CRM full form in Hindi – सीआरएम का फुल फॉर्म क्या है

क्या आप CRM full form in Hindi जानना चाहते हैं ? इसके साथ ही क्या आप जानना चाहते हैं कियह क्या होता है और इसका क्या उपयोग है ? अगर हां तो इस पोस्ट में मैं आपको इससे जुड़ी हर जानकारी दूंगा । पोस्ट में सिर्फ CRM full form in Hindi ही नहीं , बल्कि यह क्या होता है , क्या काम करता है , किसी भी business के लिए कैसे मददगार है सबके बारे में बात करेंगे ।

आज जब देश दुनिया में नए नए startups सामने आ रहे हैं , businesses ग्रो कर रहे हैं ऐसे में Customer relationship को maintain करना थोड़ा मुश्किल काम हो जाता है । Traditional तरीके से अब ऐसा करना लगभग नामुमकिन हो गया है । इसके लिए आपको softwares , tools इत्यादि का इस्तेमाल करना पड़ता है ।

ऐसे में CRM बड़े काम की चीज है । यह आपके सभी Customer relationship को मैनेज करता है और उनकी सभी बिजनेस से जुड़े Interactions को ट्रैक करता है । आज हम इसके बारे में विस्तार से जानेंगे । तो चलिए शुरुआत से शुरू करते हैं :

CRM full form in Hindi

CRM - Customer relationship management

CRM का फुल फॉर्म Customer Relationship Management है और यह एक software system है जिसकी मदद से आप अपने clients के साथ relationship को मैनेज कर सकते हैं । इस सॉफ्टवेयर की मदद से आप समय प्रबंधन से लेकर अपने ग्राहकों को बेहतर सर्विस दे सकते हैं ।

पहले के समय में व्यवसायों की सबसे बड़ी समस्या अपने ग्राहकों से relationship management करना बहुत ही कठिन था । यह इसलिए क्योंकि उस समय traditional तरीकों से सभी चीजें मैनेज की जाती थी । उस समय technology उतनी बेहतर नहीं थी जिसकी वजह से सभी चीजें paper pen पर होता था । परंतु , CRM जैसे सॉफ्टवेयर्स के आ जाने से अब चीजें आसान हो गई हैं ।

CRM आज से लगभग 30 साल पहले सन 1990 के मध्य से है । यह किसी बिजनेस से जुडे सभी sales और clients के कॉन्टैक्ट को एक जगह पर मैनेज कर सकता है । यह ग्राहकों द्वारा किए गए सभी calls , emails , meetings को एनालाइज करता है और साथ ही बिक्री बढ़ाने से मदद करता है ।

CRM सिस्टम का क्या काम है ?

अब जबकि आपने CRM full form in Hindi जान लिया है तो यह जरूरी है कि आप जानें कि यह कैसे काम करता है । तो चलिए इसके बारे में भी विस्तार से समझते हैं :

यह तो आप समझ ही रहे होंगे कि किसी भी बिजनेस में customer relationship को मेंटेन करके रखना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है । यह किसी भी ऑर्गेनाइजेशन का मूलभूत कार्य है । ऐसे में Customer Relationship Management ( CRM ) का काम आता है । यह सभी प्रक्रिया को बेहद ही आसान बना देता है और अन्य टूल्स जैसे Spreadsheet , inboxes इत्यादि से कई गुना बेहतर है ।

अगर आप एक small business हैं और आपके पास सैंकड़ों कॉन्टैक्ट्स हैं तो आप कब तक इन traditional तरीकों पर निर्भर रहेंगे । इसकी साथ ही , spreadsheet की मदद से customer relationship को मैनेज करना बड़े ही सिर दर्द का काम है । आपको अभी CRM software पर स्विच करना चाहिए ।

1. Spreadsheet

Spreadsheet की मदद से आप सिर्फ इन चीजों को track कर सकते हैं :

  • नाम
  • ईमेल
  • ग्राहक का पता
  • वेबसाइट
  • फोन नंबर
  • जिस दिन खरीददारी हुई
  • खरीददार के प्रकार

2. CRM software

अगर आप स्प्रेडशीट की जगह CRM software का इस्तेमाल करते हैं तो आप इन चीजों को track कर सकते हैं :

  • Customer से जुड़े सभी डिटेल्स
  • कंपनी का साइज
  • Notes history
  • current sales pipeline stage
  • Lead Scores
  • Contact title

तो इस तरह आपने देखा कि CRM की मदद से आप ज्यादा चीजें manageऔर track कर सकते हैं । इसलिए आपको सीआरएम का इस्तेमाल ही करना चाहिए । यह cost effective है और इसे small scale business भी इस्तेमाल कर सकती हैं ।

Benefits of CRM in Hindi

ऊपर मैंने आपको संक्षेप में बताया है कि benefits of CRM क्या हैं परंतु अब चलिए विस्तार से इसके महत्व के बारे में जानते हैं :

1. अपने ग्राहक के बारे में जानकारी

किसी भी Customer Relationship Management Software की सबसे अच्छी बात यह है कि इसकी मदद से आप अपने ग्राहक की जानकारी को store और track कर सकते हैं । आप एक ग्राहक का सिर्फ name , number , address , email , website ही नहीं बल्कि वे कौन सी भाषा बोलते हैं , उनका जन्मदिन कब है इत्यादि भी आप स्टोर कर पाते हैं ।

इसका सबसे बड़ा फायदा communication में होता है । इससे आपको अपने कस्टमर के बारे में जानने का मौका मिलता है और आप यह भी जान पाते हैं कि आपका ग्राहक क्या चाहता है । इससे sales growth में मदद मिलती है । इससे लीड जेनरेशन में भी बहुत मदद मिलती है

Related info – Lead Generation क्या है ?

2. यह मौजूद आंकड़ों को वर्गीकृत करता है

एक बढ़िया CRM software की सबसे अच्छी बात यह है कि यह आपको specific data भी दिखाता है । आप किसी specific customer के लिए अलग से campaign चला सकते हैं और उसे ट्रैक कर सकते हैं । आपके पास अपने customers के ढेरों data मौजूद होता है जिसे वर्गीकृत यानि categorise करना बहुत जरूरी होता है ।

यह मैंने आपको पहले ही बताया कि एक सीआरएम सॉफ्टवेयर की मदद से आप अपने clients की हर जानकारी को स्टोर करके रख पाते हैं । ऐसे में , किसी खास client के लिए स्पेसिफिक कैंपेन चलाना आसान होता है । आप उस इंसान के बारे में अच्छे से जान रहे होते हैं कि उसे क्या चाहिए , क्यों चाहिए और कैसे चाहिए ।

इतनी जानकारी होने के बाद , आप उसे account specific या client specific campaign से ग्राहक बनाने के ढेरों tactics का इस्तेमाल कर सकते हैं । कुल मिलाकर लीड जेनरेशन यही है जिसका लिंक ऊपर आपको दिया गया है , जिसे पढ़कर आप समझ सकते हैं ।

3. बढ़िया Customer Retention

अगला फायदा आपको यह मिलेगा कि आप अपने existing customers से हमेशा जुड़े रहेंगे और उन्हें खुश रख पाएंगे । सीआरएम की मदद से नए customers तक पहुंचना , उन्हें लुभाना और उन्हें अपने उत्पाद / सेवा को खरीदने के लिए प्रेरित करना इत्यादि है । परंतु , अगर आप अपने existing customers पर ध्यान नहीं दे रहे हैं तो आप गलत कर रहे हैं ।

Frederick Reichheld की इस बारे में एक रिपोर्ट है जिसमें कहा गया है कि आप अपने पुराने कस्टमर्स को चीजें ज्यादा आसानी से बेच सकते हैं । अगर आपसे आपका existing customer खुश है तो 60% से 70% संभावना है कि वह दोबारा आपके पास आएगा । वहीं , इसके उलट एक नए कस्टमर को चीजें बेचना थोड़ा मुश्किल है और इसकी संभावना comparitively कम भी है ।

Best CRM softwares in Hindi

आपको इंटरनेट पर ढेरों CRM softwares मिल जायेंगे । परंतु , आपको ध्यान से किसी बेहतरीन सिस्टम को चुनना चाहिए । यह इसलिए क्योंकि यह फैसला सीधे तौर पर आपके बिजनेस से जुड़ा हुआ है । एक सीआरएम खरीदते समय आपको ये चीजें ध्यान रखनी चाहिए :

  • आसानी से इस्तेमाल किया जा सके
  • बढ़िया contact management होना चाहिए
  • आप आसानी से existing और new data में बदलाव कर सकें
  • automation और integration जैसे फीचर्स मौजूद हों
  • बढ़िया reportings दे

इन criterias को ध्यान में रखकर ही आपको customer relationship management सॉफ्टवेयर लेना चाहिए । नीचे दिए गए कुछ बेहतरीन सोफ्टवेयर हैं :

CRM meaning in Hindi : Conclusion

इस पोस्ट में आपने विस्तार से जाना CRM meaning in Hindi को । अगर आपके मन में अन्य कोई प्रश्न शेष है तो उसे कॉमेंट बॉक्स में पूछें । साथ ही पोस्ट के बारे में अपनी राय जरूर लिखें । पोस्ट पसंद आया हो तो दूसरों से भी शेयर करें ताकि वे भी जानकारी का लाभ ले सकें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

2 thoughts on “CRM full form in Hindi – सीआरएम का फुल फॉर्म क्या है”

  1. I have viewed that clever real estate agents all around you are getting set to FSBO Marketing and advertising. They are seeing that it’s more than just placing a sign post in the front property. It’s really regarding building relationships with these retailers who later will become consumers. So, whenever you give your time and effort to aiding these vendors go it alone : the “Law regarding Reciprocity” kicks in. Great blog post.

    Reply

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.