Letter writing in Hindi – Letter writing formats, examples & types

आज के समय में हम सभी को Hindi Letter writing आनी चाहिए । हमें पता होना चाहिए कि पत्र के कितने प्रकार होते हैं, इसे कैसे लिखा जाता है और formats क्या हैं । यकीन मानिए अगर आप एक उच्च कक्षा में पढ़ाई करने वाले छात्र हैं और आपको पत्र लेखन नहीं आता तो यह बिल्कुल भी अच्छी बात नहीं है । इसलिए इस आर्टिकल में मैं आपको Letter writing in Hindi सिखाऊंगा ।

आपको लेटर राइटिंग से जुड़ी हर जानकारी इस आर्टिकल में दी जाएगी । विभिन्न मौकों पर अलग अलग प्रकार के पत्र लिखे जाते हैं इसलिए आर्टिकल में आपको 15+ letter examples भी दिए जाएंगे ताकि आप उनकी मदद से अपने हिसाब से पत्र लेखन कर सकें ।

Contents

What is letter writing in Hindi

Letter writing या पत्र लेखन लिखित या मुद्रित संदेशों का आदान-प्रदान है । औपचारिक पत्र और अनौपचारिक पत्र इसके दो प्रकार हैं जिन्हें विभिन्न मौकों पर लिखा जाता है । आमतौर पर इसे हाथ से या टाइप करके लिखा जाता है और मेल के जरिए दूसरे व्यक्ति तक पहुंचाया जाता है ।

एक पत्र आमतौर पर या तो जानकारी प्रदान करने, एक संदेश देने, किसी कार्य को करने के लिए अनुरोध करने या किसी स्थिति के बारे में रिपोर्ट करने के उद्देश्य से लिखा जाता है । काफी समय से पत्र लेखन हमारी जिंदगी का एक हिस्सा है । कई बार जो बातें हम सामने वाले व्यक्ति से कह नहीं पाते, उन्हें लेटर लिखकर जता देते हैं । यह application writing जैसा ही होता है ।

Types of letter in Hindi

पत्र कई प्रकार के होते हैं जिन्हें विभिन्न मौकों पर हम लिखते हैं । पत्र मोटे तौर पर दो प्रकार के होते हैं, औपचारिक पत्र और अनौपचारिक पत्र । हालांकि, इनसे हटकर भी कुछ अन्य प्रकार भी हैं जो अपने उद्देश्य, सामग्री और औपचारिकताओं पर आधारित हैं । चलिए देखते है कि Hindi letter writing के कितने प्रकार हैं :

1. Formal Letter

ये पत्र एक निश्चित प्रतिरूप और औपचारिकता का पालन करते हैं । ऐसे पत्र आधिकारिक उद्देश्यों के लिए अधिकारियों, गणमान्य व्यक्तियों, सहकर्मियों, वरिष्ठों आदि को लिखे जाते हैं, न कि व्यक्तिगत संपर्कों, मित्रों या परिवार को । किसी भी प्रकार का व्यावसायिक पत्र या अधिकारियों को लिखा गया पत्र इसी श्रेणी में आता है ।

उदाहरण के तौर पर अगर किसी कंपनी के मैनेजर को त्यागपत्र कारण बताते हुए लिखा जाए तो उसे formal letter या औपचारिक पत्र लेखन ही कहेंगे । इसमें आपको एक निश्चित प्रतिरूप का पालन करते हुए अनुशासित ढंग से पत्र लिखना होगा और पत्र लेखन के कारण पर ध्यान ज्यादा केंद्रित किया जाता है ।

2. Informal Letter

ये व्यक्तिगत पत्र होते हैं । इन्हें किसी निर्धारित प्रतिरूप का पालन करने या किसी औपचारिकता का पालन करने की आवश्यकता नहीं है । अनौपचारिक पत्रों में व्यक्तिगत जानकारियां या लिखित बातचीत होती है । अनौपचारिक पत्र लेखक के करीबी परिचितों, उनके दोस्तों, परिवार, रिश्तेदारों आदि को लिखे जाते हैं ।

उदाहरण के तौर पर, आप अपने शिक्षिका की सेहत के बारे में जानने के लिए अनौपचारिक पत्र यानि informal letter लिखेंगे । इसमें आप Dear Mrs. Sinha लिखकर पत्र लेखन की शुरुआत कर सकते हैं और उनसे उनकी खराब सेहत के बारे में पूछ सकते हैं । इसके अलावा, आप लिख सकते हैं कि आप उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं । परंतु जब यही पत्र उसी शिक्षक को नए पाठ्यक्रम की जानकारी लेने के लिए लिखा जायेगा तो वह formal यानि औपचारिक पत्र होगा ।

3. Employment Letter

Employment Letter या रोजगार पत्र औपचारिक पत्र होते हैं जिन्हें किसी भी व्यक्ति की नौकरी के संबंध में लिखा जाता है । रोजगार पत्र नौकरी देने वालों और नौकरी चाहने वालों के बीच के पत्र हैं । एक रोजगार पत्र एक नियोक्ता और एक कर्मचारी के बीच नियमों और शर्तों को निर्दिष्ट करता है ।

उदाहरण के तौर पर, अगर आप किसी कंपनी में कार्य करना चाहते हैं तो आप कम्पनी के मैनेजर को रोजगार पत्र लिख सकते हैं जिसमें अपने qualifications, achievements, previous roles इत्यादि का जिक्र कर सकते हैं । इसके जवाब में अगर मैनेजर आपको नौकरी पर रखने के लिए सहमत हो जाता है तो आपको एक पत्र लिख सकता है जिसमें वह आपसे कम्पनी के सभी नियम और शर्त मानने के लिए कहेगा ।

4. Business Letter

Business Letter या व्यावसायिक पत्र मुख्य रूप से दो व्यवसायों के बीच लिखा जाता है । एक व्यावसायिक पत्र एक प्रकार का पत्र है जो विभिन्न व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए लिखे गए संचार के साधन के रूप में कार्य करता है । यह औपचारिकता का पालन करके लिखा जाने वाला पत्र है इसलिए इसे औपचारिक या formal letter कहते हैं ।

उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए कि आपको कोई कंपनी है जो बर्तन बनाने का काम करती है । बर्तन बनाने के लिए आपकी कंपनी को कच्चे माल की जरूरत है जिसकी आपूर्ति कोई अन्य कम्पनी कर सकती है । ऐसे में, आप औपचारिक तरीके से दूसरी कंपनी को एक पत्र लिखेंगे जिसमें आप उस कंपनी से कच्चा माल खरीदने की मंशा को व्यक्त करेंगे ।

5. Social Letter

किसी विशेष घटना के अवसर पर लिखे गए व्यक्तिगत पत्र को सामाजिक पत्र के रूप में जाना जाता है । यह किसी व्यक्ति को खास महसूस कराने या किसी भावना को व्यक्त करने के लिए लिखे जाते हैं । इन्हें अनौपचारिक पत्र की श्रेणी में रखा जाता है जिसमें पत्राचार की भाषा सरल और सहज होती है और भावना से परिपूर्ण होती है ।

उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए कि आपके किसी खास दोस्त के पिता की मृत्यु हो जाती है । ऐसी परिस्थिति में सोशल लेटर लिखे जाते हैं जिसमें सामने वाले व्यक्ति को सांत्वना दी जाती है । इस प्रकार के पत्राचार आपसी मेलजोल और बंधुत्व की भावना का विकास करते हैं ।

Hindi letter writing format

अब आप अच्छे से समझ चुके हैं कि Hindi letter writing के कितने types होते हैं । अब जरूरी है कि आप letter writing formats को भी समझें ताकि भविष्य में आप इन्हीं प्रारूपों के आधार पर पत्र लिख सकें । मैंने औपचारिक और अनौपचारिक पत्र लेखन प्रारूप के बारे में एक के बाद एक जानकारी नीचे दी है ।

1. Formal letter format in Hindi

सेवा में,

1. श्रीमान – पदनाम जैसे प्रधानाध्यापक, धनाध्यक्ष इत्यादि

2. पता – यहां पर संस्था या व्यक्ति का आधिकारिक पता लिखें

3. दिनांक – जिस दिन पत्र लेखन कर रहे हों, उस दिन का दिनांक डालें

4. विषय – आप जिस कारणवश यह पत्र लिख रहे हैं, उसे 4 से 5 शब्दों में लिखें

5. संबोधन – औपचारिक पत्रों में संबोधन के तौर पर श्रीमान, श्रीमती, महोदय/महोदया, माननीय या नाम का प्रयोग करें

6. विषय वस्तु – अब आपको विस्तारपूर्वक अपना परिचय देते हुए पत्र लिखने का कारण लिखना है । इसमें आपको “सविनय निवेदन यह है कि” से शुरुआत करना है और अपनी समस्या या पत्र लिखने के कारण को स्पष्ट करना है । इसके बाद दूसरे पैराग्राफ में “आपसे विनम्र निवेदन है कि” लिखने की शुरुआत करते हुए यह लिखें कि आप जिसे पत्र लिख रहे हैं उनसे क्या चाहते हैं ।

7. हस्ताक्षर और नाम – विषय वस्तु लिखने के पश्चात आपको धन्यवाद प्रकट करना है । इसके नीचे आपको सबसे पहले भवदीय लिखें और फिर हस्ताक्षर व नाम लिखें ।

8. प्रेषक का पता – अंत में प्रेषक यानि पत्र भेजने वाले व्यक्ति का संपूर्ण पता लिखें जिसमें ज्यादातर Pin Code लिखना भी जरूरी है । यह इसलिए ताकि पदाधिकारी सीधे तौर पर आपसे संपर्क कर सके ।

2. Informal letter format in Hindi

1. प्रेषक पता और परिचय – सबसे पहले पत्र के दाएं भाग में पत्र भेजने वाले का नाम और पता लिखें ।

2. दिनांक – जिस दिन पत्र लिखा जा रहा है इस दिन का दिनांक डालें ।

3. संबोधन – जिसे पत्र लिख रहे हैं उसकी उम्र के हिसाब से संबोधन लिखे जैसे आदरणीय, पूज्यनीय, प्रिय मित्र, चिरंजीव इत्यादि ।

4. अभिवादन – आप सादर प्रणाम, सादर चरणस्पर्श, प्रिय मित्र इत्यादि अभिवादन लिख सकते हैं ।

5. विषय वस्तु – विषय वस्तु में सामने वाले व्यक्ति का सबसे पहले कुशलक्षेम पूछें और अपना भी हालचाल बताएं । इसके बाद, पत्र लिखने के मूल कारण को स्पष्ट रूप से लिखें । अंत में सामने वाले व्यक्ति के हिसाब से उसे प्रणाम, प्यार या सांत्वना भेजें ।

6. समाप्ति – इसमें आप आपका पुत्र, तुम्हारा दोस्त, तुम्हारा प्रिय इत्यादि लिखकर खुद का नाम लिखें ।

Letter writing in Hindi examples

नीचे आप जानेंगे कि Hindi letter writing examples कौन कौन से हैं ताकि आप इनकी मदद से अलग अलग मौकों पर पत्र लिख सकें ।

1. Letter Writing in Hindi to Friend

हिंदपीड़ी, लेक रोड

रांची झारखंड

20 अक्टूबर, 2021

प्रिय मित्र देवेंद्र,

सप्रेम नमस्कार ।

मुझे तुम्हें यह बताते हुए अत्यंत खुशी हो रही है कि मेरी बड़ी बहन का विवाह 26 अक्टूबर, 2021 को होना तय हुआ है । शादी की सभी रस्में कल से शुरू हो जाएंगी इसलिए तुम्हारा परसों तक यहां आना अपेक्षित है । मुझे अपने विश्वसनीय सूत्रों से पता चला है कि फिलहाल तुम्हारे कॉलेज में किसी भी प्रकार की परीक्षाएं आयोजित नहीं होंगी । इसलिए कृपया करके न आने का कोई बहाना न बनाना ।

मुझे पूरा विश्वास है कि तुम जरूर आओगे और हम मिलकर खूब मजे करेंगे । तुम्हारा इंतजार सिर्फ मैं ही नहीं बल्कि मेरे माता पिता भी कर रहे हैं, आखिर तुम मेरे सबसे अच्छे मित्र हो । तुम्हारे आने से विवाहोत्सव की खुशियां कई गुना बढ़ जाएंगी । आंटी और अंकल को मेरा सादर प्रणाम कहना ।

तुम्हारा दर्शनाभिलाषी

शौर्य

2. Birthday invitation letter to friend in Hindi

64, जनपथ

नई दिल्ली

11 नवंबर, 2020

प्रिय मित्र नीरज,

सप्रेम नमस्कार ।

तुम्हें यह जानकारी प्रसन्नता होगी कि 13 नवंबर को मेरे छोटे भाई ऋतिक का जन्मदिन है । हर वर्ष की ही तरह इस वर्ष भी ऋतिक के जन्मदिन पर हम सत्या होटल में एक उत्सव का आयोजन कर रहे हैं । पिछले वर्ष तुम व्यस्तता का बहाना बनाकर नहीं आए थे परंतु इसबर यह नहीं चलेगा । सायं 5 बजे से सत्या होटल में उत्सव शुरू हो जायेगा और जलपान के साथ ही रात्रि भोजन की भी व्यवस्था भी की गई है ।

इस उपलक्ष्य पर हमारे घर के सदस्यों ने कई नृत्य कार्यक्रम का आयोजन भी किया है । मुझे इस बार पूर्ण विश्वास है कि तुम सही समय पर अवश्य आओगे और छोटे भाई ऋतिक को तुम्हारा स्नेह प्राप्त होगा । हम भी पिछले कई समय से एक दूसरे से नहीं मिले हैं, इसी बहाने हम मिल भी लेंगे । मैंने कक्षा के सभी मित्रों को भी आमंत्रित किया है इसलिए खूब मजा आयेगा । अंकल आंटी को मेरा प्रणाम कहना और छोटी बहन सिमर को ढेर सारा प्यार!

तुम्हारा दर्शनाभिलाषी

मोनू

3. प्रिय मित्र के पिताजी की असमय मृत्यु पर संवेदना प्रकट करते हुए पत्र

25, केजी मार्ग

नई दिल्ली

29 सितंबर, 2020

प्रिय मित्र सुरेश

नमस्कार ।

मुझे कुछ देर पहले ही तुम्हारे पिताजी की असमय निधन के बारे में पता चला जिसे सुनकर मैं स्तब्ध हूं । मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा है कि तुम्हारे साथ इतना बुरा हुआ । मुझे पता है कि यह अब तुम्हारे लिए मुश्किल समय है, लेकिन मुझे और मेरे परिवार को तुम्हारी बहुत परवाह है । वे एक बहुत ही सज्जन व्यक्ति थे और वे मेरे साथ भी पुत्रवत व्यवहार किया करते थे ।

मृत्य एक ऐसी लीला है जिसके आगे किसी की नहीं चलती है । मुझे इस बात का दुख रहेगा कि अंतिम समय में मैं उनके दर्शन नहीं कर पाया । भगवान उनकी दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे । तुम्हारे इस दुख की भरपाई कोई नहीं कर सकता परंतु मैं और मेरा पूरा परिवार इस दुख की घड़ी में तुम्हारे साथ हैं ।

तुम्हारा प्रिय मित्र

अनिमेष

4. अपने छोटे भाई को पत्र लिखकर उसकी पढ़ाई के बारे में जानकारी लें

266, रघुवीर नगर

नई दिल्ली

18 जनवरी, 2021

प्रिय सुधांशु,

चिरंजीवी रहो ।

मुझे तुम्हारे हिंदी शिक्षक का पत्र मिला जिसमें उन्होंने पढ़ाई के प्रति तुम्हारी लापरवाही के बारे में लिखा है । यह जानकर मुझे बहुत दुख हुआ कि तुम अपना ध्यान पढ़ाई में नहीं लगा रहे हो और फालतू कार्यों में व्यर्थ समय गंवा रहे हो । तुम समय की कीमत को नहीं समझ रहे हो जोकि एक बार जाने के बाद दोबारा लौट कर नहीं आता है । अगर आज तुम इस अमूल्य धन को गंवाओगे तो कल को तुम जरूर पछताओगे ।

तुम्हें इस बात का भलीभांति ज्ञान है कि पिछली कक्षाओं में भी तुम्हारे अंक अच्छे नहीं आए थे । इसका अर्थ है कि तुम अपने भविष्य को अंधेरे के गर्त में धकेल रहे हो । समय का सही सदुपयोग करना सीखो और अपने भविष्य को बेहतर बनाने के लिए अनुशासन का पालन करो । तुम्हारी वार्षिक परीक्षाएं अगले 2 महीने में शुरू हो जाएंगी जिसमें तुम्हारे अच्छे अंक अपेक्षित हैं । समय के सही उपयोग और अनुशासन के बल पर तुम कुछ भी कर सकते हो ।

तुम्हारा अग्रज

सचिन

5. Write a letter to the younger brother wishing him on his birthday

B-56, सौहार्दनगर

आगरा

24 फरवरी, 2020

प्रिय वेद,

आशा करता हूं कि तुम वहां स्वस्थ होगे और अपने जन्मदिन की तैयारियों में व्यस्त होगे । मेरी तरफ से भी तुमको 16वें जन्मदिवस पर जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं । मेरी बहुत इच्छा थी कि तुम्हारे जन्मदिन के उपलक्ष्य पर मैं भी उपस्थित रहूं परंतु मुझे मेरे काम से छुट्टी नहीं मिल रही है । मैं तुम्हारे अगले जन्मदिन पर आने की पूरी कोशिश करूंगा । मुझे पता है कि तुम नाराज होगे परंतु तुम्हें मेरी मजबूरी समझनी होगी ।

मुझे आशा है कि तुम अपने जन्मदिन को बड़े ही धूम धाम से मनाओगे और अपने दोस्तों के साथ खूब मजे करोगे । यही वह समय है जब तुम जीवन के हर पल का उत्सव मनाओ और साथ ही पढ़ाई पर भी ध्यान दो । अगले ही महीने तुम्हारी वार्षिक परीक्षाएं भी शुरू हो जाएंगी जिसकी तैयारी में भी जुट जाओ । मम्मी और पापा को मेरा सादर प्रणाम कहना ।

मैंने तुम्हें एक प्यारा से उपहार भेजा है । ऊपर देखकर मुझे अवश्य बताना कि वह तुम्हें कैसा लगा ।

तुम्हारा अग्रज

विराट

6. अपनी पढ़ाई के बारे में जानकारी देते हुए पिताजी को पत्र लिखें

रामपुर, रामगढ़

चंदौली

30 मार्च, 2021

पूज्यनीय पिताजी,

सादर प्रणाम ।

मुझे आज सुबह ही आपका पत्र मिला और यह जानकारी मुझे बहुत खुशी हुई कि आप सभी लोग घर पर कुशल और मंगल हैं । अगले महीने छोटे भाई के जन्मदिन पर मैं जरूर आऊंगा । वर्तमान में मेरी वार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं और मैं पूरी लगन और मेहनत से परीक्षाओं की तैयारी कर रहा हूं ।

मुझे पूर्ण विश्वास है कि मुझे अच्छे अंक मिलेंगे । बस आप सभी अपना आशीर्वाद मुझपर बनाए रखें ।

आपका लाडला

पीयूष

7. Write a letter to your mother informing about your studies

रिहंद नगर, बिजपुर

सोनभद्र

1 मार्च, 2021

आदरणीय माताजी,

सादर प्रणाम ।

मुझे आज सुबह ही आपका पत्र मिला । मुझे यह जानकर अत्यंत खुशी हुई कि हमारा पूरा परिवार अगले महीने मां विंध्यवासिनी के दर्शन के लिए जाना चाहता है । इस महीने के अंत में मेरी परीक्षाएं भी समाप्त हो जाएंगी इसलिए मैं अवश्य आऊंगी । मेरी भी इच्छा है कि मैं मां विंध्यवासिनी का दर्शन करूं ।

मुझे पता है कि आपको मेरी बहुत याद आती होगी और मैं भी आपको बहुत याद करती हूं । मैंने आपके लिए एक खास उपहार भी लिया है जो आपको काफी पसंद आएगा । मुझे आपसे ढेर सारी बातें करनी है इसलिए परीक्षा खत्म होते ही मैं आपसे मिलूंगी । पिताजी को मेरा प्रणाम कहना और प्रज्ञा को मेरा स्नेह देना ।

आपकी लाडली

प्रियंका

8. रुपए भेजने के लिए पिता को पत्र

चौक, भोपाल

मध्यप्रदेश

29 दिसंबर, 2020

आदरणीय पिताजी,

सादर प्रणाम ।

मैं आशा करता हूं कि आप सभी कुशल मंगल से होंगे । मैं भी यहां सकुशल हूं ।

मेरी वार्षिक परीक्षाएं नजदीक आ रही हैं जिसकी वजह से मैं पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे रहा हूं । हमारे कॉलेज में भी पढ़ाई जोरों शोरों से चल रही है ताकि सभी विद्यार्थी वार्षिक परीक्षाओं में अच्छे अंक ला सकें । हमें प्रतिदिन गृहकार्य दिया जाता है और रोज उसकी जांच भी की जाती है । कई प्रकार के परियोजना कार्य भी हमसे बनवाए जा रहे हैं ताकि हम परीक्षा के लिए अच्छे से तैयार हो सकें ।

हाल ही में कॉलेज से हमें एक बड़ा परियोजना कार्य मिला है जिसे पूरा करने के लिए मुझे 1000 रुपए की जरूरत है । यह परियोजना कार्य इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके अंक हमारे अंकपत्र में जोड़े जाएंगे । इसलिए कृपया मुझे एक हजार रुपए भेज दें । मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं रुपयों का बिल्कुल भी अपव्यय नहीं करूंगा ।

मां को मेरा प्रणाम और छोटे भाई अंशुल को ढेर सारा प्यार!

आपका बेटा

गौरव

9. नौकरी लगने पर माताजी को पत्र

शाहजहांबाद, भोपाल

मध्य प्रदेश

25 जुलाई, 2021

पूज्यनीय माताजी

सादर प्रणाम ।

मैं आशा करता हूं कि आप सभी कुशल मंगल से होंगे । मैं भी यहां सकुशल और काफी प्रसन्न हूं ।

मेरी वर्षों की मेहनत और तुम्हारा मेरी हर परिस्थिति में दिया गया सहयोग आज रंग लाया । आज मेरी नौकरी एक बड़े ही प्रतिष्ठित बैंक में लग गई है और मेरा वेतनमान 55000 रूपए प्रतिमाह तय किया गया है । आज का दिन मेरी जिंदगी का सबसे खुशनुमा दिन है । काश आप सभी इस पल मेरे साथ होते तो यह खुशी चौगुनी हो जाती । मैं जल्द ही आप सभी लोगों से मिलने आऊंगा ।

मैंने आपसे वादा किया था कि जब मेरी नौकरी लग जायेगी तो मैं आपके लिए एक प्यारा सा उपहार खरीदूंगा । इसलिए मैंने एक प्यारा सा उपहार खरीद कर पत्र के साथ ही भेज दिया है । अब आप यह मत कहना कि इसकी क्या जरूरत थी । इस उपहार को मेरा प्यार समझकर रख लेना ।

मुझे आपसे और पिताजी से ढेर सारी बातें करनी हैं । पिताजी को मेरा प्रणाम ।

आपका पुत्र

अविनाश

10. Write a Hindi letter to your girlfriend/lover/gf

चेतगंज, भेलूपुर

वाराणसी

10 फरवरी, 2021

प्रिय असीमा

ढेर सारा प्यार!

मैं आशा करता हूं कि तुम सकुशल हो । मैं भी यहां कुशल मंगल से हूं ।

मेरे कुशल मंगल होने से यह मत समझना कि मुझे तुम्हारी याद नहीं आती है । बस जल्द से जल्द करियर बनाने और तुमसे शादी करने की जद्दोजहत में तुम्हें याद करके खुश हो लेता हूं । मेरे पास हम दोनों की साथ वाली तस्वीर है जिसे हर रात देखकर ही मुझे नींद आती है । मुझे तुम्हारा पत्र एक सप्ताह पहले मिला जिसका जवाब देरी से देने के कारण मैं तुमसे क्षमा मांगता हूं । दरअसल करियर को लेकर मैं कुछ ज्यादा ही भागदौड़ कर रहा हूं ।

तुम्हें तो पता ही है कि मेरी पार्ट टाइम नौकरी से मेरा खुद का खर्च निकालना ही कितना मुश्किल है । इसलिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के साथ ही अच्छी सी नौकरी भी ढूंढ रहा हूं । हां पता है कि तुम जानना चाहती हो कि मैं तुमसे कब मिलने आऊंगा । जल्द ही! पिछले 1 साल से हम नहीं मिले हैं इसका मुझे बहुत दुख है । पर इस बार मैं तुम्हें सरप्राईज करना चाहता हूं इसलिए तारीख या समय नहीं बता सकता ।

तुमने मेरा इतना इंतजार किया, बस कुछ दिन, समय, घंटे और! बाकी ढेर सारी बातें मिलने के बाद ।

सिर्फ तुम्हारा

आयुष

11. Formal letter in Hindi to Principal

सेवा में,

प्रधानाचार्य

लिटिल फ्लावर पब्लिक स्कूल

रामनगर, वाराणसी

विषय: पानी की उचित व्यवस्था कराने हेतु ।

महोदय,

निवेदन यह है कि मैं कक्षा दसवीं का छात्र सुरेश कुमार हूं। पिछले कुछ दिनों से हमारे स्कूल में पीने का पानी गंदा आ रहा है । इस वजह से स्कूल के सभी विद्यार्थियों को बाहर पानी पीने जाना पड़ता है । यहां तक कि कुछ विद्यार्थी बाजार से बोतलबंद पानी महंगे दामों में रोज खरीदते हैं जिससे रुपए भी अनावश्यक खर्च हो रहे हैं ।

आपसे प्रार्थना है कि आप अतिशीघ्र अच्छे पानी की व्यवस्था करें ताकि पानी की परेशानी दूर हो जाए । विद्यार्थियों को स्कूल में कई बार पानी पीना होता है । पानी गंदा होने के कारण विद्यार्थियों को प्यासा ही रहना पड़ता है । आशा है कि आप शीघ्र समस्या का समाधान करेंगे ।

धन्यवाद!

आपका आज्ञाकारी छात्र

सुरेश कुमार

12. Letter to Principal for leave

सेवा में,

प्रधानाचार्य

केंद्रीय विद्यालय

रॉबर्ट्सगंज, सोनभद्र

विषय: बीमारी में 2 दिनों के अवकाश हेतु अनुरोध ।

महोदय,

मैं आपको इस पत्र के माध्यम से सूचित करना चाहता हूं कि मुझे कल रात से ही बुखार है जिसकी वजह से मैं अच्छा महसूस नहीं कर रहा हूं । कल रात मैं एक होटल में खाने के लिए गया था परंतु शायद खाना अच्छे से पच नहीं पाया और आधी रात को मेरी तबियत खराब हो गई । इसकी वजह से मुझे तेज बुखार और उल्टी होने लगी ।

मैं इस स्थिति में विद्यालय में उपस्थित नहीं पाऊंगा । डॉक्टर ने मुझे पूरी तरह से ठीक होने तक आराम करने की सलाह दी है । मैं इस पत्र के साथ चिकित्सा प्रमाण पत्र संलग्न कर रहा हूं जिसमें डॉक्टर ने मुझे कम से कम 2 दिनों तक आराम करने की सलाह दी है ।

इसलिए, आपसे अनुरोध है कि कृपया मुझे 2 दिनों का अवकाश 05/07/2021 से 06/07/2021 तक प्रदान करें, ताकि मैं आराम कर सकूं और जल्द स्वस्थ होकर विद्यालय आ सकूं । मैं इस कृतज्ञता के लिए आपका सदैव आभारी रहूंगा ।

धन्यवाद!

आपका आज्ञाकारी छात्र

आदित्य

कक्षा: 10 ‘अ’

अनुक्रमांक: 11

13. दूरदर्शन अधिकारी को कार्यक्रमों में सुधार हेतु सुझाव पत्र लिखिए ।

बी-56

अग्रसेन चौक,दिल्ली 120762

दिनांक : 23.05.2021

सेवा में,

महानिदेशक

दूरदर्शन केंद्र

संसद मार्ग, नई दिल्ली

विषय: दूरदर्शन कार्यक्रमों हेतु सुझाव

महोदय,

दूरदर्शन देश के लाखों लोगों के मनोरंजन व ज्ञान का स्रोत है । दूरदर्शन द्वारा दिखाए जा रहे चित्रहार, कृषि दर्शन, रामायण आदि कार्यक्रम दर्शकों की विशेष पसंद हैं । परंतु, बच्चों के कार्यक्रमों में काफी कमी आई है । यदि आप बच्चों के ज्ञानवर्धन से जुड़े कार्यक्रम भी दिखाएं तो यह ज्यादा बेहतर होगा ।

इसके लिए शनिवार की शाम और रविवार का दिन सबसे बढ़िया रहेगा जब बच्चे आसानी से ज्ञानवर्धक कार्यक्रम देख सकेंगे । आप खासकर कि विज्ञान और गणित से संबंधी रुचिकर कार्यक्रमों की शुरुआत कर सकते हैं । बच्चों को टेलीविजन देखना पसंद है तो क्यों न उन्हें ज्ञानवर्धन चीजें ही दिखाई जाएं ।

आशा है कि मेरे सुझाव आपको पसंद आएँगे और आप उक्त समस्त बातों को ध्यान में रखकर ही कार्यक्रम प्रसारित करेंगे ।

धन्यवाद!

भवदीय

सुशील कुमार

14. Letter to municipal health officer in Hindi

सेवा में,

अध्यक्ष महोदय

नगर निगम स्वास्थ्य विभाग

अंबेडकर नगर, नई दिल्ली

विषय: सफाई के संबंध में ।

महोदय,

निवेदन यह है कि देश की राजधानी का सबसे आलीशान इलाका अंबेडकर नगर में सफाई व्यवस्था चरमरा गई है । यहां सड़कों और गलियों में कूड़े का ढेर लगा रहता है । यहां नियुक्त किए गई सफाईकर्मियों को कई बार बोलने पर भी उन्होंने बात को अनसुना कर दिया । देशव्यापी स्वच्छता अभियान का असर हमारे क्षेत्र में नहीं दिख रहा है जिसकी वजह से कई प्रकार की बीमारियां पैदा होने का डर है ।

मैं अंबेडकर नगर में स्थित श्याम कॉलोनी में रहता हूं जहां सबसे ज्यादा गंदगी की समस्या है । इस क्षेत्र के लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी चिंतित हैं जिसका जल्द से जल्द समाधान करना अतिआवश्यक है । आपको इस क्षेत्र में निरीक्षक भेज कर यहां के स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लेना चाहिए ।

अतः महोदय से अनुरोध है कि जल्द से जल्द नियुक्त कर्मचारियों को सफाई करने का आदेश दें और निरीक्षक को भेज कर स्वास्थ्य व्यवस्था चाकचौबंद करें ।

पूर्ण सहयोग की आशा में,

भवदीय

अरुण कुमार

26/129, अंबेडकर नगर

नई दिल्ली

15. बढ़ते धूम्रपान पर अखबार के संपादक को पत्र

सेवा में,

श्रीमान संपादक जी

दैनिक जागरण, नई दिल्ली

विषय: सार्वजनिक स्थानों पर बढ़ते धूम्रपान पर चिन्ता

महोदय,

सविनय निवेदन यह है कि केंद्र सरकार की सिफारिशों पर सुप्रीम कोर्ट ने सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान पर रोक लगाई थी । रोक लगने के तुरंत बाद काफी अच्छा प्रभाव देखने को मिला और सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान लगभग न के बराबर हो गए । परंतु, यह जुर्माना भरने का एक डर मात्र था जिसकी वजह से कुछ दिनों के लिए बदलाव देखने को मिला । परंतु, अब स्तिथि पहले जैसी ही हो रही है ।

अगर आप गौर करें तो पाएंगे कि अस्पतालों, सिनेमाघरों, बस या ट्रेन स्टेशनों आदि सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान फिर से शुरू हो गया है । यह न सिर्फ प्रदूषण और बीमारियों को बढ़ावा दे रहा है बल्कि युवा पीढ़ी भी इससे प्रभावित होकर इसकी लत लगा रही है । धूम्रपान करना तो जैसे अब फैशन हो गया है ।

धूम्रपान स्वास्थ्य के साथसाथ धन की भी बरबादी है । यह टी. वी. तथा कैंसर जैसी बीमारियों की जड़ है । इसकी वजह से हमारा देश काफी पिछड़ रहा है और हमारा नौयुवक देश की प्रगति के बारे में सोचने के बजाय धूम्रपान की गंदी आदत का शिकार हो रहा है । हर साल धूम्रपान की वजह से लाखों जानें जा रही हैं । अगर सार्वजनिक धूम्रपान पर रोक लगा दी जाए तो यह हमारे समाज के लिए बेहतर होगा । दैनिक जागरण देश के सबसे पढ़ा जाने वाला अखबार है जो समाज में एक सकारात्मक बदलाव की पहल कर सकता है ।

अतः आपसे निवेदन है कि अपने समाचार पत्र के माध्यम से इस बुराई पर कड़ा प्रहार करें और लोगों को जागरूक करें । आप रचनात्मक तरीके से सार्वजनिक धूम्रपान के खिलाफ अभियान छेड़ सकते हैं जिसमें हर देशवासी आपका साथ देगा ।

नया सवेरा मंडल

गौतमबुद्ध नगर, नई दिल्ली

7 अगस्त, 2021

Hindi letter writing : Conclusion

Hindi letter writing में मैंने आपको letter writing types, formats और examples के बारे में समझाया । इसमें दिए गए Hindi letter writing examples की मदद से आप ढेरों प्रकार के Hindi letter लिख सकते हैं । अगर आपको लगता है कि किसी प्रकार का पत्र छूट गया है तो आप कॉमेंट से बताएं और उसे हम जोड़ देंगे ।

अगर आपको यह आर्टिकल helpful लगा हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें । आप इसे अपनी कक्षा के व्हाट्सएप ग्रुप इत्यादि में शेयर कर सकते हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग Hindi letter writing के बारे में जान सकें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.