्र बिंदु में रखा है । अगर आप एक रचनाकार हैं तो इस कविता में आपके लिए बहुत बड़ी सिख छुपी हुई है ।

मधुशाला को मूल रूप से 1935 में प्रकाशित किया गया था । बच्चन जी की कविता को लेकर काफी आलोचना भी हुई थी कि वे इस कविता के माध्यम से समाज को गलत दिशा दे रहे हैं । परंतु , बच्चन जी का उद्देश्य कला और साहित्य को समझाना था । इसमें 135 रूबाइयां मौजूद हैं और रूबाइयों का अर्थ चार पंक्तियों वाली कविता से है ।

मधुशाला में आपको सूफीवाद का दर्शन भी होता है । कविता की पंक्तियां और भाषा सरल और पठनीय है । किताब को Goodreads पर 4.4/5 की रेटिंग प्राप्त हुई है । आप पूरी कविता को कविता कोश पर भाग के हिसाब से पढ़ सकते हैं । कविता की कुछ पंक्तियां हैं :

जितनी दिल की गहराई हो उतना गहरा है प्याला,

जितनी मन की मादकता हो उतनी मादक है हाला,

जितनी उर की भावुकता हो उतना सुन्दर साकी है,

जितना हो जो रिसक, उसे है उतनी रसमय मधुशाला

मधुशाला : हरिवंशराय बच्चन

3. रश्मिरथी – रामधारी सिंह दिनकर

रामधारी सिंह दिनकर जी की सबसे प्रसिद्ध और उत्कृष्ट रचना रश्मिरथी Best Hindi poetry books की लिस्ट में तीसरा स्थान ग्रहण करती है । अगर आप ऐसी कविता पढ़ना चाहते हैं जिसे पढ़ते पढ़ते आप कविता के भाव से सराबोर हो जाएं और आपके अंदर उत्साह का संचार हो तो आपको एक बार रश्मिरथी अवश्य पढ़नी चाहिए । Goodreads और Flipkart पर किताब को 4.7/5 और 4.6/5 की रेटिंग प्राप्त हुई है ।

किताब का मूल प्रकाशन 1952 में हुआ था और इसे अंग्रेजी भाषा में भी अनुवाद किया गया है । यह कविता कर्ण के जीवन के इर्द-गिर्द केंद्रित है , जो महाकाव्य महाभारत में अविवाहित रानी कुंती के पुत्र थे । ज्ञात हो कि रश्मिरथी शब्द का अर्थ सूर्य का सारथी है । जिस तरह से दिनकर जी ने कर्ण की कहानी को नैतिक दुविधाओं में फंसे मानवीय भावनाओं के सभी रंगों के साथ प्रस्तुत किया है , वह अद्भुत है ।

रश्मिरथी में शब्दों का चयन और भाषा की शुद्धता प्राणपोषक है । रश्मिरथी एक कालातीत प्रासंगिकता है और इसे अवश्य पढ़ना चाहिए । आप इस Link की मदद से इस उत्कृष्ट रचना को पढ़ सकते हैं । इसके अलावा आप Amazon से इस पुस्तक को खरीद भी सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

टकरायेंगे नक्षत्र-निकर,

बरसेगी भू पर वह्नि प्रखर,

फण शेषनाग का डोलेगा,

विकराल काल मुँह खोलेगा ।

दुर्योधन! रण ऐसा होगा।

फिर कभी नहीं जैसा होगा ।

रश्मिरथी : रामधारी सिंह दिनकर

4. कामायनी – जयशंकर प्रसाद

कामायनी जयशंकर प्रसाद की एक हिंदी महाकाव्य कविता है । इसे हिन्दी साहित्य में आधुनिक समय में लिखी गई महानतम साहित्यिक कृतियों में से एक माना जाता है । मूल रूप से इसका प्रकाशन 1936 में हुआ था । Flipkart पर इस महाकाव्य को 4.4/5 की रेटिंग प्राप्त हुई है । कामायनी छायावाद का प्रतिनिधि काव्य है इसलिए अगर आप छायावाद रचनाएं पसंद करते हैं तो यकीन मानिए उससे उत्कृष्ट कुछ नहीं ।

मानवीय विचार , कर्म , भावनाओं और संवेदनाओं का संगम यह कृति है । ज्यादातर लोग यह कहते हैं कि यह महाकाव्य इंसान की उम्र बढ़ने के साथ आए विचार , संवेदना और भावनाओं की एक प्रति है । इसके साथ ही एक बहुत ही जरूरी बात मैं कहना चाहूंगा कि अगर आपको कक्षा 2 की हिंदी वाले स्तर की कविता की तलाश है तो इस महाकाव्य से दूर ही रहें ।

यह महाकाव्य सच्चे अर्थों में उनके लिए ही है जो हिंदी भाषा का अच्छा ज्ञान रखते हैं और हिंदी से प्रेम करते हैं । किताब को आप इस Link की मदद से पढ़ सकते हैं । इसके अलावा Flipkart और Amazon पर किताब कम दाम में उपलब्ध है जिसे आप खरीद सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां :

विकल वासना के प्रतिनिधि

वे सब मुरझाए चले गए

आह जले अपनी ज्वाला से

फिर वे जल में गले , गए!

कामायनी : जयशंकर प्रसाद

5. तार सप्तक – अज्ञेय

तार सप्तक का मूल प्रकाशन 1943 में हुआ था जिसे सात कवियों ने मिलकर लिखा है । इसे नई कविता का प्रस्थान बिंदु भी कहा जाता है । इसके अलावा आपको यह भी ज्ञात होना चाहिए कि इस काव्य संग्रह के बाद से हिंदी काव्य साहित्य में प्रयोगवाद का आरंभ हुआ । तार सप्तक के कवियों में शामिल थे :

  • गजानन माधव मुक्तिबोध
  • नेमीचंद्र जैन
  • भारतभूषण अग्रवाल
  • प्रभाकर माचवे
  • गिरिजाकुमार माथुर
  • रामविलास शर्मा
  • अज्ञेय

यह एक must have Hindi poetry book है अगर आप कविता प्रेमी हैं तो । ePustakalay पर कविता संग्रह को 5/10 की रेटिंग प्राप्त हुई है । एक बात मैं आपको पहले ही बताना चाहूंगा कि इसमें मुक्तिबोध और अज्ञेय जैसे महाकवियों की काव्य संग्रह मौजूद है जिसकी वजह से भाषा थोड़ी कठिन होगी ।

अगर आप इस काव्य संग्रह को पढ़ना चाहते हैं तो Google books की मदद से पढ़ सकते हैं जोकि बिल्कुल फ्री है । इसके अलावा अमेजन , फ्लिपकार्ट पर आपको यह किताब उचित दाम में मिल जायेगी । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

जैसे तुझे स्वीकार हो !

डोलती डाली , प्रकंपित पात , पाटल स्तंभ विलुलित

खिल गया है सुमन मृदु-दल , बिखरते किंजल्क प्रमुदित

स्नात मधु से अंग रंजित – राग केशर अंजली से

स्तब्ध सौरभ है निवेदित ,

मलय मारुत , और अब जैसे तुझे स्वीकार हो !

तार सप्तक : अज्ञेय

6. रात पश्मीने की – गुलज़ार

Best poetry books by Gulzar की लिस्ट तो बड़ी है परंतु मेरी पसंदीदा रात पश्मीने की है । इस कविता संग्रह को वर्ष 2002 में मूल रूप से प्रकाशित किया गया था । Goodreads और Flipkart पर क्रमशः किताब की 4.3/5 और 4.4/5 की रेटिंग मिली है । रूपा पब्लिकेशन्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड द्वारा इस किताब को प्रकाशित किया गया था ।

पुस्तक गुलजार की कुछ कविताओं का संकलन है । गुलज़ार के गीत, गुलज़ार के संवाद, गुलज़ार की फ़िल्में, सभी में एक गुण है – उनमें कविता का “रस” है क्योंकि मूल रूप से गुलज़ार कवि ही हैं । अगर आप गुलज़ार साहब की कविताओं का असल में लुफ्त उठाना चाहते हैं तो यह किताब आपके लिए Must है ।

अगर आप इस Best Hindi poetry book को पढ़ना चाहते हैं तो आप Hindi-Kavita की वेबसाइट पर जाकर पढ़ सकते हैं । इसके अलावा यह Kavitakosh.org पर भी आपको मिल जायेगी जहां आप पुस्तक को मुफ्त में पढ़ सकते हैं । अमेजन और फ्लिपकार्ट पर किताब को आप उचित दाम में खरीद सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

अगर ऐसा भी हो सकता—

तुम्हारी नींद में,सब ख़्वाब अपने मुंतकिल करके,

तुम्हें वो सब दिखा सकता,जो मैं ख्वाबो में

अक्सर देखा करता हूँ–!

अगर ऐसा भी हो सकता ( रात पश्मिने की ) : गुलज़ार

7. साए में धूप : दुष्यंत कुमार

Best Hindi poetry book की लिस्ट में अगली किताब का नाम साए में धूप है जिसे दुष्यंत कुमार जी ने लिखा है । दुष्यंत कुमार की कविताएँ सुधारवादी समय की बात करती हैं , जब हिंदुस्तानी और हिंदी कवियों ने भाषा के लिए हाथ मिलाया , जैसा पहले कभी नहीं था । इस किताब का मूल प्रकाशन सन् 2008 में हुआ था । हालांकि , इस पुस्तक में आपको गजलें मिलेंगी जिन्हें कविता का ही एक रूप कहा जाता है ।

साए में धूप पुस्तक में आपको दुष्यंत कुमार जी की खूबसूरत गजलें मिल जायेंगी । यह पुस्तक उनके जीवन की अंतिम और अत्यंत चर्चित पुस्तक है । उनकी गज़लें आज भी प्रासंगिक हैं और आगे भी रहेंगी । दुष्यंत की गजलों में तीखा व्यंग्य होता है और इसके साथ ही होता है प्रेम! कई जगहों पर उन्होंने प्रेम को व्यंग्य के साथ पेश किया है जो अद्भुत है ।

आप साए में धूप गजल पुस्तक के सभी गजलों को Kavitakosh से पढ़ सकते हैं । इसके अलावा अगर आप चाहें तो किताब को अमेजन या फ्लिपकार्ट से खरीद भी सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

वो मुतमइन हैं कि पत्थर पिघल नहीं सकता

मैं बेक़रार हूँ आवाज़ में असर के लिए ।

साए में धूप : दुष्यंत कुमार

8. गीतांजलि : रविंद्र नाथ टैगोर

गीतांजलि जिसे बांग्ला में गीतांजोलि उच्चारित किया जाता है एक कविता संग्रह है । इस खूबसूरत से कविता संग्रह को रविंद्र नाथ टैगोर जी ने लिखा था । उनकी यह रचना इतनी प्रसिद्ध हुई थी और प्रख्यात हुई थी कि सन् 1913 में उन्हें विश्व प्रसिद्ध नोबेल पुरस्कार भी मिला था । गीतांजलि का अर्थ गीतों का उपहार होता है । मै recommend करूंगा कि आप अपनी bookshelf में इस best Hindi poetry book को अवश्य स्थान दें ।

आप चाहें तो इस किताब को अंग्रेजी भाषा में भी खरीद सकते हैं । दरअसल , गीतांजलि मूल रूप से बांग्ला भाषा में ही लिखी गई थी जिसे बाद में अन्य भाषाओं में अनुवादित किया गया । इस कविता संग्रह में कुल 104 कविताएं हैं जिन्हें पढ़ना एक आनंद का अनुभव देता है । इसका केंद्रीय विषय भक्ति है, और इसका आदर्श वाक्य है ‘मैं यहाँ तुम्हारे गीत गाने के लिए हूँ ।

किताब का मूल प्रकाशन 1910 में हुआ था जिसके ठीक 3 साल बाद टैगोर जी को साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार मिला , मुख्यतः अंग्रेजी अनुवाद के लिए । गीतांजलि में समर्पण की भावना मुख्य विषयवस्तु है और साथ ही साथ कविताओं के स्वर में आपको रहस्यवाद के भी दर्शन होंगे । किताब को आप Flipkart या Amazon से खरीद सकते हैं । आप Gitanjali book poems पर क्लिक करके कविताएं पढ़ सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

छोड़ो मत, कसकर गहे रहो

अजी, तुम्हारी होगी जय;

अंधकार कट रहा स्यात है,

अजी, नहीं अब कोई भय ।

गीतांजलि ( 76 ) : रवींद्रनाथ टैगोर

9. उर्वशी : रामधारी सिंह दिनकर

उर्वशी एक कविता है, जिसे राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर ने लिखा है । यह पौराणिक चरित्र उर्वशी के बारे में एक खुबसूरत कविता है, जिसके लिए उन्हें सबसे सम्मानित ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था । उर्वशी एक परी थी जिसे भगवान इंद्र ने बनाया था । वह स्वर्गलोक की अप्सरा थी और राजा इंद्र के दरबार में नृत्य किया करती थी ।

महाकवि दिनकर ने इसी उर्वशी को अपनी कविता का केंद्रबिंदु बनाकर रचना की है । दिनकर जी ने इस काव्य के माध्यम से उर्वशी और पुरुरवा जोकि धरती पुत्र है , को जोड़ना चाहा है । मेरे हिसाब से प्रेम और सौंदर्य पर यह सबसे बेहतरीन Hindi poetry book है जिसे एकबार जरूर पढ़ें । कवि ने प्रेम को मनोवैज्ञानिक स्तर तक लेजाकर आंका है और पाठकों के समकक्ष प्रस्तुत किया है ।

रामधारी सिंह दिनकर जी ने इनके प्रेम को दैहिक चेतना से परे , आत्मिक मिलन बताया है । किताब को आप फ्लिपकार्ट या अमेजन से खरीद कर पढ़ सकते हैं । इसके अलावा आप उर्वशी कविता संग्रह पर क्लिक करके भी आप कविता पढ़ सकते हैं । कविता की कुछ पंक्तियां हैं :

मर्त्य मानव की विजय का तूर्य हूँ मैं,

उर्वशी! अपने समय का सूर्य हूँ मैं

अंध तम के भाल पर पावक जलाता हूँ,

बादलों के सीस पर स्यंदन चलाता हूँ

उर्वशी : रामधारी सिंह दिनकर

10. संसद से सड़क तक – धूमिल

संसद से सड़क तक poetry book
Image source : कविता कोश

संसद से सड़क तक धूमिल जी द्वारा लिखी एक उत्कृष्ट पुस्तक है जिसमें ढेरों कविताओं का संग्रह है । यह पुस्तक मूल रूप से 1998 में प्रकाशित किया गया था । किताब के शीर्षक से ही आपको ज्ञात हो गया होगा कि कविता संग्रह की विषय वस्तु क्या है । धूमिल सच्चे अर्थों में जनकवि माने जाते हैं जिन्होंने जन की समस्याओं को कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया है । उनकी हर एक कविता में लोकतंत्र और उसको आकर देने वाले हर तत्व पर बात की गई है ।

Must have Hindi poetry books की लिस्ट में इसे आपको जरूर जोड़ना चाहिए । Poem lovers के लिए यह कविता इसलिए भी खास है क्योंकि यह प्रासंगिक है और आने वाले कई वर्षों तक यह प्रासंगिक ही रहेगा । उन्होंने सामाजिक व्यवस्था और सत्ता पर क्रूर प्रहार किया है और उनसे प्रश्न भी पूछे हैं । धूमिल को जनकवि के तौर पर सदा याद किया जाएगा ।

अगर आप इस पुस्तक को खरीद कर पढ़ें तो यह ज्यादा बेहतर होगा जोकि अमेजन और फ्लिपकार्ट पर आसानी से मिल जायेगा । इसके अलावा आप kavitakosh वेबसाइट की मदद से भी कविता को पढ़ सकते हैं । किताब की कुछ पंक्तियां हैं :

उसे मालूम है कि शब्दों के पीछे

कितने चेहरे नंगे हो चुके हैं

और हत्या अब लोगों की रुचि नहीं –

आदत बन चुकी है

वह किसी गँवार आदमी की ऊब से

पैदा हुई थी और

एक पढ़े-लिखे आदमी के साथ

शहर में चली गयी

संसद से सड़क तक : गोधूली

Conclusion on best Hindi poetry books

Must have best poetry books in Hindi की इस लिस्ट में मैंने 10 बेहतरीन काव्य पुस्तकों का जिक्र किया है और संक्षेप में सभी के बारे में जानकारी भी दी है । अगर आपके मन में हिंदी कविता की अन्य खूबसूरत किताबें हैं तो कॉमेंट के माध्यम से हमें बताएं ताकि हम उन्हें भी जोड़ सकें । इसके साथ ही अगर आप कॉमेंट में अपना नाम और hi लिखकर भेजें तो मैं आपके नाम के हिसाब से आपको एक खूबसूरत कविता पढ़ने के लिए भेजूंगा ।

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो कृपया करके औरों को भी best Hindi poem books के बारे में बताएं । इसे दोस्तों और कविता प्रेमियों से जरूर शेयर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.