What is internship in Hindi – इंटर्नशिप क्या है और कैसे करें

अगर आप एक छात्र हैं और आपने कभी भी अपना कैरियर बनाने के बारे में दूसरों से बात की है या इंटरनेट पर सर्च किया है तो आपको internship शब्द सुनने को मिला होगा । आपने अवश्य पढ़ा होगा कि full time job करने से पहले इंटर्नशिप करना बहुत ही जरूरी है । परंतु क्यों ? यह इंटर्नशिप क्या होता है ? इसके क्या फायदे हैं और क्या यह नौकरी की गारंटी देता है ?

इन सभी प्रश्नों का उत्तर जानने के लिए आपको what is internship in Hindi का यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना चाहिए । वर्तमान समय में कंपनियां अब किताब ज्ञान रखने वालों के बजाय व्यवहारिक ज्ञान रखने वालों को ज्यादा तवज्जो दे रही है । परंतु, एक कॉलेज या यूनिवर्सिटी जाता हुआ छात्र कार्य अनुभव और व्याहारिक ज्ञान कैसे अर्जित करे ? यह संभव है इंटर्नशिप की मदद से, जिसके बारे में आगे आप विस्तार से जानेंगे ।

What is internship in Hindi

Internship एक प्रकार का training program होता है जिसमें graduate students को उन क्षेत्रों में व्यवहारिक ज्ञान प्रदान किया जाता है जिसमें वे आगे करियर बनाने के इच्छुक हैं । इंटर्नशिप को हिंदी में प्रशिक्षुता कहा जाता है और यह सीमित समय अवधि के लिए होता है ।

यह ट्रेनिंग प्रोग्राम एक छात्र के लिए अतिआवश्यक होता है क्योंकि इसकी मदद से वे जिस भी क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, उस क्षेत्र में कार्य अनुभव हासिल कर पाते हैं । इसलिए उन्हें आगे नौकरी मिलने में आसानी होती है और उनका resume भी बेहतर होता है । ध्यान दें, कि हर कंपनी internship के लिए आपको रुपए नहीं देगी ।

हालांकि, कुछ ऐसी भी कंपनियां हैं जो आपके काम के आधार पर आपको salary देती हैं । परंतु, ऐसा माना जाता है कि जो कंपनियां इंटर्नशिप के बदले में रुपए नहीं देती हैं वे शोषक होती हैं । आपको कोशिश करनी चाहिए कि ऐसी जगह से इंटर्नशिप करें जो आपको रुपए भी दे । अगर आप यह कार्य करते हैं तो आपको intern कहा जायेगा । इस तरह आप internship meaning in Hindi समझ गए होंगे ।

Benefits of internship in Hindi

अगर आप internship करते हैं तो आपको ढेरों फायदे मिलते हैं जिससे कि आपको नौकरी आसानी से मिल जाती है । नीचे मैंने इंटर्नशिप की आवश्यकता को समझाया है :

  • कई कंपनियां नौकरी देने से पहले job experience मांगती है जिसके लिए आप इंटर्नशिप कर सकते हैं ।
  • अगर आप एक बेहतरीन intern साबित हुए तो आपको उसी कंपनी में permanent job भी मिल सकती है ।
  • इंटर्नशिप की मदद से आप आसानी से professional network बना पाते हैं जो reference के तौर पर काम करते हैं और आपको नौकरी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।
  • जब आप intern के तौर पर कार्य करते हैं तब जाकर आपको समझ आता है कि आप क्या करना पसंद करते हैं और आपका passion क्या है ।
  • आपके अंदर management skills का भी विकास होता है क्योंकि आप कंपनी के बड़े team leaders इत्यादि के साथ काम करते हैं ।
  • इंटर्नशिप की मदद से आपको real life problems और adjustments का पता चलता है जिसके लिए आप तैयार हो पाते हैं ।
  • इसकी मदद से आपके अंदर soft skills जैसे communication, punctuality, management इत्यादि का विकास होगा ।

अब आप समझ गए होंगे कि Importance of internship in Hindi क्या है । आप नीचे इसके अलग अलग प्रकार के बारे में पढ़ सकते हैं । इससे आप निर्णय ले सकेंगे कि आपको किस प्रकार के इंटर्नशिप प्रोग्राम का हिस्सा बनना है ।

Types of internship in Hindi

Time period, nature of work, company और अन्य factors की वजह से इंटर्नशिप के अलग अलग प्रकार भी होते हैं । चलिए विस्तार से इन सभी internship के प्रकारों को समझते हैं ।

1. Paid internships

Paid internship मुख्य तौर पर बड़े आर्गेनाइजेशन करवाते हैं जिसमें वे intern द्वारा काम लेने पर उन्हें रुपए भी देते हैं । इस प्रकार के इंटर्नशिप की मांग काफी बढ़ रही है और भारत में भी ज्यादातर कंपनियां अब पेड इंटर्नशिप करवाने की दिशा में आगे बढ़ रही हैं । इसकी मुख्य वजह यह है कि इससे recruitment process काफी आसान हो जाता है ।

कंपनी interns को field job सिखाती है और future roles के तैयार करती है । इसके साथ ही, उन्हें उनके द्वारा किए गए कार्य के लिए रुपए भी देती है । Glassdoor के मुताबिक, एक इंटर्न को भारत में औसत ₹12,169 दिए जाते हैं । यह एक निश्चित राशि नहीं है और कम्पनी के हिसाब से अलग अलग हो सकती है । उदाहरण के तौर पर, Microsoft अपने interns को औसत प्रति माह 43 हजार रूपए तक देती है ।

2. Summer Training

Summer Training या internship एक प्रकार का इंटर्नशिप प्रोग्राम है जो मुख्य रूप से गर्मियों के मौसम में कराया जाता है । यह 8 से 12 हफ्तों का होता है जिसमें एक छात्र को field job कराया जाता है । उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए कि आपने MBA की है और आप summer internships के लिए अप्लाई करते हैं तो आपको सीधे तौर पर market research analysis का काम सिखाया जाएगा ।

अगर आप भविष्य में एक Market Research Analyst बनना चाहते हैं तो आपके लिए यह समर इंटर्नशिप काफी मदद करेगा । आप real world problems और उनके solutiona पर focused हो पाएंगे । इसकी सबसे अच्छी बात यह होती है कि आपको आपके permanent job का एक trailer दिखा दिया जाता है ताकि आप यह निर्णय ले सकें कि आप इस जॉब के लिए fit हैं या नहीं ।

3. Nonprofit Internships

अगर आप NGOs या NPOs में कार्य करने के इच्छुक हैं तो आप Nonprofit Internships कर सकते हैं । Nonprofit Organizations इस प्रकार के इंटर्नशिप करवाती हैं जहां आपको ढेर सारी soft और hard skills सीखने को मिलता है । ध्यान दें, कि यह खुद non profit organisations होते हैं इसलिए आपको इंटर्न के तौर पर रूपए नहीं दिए जायेंगे ।

अगर आप नॉन प्रॉफिट इंटर्नशिप करना चाहते हैं तो आपको काफी कुछ सीखने को मिलेगा । इन संस्थानों के लिए कार्य करना अलग ही सुखद अनुभव होगा । आपको पता होता है कि ये सभी संस्थाएं समाज और देश में बदलाव लाने के लिए कार्य कर रही हैं इसलिए इनसे जुड़ना और सीखना आपको वाकई सुकून देगा ।

4. Internship for credit

यह एक प्रकार का इंटर्नशिप है जिसमें आपको काम के बदले में रुपए नहीं बल्कि credit दिया जाता है । सामान्य तौर पर, यह 1 से लेकर 6 के बीच होता है और आपके कार्य के हिसाब से इसे आपको दिया जाता है । इसमें आपके performance और skills को ध्यान में रखते हुए credits दिए जाते हैं और आपका report भी तैयार किया जाता है ।

यह सिर्फ कंपनियां ही नहीं बल्कि colleges भी मिलकर ऐसा प्रोग्राम करवाती हैं । मुख्य रूप से colleges ही credits देने का काम करती हैं । इस credit और performance report के आधार पर ही फिर आपको permanent job दिया जाता है ।

5. Externship

Externship और Internship में ज्यादा अंतर नहीं होता है इसके सिवाय कि externship बहुत ही कम समय अवधि के होते हैं । यह 1 दिन से लेकर 1 हफ्ते तक भी हो सकता है जिसमें आपको field job के बारे में जानकारी दी जाती है । इनका मुख्य मकसद किसी भी छात्र को यह समझाना होता है कि field job करना कैसा होता है और किस प्रकार के कार्य करने पड़ सकते हैं ।

Externship में एक छात्र को रुपए नहीं दिए जाते हैं । हालांकि, आपको professional network building में काफी आसानी होती है और आप field job की सच्चाई जान पाते हैं । इसे job shadowing program भी कहा जाता है । इस प्रकार के इंटर्नशिप कार्यक्रम में कॉलेज और कंपनियां मिलकर कार्य करती हैं और छात्रों को बेहतर कल के लिए तैयार करती हैं ।

Internship कैसे करें ?

आपने विस्तारपूर्वक जान लिया है कि इंटर्नशिप क्या होता है, इंटर्नशिप की आवश्यकता और इसके विभिन्न कार्यक्रम कौन कौन से हैं । आपने यह निर्णय ले लिया है कि आपको किस प्रकार का इंटर्नशिप करना है । परंतु यह करे कैसे ? आप कैसे एक प्रशिक्षुता कर सकते हैं इसके बारे में जानकारी नीचे दिए गई है । यह जानकारी भारत को ध्यान के रखकर दी गई है ताकि आपकी ज्यादा मदद हो सके ।

1. निर्णय लें कि आप इंटर्नशिप क्यों करना चाहते हैं

इसका सीधा सा जवाब आप यह देंगे कि कम्पनी बिना इंटर्नशिप किए नौकरी ही नहीं देगी । हां, यह भी एक कारण है परंतु अन्य क्या कारण और प्रयोजन हेतु आप इंटर्नशिप करना चाहते हैं ? क्या आप किसी फील्ड में कार्य अनुभव हासिल करना चाहते हैं ? क्या आप passion की तलाश में हैं और आप जिस फील्ड में हैं उसे evaluate करना चाहते हैं ? क्या आप चाहते हैं कि आप ज्यादा से ज्यादा connections बना सकें ?

इन प्रश्नों का ईमानदार उत्तर देकर आप इंटर्नशिप के लिए आगे बढ़ें । इससे आपको आपका goal पता होता है और आप यूंही अंधेरे में तीर मारने से बच जाते हैं । ज्यादातर छात्र जोकि freshers हैं, वे अपने field job को evaluate करने के लिए intern के तौर पर काम करते हैं । वे यह देखना चाहते हैं कि क्या वे सच में इस कार्य को करना चाहते हैं या नहीं । यह वह समय होता है जब छात्र ढेरों opportunities explore करना चाहते हैं इसलिए purpose for internship तलाशना जरूरी है ।

2. Internship programs खोजें

अब जबकि आपने अपना purpose खोज लिया है तो आपको हर साल होने वाले ढेरों internship programs खोजना शुरू कर देना चाहिए । आप कई माध्यमों से अपने लिए बढ़िया इंटर्नशिप प्रोग्राम खोज सकते हैं ।

1. Online Platforms: आप इंटरनेट पर ढेरों इंटर्नशिप के मौकों की तलाश आसानी से कर सकते हैं । मैं recommend करूंगा कि आपको Internshala , Stugmagz और Letsintern की मदद से अपने लिए best internship program in India की तलाश करनी चाहिए ।

2. College Campus: अगर आपके अपने college के professors और seniors से अच्छे संबंध हैं तो वे आपको इंटर्नशिप दिलाने में आपकी मदद कर सकते हैं । इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि उनके references और contacts होते हैं और साथ ही वे experienced भी हैं । सही approach करने पर आपको वे अच्छी advice और recommendations दे सकते हैं ।

3. आप जिस भी कंपनी में intern के तौर पर काम करना चाहते हैं, सीधे उनसे भी संपर्क कर सकते हैं । आप कम्पनी से जुड़े internship news पर नजर रख सकते हैं । उदाहरण के तौर पर, SEBI फिलहाल financial content writer interns hire कर रही है जिसके लिए वह ₹45,000 per month देगी । आप भी अपने कंपनी के नाम के आगे इंटर्नशिप न्यूज इंडिया लगाकर गूगल में सर्च कर सकते हैं ।

4. अपने network में पता लगाएं: आपका अगर एक network है तो आप उनकी मदद से भी इंटर्नशिप कर सकते हैं । हो सकता है कि आपके दोस्त, रिश्तेदार या अन्य जान पहचान वाले लोग अच्छी internship companies के बारे में जानते हों । आप कई Facebook groups की मदद से भी अपने लिए बढ़िया इंटर्नशिप प्रोग्राम ढूंढ सकते हैं ।

3. Resume बनाएं

अगर आप एक बड़ी और अच्छी कम्पनी में intern के तौर पर कार्य करना चाहते हैं तो सबसे पहले resume बनाएं । एक Resume में आपसे जुड़े academic, personal और educational details लिखे होते हैं जिन्हें देखकर ही कंपनियां आपको अपने यहां internship करने देंगी । रिज्यूमे में उन बातों को लिखने और detailing पर ज्यादा फोकस करें जो आपको एक कम्पनी में intern के तौर पर कार्य करने में मदद करें ।

उदाहरण के तौर पर, अगर आप एक proofreading internship करना चाहते हैं तो आपको अपने resume में writing से जुड़े details लिखने पर फोकस करना चाहिए । अगर आपने कभी proofreader के तौर पर freelancing भी की है तो उसे भी mention करें । इस तरह कंपनी relevant skills, experience और educational background को देखकर ही आपको hire करेगी ।

4. Cover letter लिखें

अगला महत्वपूर्ण कदम cover letter लिखना होगा । यह लगभग एक application लिखने जैसा ही होता है जिसमें आप यह बताते हैं कि आपको कैसे कम्पनी द्वारा चलाए जा रहे internship program के लिए best fit हैं । आपको सबसे पहले यह लिखना चाहिए कि आपको कैसे कंपनी के इंटर्नशिप कार्यक्रम के बारे में पता चला । इसके बाद अपने academic और extracurricular achievements के बारे में लिखें ।

एक cover letter लिखना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगा । आप अगर एक कवर लेटर लिखना चाहते हैं तो Canva app की मदद ले सकते हैं जोकि प्ले स्टोर पर उपलब्ध है ।

5. Interview की तैयारी करें

अंत में आपको interview की तैयारी करनी चाहिए । अगर आप सोचते हैं कि एक इंटर्नशिप कार्यक्रम के लिए interview करना बेफिजूल है तो आप गलत हैं । मैंने आपको पहले ही बताया कि कैसे एक इंटर्नशिप आपके future job, performance report और career evaluation पर प्रभाव डालता है । इसलिए इंटरव्यू की छोटी सी तैयारी आपको काफी फायदा पहुंचा सकती है ।

यह कोई बहुत बड़ा इंटरव्यू बिल्कुल नहीं होगा इसकी आप सामान्य तैयारी के साथ इसे दे सकते हैं । कंपनी आपके goals, achievements और educational background के बारे में आपसे सवाल कर सकती है । इसके अलावा, आपसे यह प्रश्न भी पूछा जाट सकता है कि आपने उसी कंपनी को इंटर्नशिप करने के लिए क्यों चुना । इन सभी प्रश्नों को confident होकर उत्तर दें ।

Best internship program in India 2021

मैं नीचे कुछ best internship program in India 2021 की लिस्ट दे रहा हूं ताकि आपको इंटर्नशिप प्रोग्राम ढूढने में ज्यादा समस्या न आए । आप अपने qualifications और interest के हिसाब से नीचे दिए गए इंटर्नशिप कार्यक्रम में से चुन सकते हैं ।

FAQs on internship in Hindi

अब हम बात करेंगे इंटर्नशिप पर FAQs की जो अक्सर करके आप लोगों द्वार पूछा जाता है ।

Conclusion

इस आर्टिकल में मैंने विस्तारपूर्वक आपको Internship से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी दी है । मैंने पूर कोशिश की है कि आपको इंटर्नशिप से जुड़ी हर जरूरी जानकारी दे सकूं । अगर आपके मन में अन्य प्रश्न हैं तो कॉमेंट के माध्यम से पूछें ।

अगर आपको यह आर्टिकल helpful लगा हो तो कृपया इसे दूसरों से शेयर करे ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.