Skill Development in Hindi – स्किल डेवलपमेंट कैसे करें ?

देश दुनिया में तेजी से बढ़ती बेरोजगारी की सबसे बड़ी वजह सरकारी नौकरियों में आई लगातार कमी ही नहीं है । बल्कि एक अन्य मुख्य कारण यह भी है कि भारत में skill development यानि कौशल विकास पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया जाता । आज के समय में किताबी ज्ञान तो सबके पास है लेकिन व्यावहारिक ज्ञान की देश में काफी कमी है ।

वर्तमान समय की मांग है कि स्किल डेवलपमेंट पर ज्यादा से ज्यादा जोर दिया जाए ताकि छात्रों को किताबी ज्ञान के साथ ही व्यवहारिक ज्ञान भी मिल सके । वर्तमान समय में प्राइवेट नौकरियों के साथ ही सरकारी नौकरियों में भी कौशल विकास पर लगातार जोर दिया जा रहा है । लेकिन यह Skill Development है क्या ? इसके क्या फायदे हैं ? इसके अंतर्गत कौन कौन से कौशल आते हैं और इसे कैसे सीखें ?

इन सभी प्रश्नों का उत्तर मैं आपको इस आर्टिकल में दूंगा । आर्टिकल के अंत में मैं आपको उन FREE Skill Development Course in Hindi की भी जानकारी दूंगा जिन्हें आप आसानी से कर सकते हैं । इसलिए आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़ें और पसंद आए तो शेयर करें ।

Skill Development क्या है ?

Skill Development यानि कौशल विकास आपके कौशल अंतराल की पहचान करने और इन कौशलों को विकसित करने को सुनिश्चित करने की एक प्रक्रिया है । कौशल विकास किसी विशेष क्षेत्र में व्यक्ति की दक्षता को बढ़ाता है । कौशल विकास की मदद से व्यक्ति के सामने ढेरों नौकरियों की संभावनाएं आ जाती हैं ।

उदाहरण के तौर पर, Data Analysis को सीखना मतलब कौशल विकास ही है । डाटा एनालिसिस की मदद से आप किसी भी प्रकार के गैर जरूरी आंकड़ों को जरूरी और महत्वपूर्ण आंकड़ों में बदलते हैं जिससे विभिन्न निर्णय लेने में मदद मिलती है । डाटा एनालिसिस कौशल को विकसित करके आप किसी भी संस्था में बड़े आसानी से जॉब पा सकते हैं ।

इसके अलावा आप अपने इस कौशल की मदद से कोई प्रशिक्षण केंद्र या खुद का कोई व्यवसाय भी चला सकते हैं । कहने का सीधा अर्थ सिर्फ इतना सा है कि Skill Development आपको बहुमुखी फायदे पहुंचाता है । इससे आपके व्यक्तिगत जीवन के साथ ही प्रोफेशनल जीवन भी सकारात्मक रूप से प्रभावित होता है ।

Types of Skills in Hindi

Skills 2 प्रकार के होते हैं, पहला Hard Skills और दूसरा Soft Skills । जब Skill Development की बात आती है तो इन्हीं दोनों के अंतर्गत आने वाले तमाम कौशलों को हम सीखते हैं । चलिए इन दोनों को आसान भाषा में समझते हैं ।

1. Soft Skills

व्यक्तित्व से संबंधित कौशल को soft skills के रूप में जाना जाता है । जैसे:

  • Communication Skills: आप कितने बेहतर ढंग से तालमेल और संवाद कर पाते हैं ।
  • Listening Skills: आप कितने बेहतर श्रोता हैं
  • Problem Solving: समस्याओं का जल्दी और सही समाधान निकालना
  • Leadership: किस प्रकार आप अपनी टीम को लीड कर पाते हैं
  • Time Management: समय का सही प्रबंधन
  • Emotional Intelligence: आपकी अपनी भावनाओं पर कितना काबू है

इसके अलावा भी अन्य कई Soft skills हैं जिन्हें Skill development के लिए आप चुन सकते हैं । ये सभी कौशल आपके व्यक्तित्व को निखारने के लिए होती हैं । न सिर्फ व्यक्तिगत जीवन में बल्कि प्रोफेशनल जीवन में भी इन स्किल्स के होने पर आप सफलता की सीढ़ियां चढ़ते हैं । इस जानकारी से जुड़े आर्टिकल जरूर पढ़ें:

2. Hard Skills

Hard Skills वे कौशल हैं जो प्रदर्शित होने के साथ ही मापी भी जा सकती हैं । हार्ड स्किल अभ्यास, दोहराव और शिक्षा के माध्यम से हासिल की गई और बढ़ी हुई क्षमताएं हैं । अगर आप नौकरी करना चाहते हैं, खुद का कोई व्यवसाय खड़ा करना चाहते हैं या नौकरी में उन्नति पाना चाहते हैं तो हार्ड स्किल्स Skill Development के अंतर्गत जरूर सीखें ।

Hard Skills examples हैं:

  • Data Analysis: किसी भी आंकड़े को अर्थपूर्ण बनाना
  • Marketing: उत्पाद या सेवा के प्रचार प्रसार का कौशल
  • Project Management: किसी परियोजना कार्य को सही ढंग से सही समय पर पूरा करना
  • Computer Literacy: कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की पूरी जानकारी
  • Journalism: खबरों की सही ढंग से प्रस्तुतिकरण
  • Technical Writing: तकनीकी विषयों पर लिखना

Skill Development के अंतर्गत अन्य कई हार्ड स्किल्स भी हैं जिन्हें आपको जरूर सीखना चाहिए । इन्हें सीखकर आप आप अपने professional life को बेहतर बनाते हैं । आज के समय में इन स्किल्स की मांग तेजी से मार्केट में बढ़ रही है और कंपनियां डिग्रियां नहीं बल्कि इन कौशलों की मांग कर रही हैं । इससे संबंधित आर्टिकल जरूर पढ़ें:

Skill Development कैसे करें ?

अगर आप अपने व्यक्तित्व को निखारना चाहते हैं या वर्तमान समय की नौकरियों के लिए काबिल बनना चाहते हैं तो आपको Skill Development पर ध्यान देना होगा । कौशल विकास के लिए नीचे दिए 5 Tips को जरूर फॉलो करें:

1. तय करें कि आप क्या करना चाहते हैं

सबसे पहले आपको यह तय करना चाहिए कि आप किस job role और company में काम करना चाहते हैं । उसके हिसाब से ही आपको कौशल विकास पर ध्यान देना चाहिए । उदाहरण के तौर पर अगर आप एक डिजिटल मार्केटर बनना चाहते हैं तो आपको Digital Marketing Skills डेवलप करने पर ध्यान देना होगा ।

इसके साथ ही आप कुछ सॉफ्ट स्किल्स जैसे effective communication और time management भी सिख सकते हैं । यह व्यक्तिगत तौर पर मेरा मानना है कि आपको एक हार्ड स्किल के साथ उससे जुड़े सॉफ्ट स्किल्स को भी सीखना चाहिए । डिजिटल मार्केटिंग में भी प्रभावी संचार और समय प्रबंधन की जरूरत पड़ती है । इसलिए दोनों आपको एक साथ सीखना चाहिए ।

2. सही mentor/platform से सीखें

अगर आप skill development को लेकर गंभीर हैं और बिल्कुल भी समय नहीं गंवाना चाहते तो आपको सही मेंटर या प्लेटफॉर्म की तलाश करनी चाहिए । सबसे पहले आपको इंटरनेट या मार्केट में रिसर्च करना चाहिए कि आप जो भी स्किल्स सीखना चाहते हैं उसके लिए सबसे बेहतरीन mentor कौन हैं । सही mentor की तलाश करना यानि सही स्थान पर जाकर सीखना ।

दूसरे आप कई ऑनलाइन प्लेटफार्म्स की मदद से भी घर बैठे skills develop कर सकते हैं । कुछ online platforms जो मेरे हिसाब से बेहतरीन हैं:

3. लगातार अभ्यास करें

Skill Development में लगातार अभ्यास करते रहना एक महत्वपूर्ण बिंदु है । आप जो भी सीखें उसका प्रतिदिन अभ्यास करें ताकि आप उन स्किल्स में ज्यादा बेहतर बन सकें । जैसे कि अगर आप एक बेहतर content writer बनना चाहते हैं तो रोज कंटेंट राइटिंग का अभ्यास करें और दूसरों को अपना काम दिखाकर उनसे feedback लें ।

अगर आप अपने soft skills जैसे प्रभावी श्रवण कौशल पर कार्य कर रहे हैं तो आप रोज बेहतर सुनने, समझने और जरूर पड़ने पर सही जवाब देने का अभ्यास करें । आप इसमें अपने शिक्षक, दोस्तों या ऑनलाइन टूल्स की मदद ले सकते हैं ।

4. किताबें पढ़ना

क्या आपको skill development के लिए किताबें पढ़ना फालतू लगता है ? अगर हां तो आप बिल्कुल गलत हैं । किताबों की मदद से आप लगभग सभी स्किल्स बड़े ही आसानी से सिख सकते हैं । ऐसा कोई भी विषय नहीं है जिसपर किताबें न लिखी गईं हो । Time Management और Leadership से लेकर Journalism और Marketing तक, सभी विषयों पर किताबें लिखी गई हैं ।

आप जो भी स्किल सीखना चाहते हैं उससे जुड़ी किताबें खरीद कर पढ़ सकते हैं । कुछ books for skill development हैं:

5. किसी संस्था को ज्वाइन करें

कितना अच्छा हो अगर आप जो सीखना चाहते हैं उसे practically करते हुए सीखें ? इसके लिए आप किसी ऐसी संस्था से internship के जरिए जुड़ सकते हैं जो आपको सही skills सिखाए । जब किसी संस्था से जुड़कर काम करते हैं तो न सिर्फ आपको first hand experience मिलता है बल्कि आप कनेक्शंस भी बना पाते हैं ।

इसके साथ ही आपको आपके कार्यों के लिए feedback भी मिलता है । इसके अलावा आप किसी संस्था से ऑनलाइन भी जुड़ सकते हैं और उनके lectures & conferences को अटेंड कर सकते हैं । ऐसा करके आप अनुभवी लोगों से कौशल विकास सिख सकते हैं और खुद को बेहतर बना सकते हैं ।

Skill Development Courses List in Hindi

Skill Development के कई कोर्सेज हैं जिन्हें आप ऑनलाइन घर बैठे कर सकते हैं । इसके अलावा आप चाहें तो ऑफलाइन भी इन कोर्सेज को कर सकते हैं । उन Skill development courses list है:

ऊपर लिस्ट किए गए सभी कोर्सेज को आप बिल्कुल मुफ्त में इंटरनेट की मदद से सिख सकते हैं । लेकिन अगर आप सर्टिफिकेट भी चाहते हैं तो आपको कुछ रुपए देने पड़ सकते हैं । इसके साथ ही आप स्किल इंडिया रजिस्ट्रेशन भी करके कई स्किल्स सिख सकते हैं जो सीधे तौर पर आपको नौकरी दिला सकता है ।

स्किल इंडिया योजना के तहत केंद्र सरकार भारत के नवयुवकों के skill development में मदद करती है । भारत सरकार द्वारा देश की युवा आबादी को काम देने के लिए Skill India Program चलाया जा रहा है । बात करें अगर स्किल इंडिया कोर्सेज लिस्ट हिंदी की तो इसमें हॉस्पिटैलिटी तथा टूरिज्म, टेक्सटाइल्स, सिक्योरिटी सर्विस, टेलीकॉम, पावर इंडस्ट्री जैसे कोर्स शामिल हैं ।

Conclusion on Skill Development

Skill Development in Hindi के इस आर्टिकल में आपने जाना कि स्किल डेवलपमेंट यानि कौशल विकास क्या होता है । इसके साथ ही कौशल विकास क्यों जरूरी है, इसके प्रकार, कैसे सीखें और इसके अंतर्गत आने वाले कोर्सेज की भी जानकारी मैंने आपको दे दी है ।

अगर आपके मन में अन्य कोई भी प्रश्न है तो नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं । आपको यह आर्टिकल कैसा लगा नीचे कमेंट करके बताएं । आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.