Hindi Blogging – क्या है , कैसे करें , फायदे , नुक़सान , पैसे कमाना , कैरियर

आज मैं आपको Hindi Blogging से जुड़ी हर जरूरी जानकारी दूंगा । अगर आप इसमें नए हैं या कदम रखने की सोच रहे हैं तो आपको मेरा यह पोस्ट अंत तक पढ़ना चाहिए । इसमें मैं अपको बताऊंगा कि Hindi Blogging क्या है , इसे कैसे करें , इसके फायदे और नुक़सान क्या हैं , इससे कैसे पैसे कमाएं और अंत में कि क्या इसमें कैरियर बनाया जा सकता है ?

वर्ष 2013 तक , हिंदी ब्लॉगर्स की संख्या मात्र 50,000 हजार थी । परन्तु , जिओ के मार्केट में कदम रखने और इंटरनेट के सस्ता होते ही हजारों लोग इसमें कूद पड़े । रोज सैकड़ों Hindi Blogs तैयार होते हैं और महीने चार महीने में बंद भी । यूट्यूब और अन्य जगहों से लोगों को पता चलता है कि इसमें अथाह पैसा है , यह सोचकर हजारों लोग हर साल इस फील्ड में आ रहे हैं ।

परन्तु , वे सफल क्यों नहीं हो पाते ? हिंदी ब्लॉगिंग काम कैसे करती है ? इससे पैसे कैसे मिलते हैं और आपको क्या सच में इस फील्ड में आना चाहिए । चलिए जानते हैं –

Hindi Blogging क्या है ?

Hindi Blogging एक प्रकार का जरिया है जिसके माध्यम से हिंदी के पाठकों और नई नई चीजें सीखने – जानने के इच्छुक लोगों को जानकारी दी जाती है । इस माध्यम से ब्लॉगर्स हिंदी भाषा में ढेरों अलग अलग जानकारी भारी पोस्ट्स लिखते हैं , जिन्हें कोई भी सर्च इंजिन के माध्यम से पढ़ सकता है ।

यह English Blogging से सिर्फ भाषा में ही भिन्न है । बाकि लगभग सभी चीजें पूरी तरह से English में ब्लॉगिंग करने वालों की तरह ही है । जिस प्रकार से गूगल या अन्य search engines अंग्रेजी भाषा के कंटेंट को crawl , index और rank करती हैं , ठीक उसी प्रकार ही हिंदी भाषा में लिखे कंटेंट को भी crawl , index और rank किया जाता है ।

परन्तु , जब आप ध्यान देंगे तो पाएंगे कि इंग्लिश भाषा की वेबसाइट्स को गूगल ज्यादा अच्छे तरीके से represent करता है । जैसे कि Accurate Featured Snippets देना , Sitelinks क्रिएट करना , कंटेंट को समझना और रैंक करना । तो वहीं , Hindi Blogging में चीजें अभी सुधर रही हैं , अभी search engines इस भाषा को सीख रही हैं ।

Hindi के कंटेंट को अभी भी बढ़िया तरीके से represent नहीं किया जाता है । दूसरे कि , अगर आप कुछ समय से इस फील्ड में हैं तो आपने गौर किया होगा कि गूगल High Authority वाली sites के फालतू snippets भी रैंक करता है । कई बार आप सर्च कुछ और कर रहे होते हैं , परन्तु आपको उत्तर कुछ और मिलता है । यह अंग्रेजी भाषा में जानकारी देने और लेने वालों की समस्या नहीं है , परन्तु हिंदी ब्लॉगिंग में अभी भी है ।

Hindi Blogging कैसे करें ?

अगर आप यह करना चाहते हैं तो आपको इन चीजों को ध्यान में रखनी है और इन steps को करते जाना है –

1. English Blogs को आधार बनाकर कभी आगे न बढ़े

अगर आप Hindi Blogging में कदम रखना चाहते हैं तो आपको English Blogs की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं देना चाहिए । यह मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि वह हिंदी ब्लॉग्स से काफी अलग होते हैं । उनके रैंक करने और रिप्रेजेंट करने के तरीके भी अलग हैं । उदाहरण के तौर पर , आप अगर English Blogging पर गौर करें तो Multi Niche साइट्स जल्दी grow नहीं करती हैं ।

परन्तु , हिंदी ब्लॉगिंग में Multi Niches वाले ब्लॉग्स ही Top पर हैं । चाहे आप Hindime को देखें या HindiSahayata की । इनके अलावा भी ढेरों multi niche sites हैं , जो महीने के लाखों traffic ले रही हैं । आप अगर इन sites के post या categories पर गौर करें तो इनमें आपको Full Forms , Blogging , Technology , Entertainment , Beauty , छोटे बच्चों के Education Content , Trending News के साथ ही कई बार 18+ keyword वाले कंटेंट भी दिख जाएंगे ।

गूगल इनपर शायद अभी ध्यान नहीं दे रहा है या देना नहीं चाहता , वह वहीं जानें । यह इसलिए भी है क्योंकि आपको जितने भी Quality Content से भरपूर sites दिखेंगी , वे English में ही दिखेंगी । खासकर कि Researches या कोई बेहतरीन service सिर्फ आपको English Blogging में मिलेगी । हिंदी भाषी लोग , हिंदी में सिर्फ फिल्में और छिटपुट जानकारी की चीजें ही सर्च करते हैं , ज्यादातर researches या important topics के लिए वे इंग्लिश कंटेंट की तरफ ही मुड़ जाते हैं । इसलिए यह ध्यान में रखें ।

2. सिर्फ Blogging और Technology Niche की तरफ ही न भागें

Hindi Bloggers की यह सबसे बड़ी समस्या है कि उन्हें Blogging और Technology Niche के अलावा अन्य Niches समझ ही नहीं आते । हर 5 में से 4 ब्लॉगर्स टेक्नोलॉजी और ब्लॉगिंग के बारे में समझाने में लगा हुआ है । आपको सबसे पहले research करना चाहिए कि आपके लिए कौनसा Niche सबसे ज्यादा बढ़िया रहेगा । ढेरों ऐसे Niche हैं , जिनपर Hindi Blogging की जा सकती है –

  • Entertainment
  • Short Poems and stories
  • News ( Regional Or National )
  • Class 1 to 12th Educational Contents
  • Jokes & Shayri ( With Images )
  • Songs Lyrics
  • Books
  • Digital Marketing
  • Events

इत्यादि ऐसे Niche हैं , जिनपर Competition तो कम है , परन्तु traffic काफी ज्यादा । इसलिए ढर्रे से हटकर ब्लॉगिंग करें और results देखें ।

3. WordPress से ब्लॉगिंग करने की कोशिश करें

अपको कोशिश करनी चाहिए कि आप WordPress पर ही अपना ब्लॉग बनाएं । यह थोड़ा महंगा जरूर है , परन्तु आप अगर इस फील्ड में serious हैं , तो आपको investment करनी ही होगी । हालांकि , आप Blogger की मदद से भी एक Domain Name खरीद कर ब्लॉग सेटअप कर सकते हैं । परन्तु , अक्सर यह देखा गया है कि WordPress जैसे CMS पर बनाए गए ब्लॉग्स search results में ज्यादा दिखाई देते हैं ।

आप Custom Domain खरीद कर Blogger से भी शुरू कर सकते हैं । फर्क यह है कि आपको blogger.com में कम ही customisation का ऑप्शन मिलता है । इसके अलावा आप WordPress जितना अपने ब्लॉग को सही ढंग से represent नहीं कर सकते । एक बात याद रखें कि अगर आप किसी चीज में invest नहीं करेंगे , risk नहीं लेंगे तो आपको फल भी उसी हिसाब से मिलेगा ।

4. Hindi Blogging में Quality Content पर ध्यान दें

यह सबसे जरूरी कदम है । अगर आप Quality Content प्रोड्यूस करते हैं , तो निश्चित रूप से आपको कुछ समय के बाद results दिखने शुरू हो जाएंगे । इसलिए हमेशा Quality Content लिखने की कोशिश करें । Hindi Blogging में Quality Content लिखने के लिए आपको –

  • Original Content लिखना चाहिए , किसी अन्य का copy करके नहीं
  • कोशिश करें कि अपने कंटेंट के लिए Podcast बनाएं , आप anchor.fm से फ्री में यह कर सकते हैं
  • अगर आपका YouTube Channel है तो कंटेंट से जुड़े videos को embed करें
  • In depth content लिखने की कोशिश करें , 1200 – 1500 words से ज्यादा
  • हमेशा शुद्ध हिंदी में लिखें और कुछ जरुरी जगहों पर english का प्रयोग करें , Hinglish में बिल्कुल न लिखें
  • High Quality External Links दें , कंटेंट से रिलेटेड internal linking करें
  • Headings और Subheadings को सही से लिखें , Paragraphs ज्यादा बड़ा न होने दें
  • Images का उचित मात्रा में उपयोग करें , अगर आप infographics बना सकें तो ज्यादा बेहतर

तो ऊपर बताए इन तरीकों से आप आसानी से Quality Content लिख सकते हैं । इसके साथ ही आप जिस keyword के लिए रैंक करना चाहते हैं , उस कीवर्ड पर पहले से रैंक कर रही वेबसाइट को सही से analyse अवश्य करें । चेक करें कि वह वेबसाइट ऐसा क्या कर रही है कि उसकी ranking ज्यादा बेहतर है ।

5. सही तरीके से Keyword Research करें

अगर आप Hindi में Blogging करना चाहते हैं तो आपको Keyword research की तरफ सही से ध्यान देने की जरूरत है । हिंदी में keyword research करते समय आप SEMRush , Ubersuggest और Keywordtool.io टूल्स का मुख्य रूप से इस्तेमाल करें । इसके अलावा आपको अपने keyword के varuations को भी ध्यान में रखना है , जैसे अगर आप Digital Marketing कीवर्ड को टारगेट करना चाहते हैं , तो –

  • Digital Marketing kya hai
  • Digital Marketing simple explaination in Hindi
  • डिजिटल मार्केटिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाएं

इन तीनों Variations पर आपको keyword research करनी चाहिए , जो कीवर्ड कम competition और high search volume का होगा , उसे आप चुन सकते हैं । इसके अलावा आप hindi में keyword research करने और टॉपिक को विस्तार से जानने के लिए यह Post पढ़ सकते हैं ।

6. Black Hat SEO से बचें

जल्दी सफल होने की चाह में अगर आप Black Hat SEO का सहारा लेने की सोच रहे हैं या ले रहे हैं तो आप गलत दिशा में हैं । यह आपके long term blogging career के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है । अगर आपको लगता है कि Link Buying , Duplicate Content , Keyword Stuffing जैसे Black Hat SEO करके आप इस फील्ड में सफलता पा लेंगे तो आप गलत हैं ।

अपको अपने कंटेंट पर सबसे ज्यादा ध्यान देना है और रोज आपको ब्लॉगिंग के बारे में सीखते रहना है । Hindi Blogging आसान है अगर आप इसे सही niche और strategy के साथ शुरू करते हैं तो । इसलिए , आपको अपने strategy पर ध्यान देकर चलना है । हालांकि , आपको Link Building भी करनी है । इसके लिए आपको कभी कभार Comments , Guest Post इत्यादि का सहारा ले सकते हैं ।

7. Search Engine Optimization पर ध्यान दें

अगर आपको ब्लॉगिंग के फील्ड में आगे जाना है तो आपको Search Engine Optimization पर ध्यान देना होगा । यह इस फील्ड में survive करने का सबसे अहम point है । इसे आप इस Post के माध्यम से समझ सकते हैं । अगर आपने इसे सही तरीके से समझ लिया तो फिर आगे की रहा आपकी आसान हो जाएगी । इसमें भी आपको दो चीजें मिलेंगी । पहली On Page SEO और दूसरी Off Page SEO । इसमें आपको Keyword Research , Post लिखने के तरीके , Ranking करने के लिए टिप्स इत्यादि के बारे में विस्तार से पता चलेगा ।

7. Hindi Blogging में consistency बनाए रखें

अगर आप Hindi Blogging में आगे जाना चाहते हैं तो आपको Consistency बनाए रखना चाहिए । मैं Recommend करूंगा कि अगर आप रोज का 1 पोस्ट भी डाल सकें , तो अवश्य डालें । हालांकि , अपको एक routine फॉलो करना चाहिए । अगर आप सिर्फ Monday , Wednesday , Friday को पोस्ट डालते हैं तो हमेशा इसी दिन पर ही डालें ।

अगर आप हफ़्ते में किन्हीं 4 या 5 दिन पोस्ट करते हैं तो हमेशा उन दिनों पर post अवश्य करें । इससे आपके readers और search engine को अच्छा signal जाएगा । इसके अलावा , क्या आपको पता है कि अगर आपके कुल 1,000 keywords रैंक कर रहे हैं तो उनमें से मात्रा 30 से 40 keywords ही Top 10 तक की लिस्ट में जगह बना पाएंगे । मेंबर यह कम और ज्यादा भी हो सकता है । परन्तु , इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर आप कम posts करते हैं या consistent नहीं हैं तो आपको फायदा नहीं मिलेगा ।

आपकी ट्रैफिक मात्र कुछ posts और keywords ही लाते हैं , तो कोशिश करें कि इनकी संख्या ज्यादा हो । इसलिए Consistency बनाए रखें ।

8. धैर्य रखें

चाहें आप Hindi Blogging करें या English , आपको धैर्य अवश्य रखना चाहिए और अपना काम करते रहना चाहिए । यह बात याद रखें कि लगभग 6 महीने तक आपको ना के बराबर ही traffic मिलेगी , exceptions को छोड़ दें तो । इसलिए इन 6 महीनों में आपको Quality Content प्रोड्यूस करते जाना है । आपको ज्यादा से ज्यादा Content को प्रोड्यूस करना है , जो मेरे द्वारा बताए Quality Tips को सही से follow करते हों ।

रोज अगर 1000 Hindi Bloggers इस फील्ड में आ रहे हैं तो 990 इसे छोड़ कर भी जा रहे हैं । आपको सबसे पहले 2 साल तक का Domain Name और Hosting लेनी चाहिए , ताकि आप इत्मीनान से Quality Post कर सकें । Hindi Blogging के लिए आपको कम से कम 2 साल तक का Domain और Hosting लेनी ही चाहिए , आप HostGator से इसे सस्ते में ले सकते हैं । आपको 1 साल के अंदर ही results दिखने शुरू हो जाएंगे , इसके बाद आपको पीछे मुड़ कर देखने की जरूरत नहीं पड़ेगी ।

Hindi Blogging के फायदे

यह प्रश्न कई लोग पूछते हैं कि इसके फायदे क्या क्या है , तो चलिए बताते हैं –

  • अगर आपको अच्छी खासी Traffic और Ad Clicks आने शुरू हुए तो आप आसानी से महीने के हजारों कमा सकते हैं ।
  • Competition कम है और Scope ज्यादा ।
  • आप अपनी मर्जी के मालिक हैं , अपने हिसाब से posts कर सकते हैं । इसमें नुक़सान और फायदा होनी ही आपका है ।
  • आप अगर इस फील्ड में आगे बढ़ जाते हैं तो आप आसानी से कोई Online Business भी शुरू कर सकते हैं ।
  • आपका और आपके ब्लॉग के बारे में लोग ज्यादा से ज्यादा जानेंगे , आप Public Figure बन कर उभरेंगे । उदहारण के तौर पर Harsh Agrawal और Prabhanjan Sahu ( Hindime )
  • इसमें आपको Affiliate Marketing की बड़ी opportunity मिलेगी , जिससे आपकी कमाई दो गुनी हो जाएगी । हालांकि , Hindi Blogging में यह अभी उतना successful नहीं है ।
  • आपको Google , Internet , Search Engine के साथ ही हजारों लाखों Tech से जुड़ी बातें जानने और समझने का मौका मिलेगा ।
  • आपका Patience यानि कि धैर्य रखने की क्षमता का विकास होगा ।

Hindi Blogging के नुक़सान

Hindi Blogging में जहां ढेरों फायदे भी हैं , तो कई नुक़सान भी हैं –

  • आपको काफी धैर्य रखना होगा । अगर आपकी strategy सही है तब भी ही सकता है कि आपको 1 साल का इंतजार करना पड़ जाए , earning शुरू करने के लिए ।
  • आपको Keyword Research में समस्या आएगी । अभी भी SEO Tools और Keyword Research tools हिंदी से जुड़े keywords को सही ढंग से और accurate नहीं डिस्प्ले करते हैं ।
  • आप अगर आगे बढ़ेंगे तो आपको गिराने की पूरी कोशिश होगी । इसमें आपके snippets को bad reviews देने से लेकर spam link builiding शामिल है । आपके sites के लिए अगर दूसरा कोई ढेरों spammy links बिल्ड करदे तो आपके ब्लॉग को नुक़सान पहुंचेगा ।
  • Hacking की पूरी कोशिश होती है । इसलिए जितने भी security plugins हों , उन्हें इस्तेमाल करें । DDos Protection , Firewall , Cloudfare Security , SSL इत्यादि का इस्तेमाल होगा ।
  • CPC बहुत ही कम मिलता है । अगर आपको AdSense मिल भी जाए तो भी CPC बहुत ही कम आता है ।
  • Traffic पाने के लिए आपको जूझना होगा । इसके लिए आप Long Term Keywords का इस्तेमाल कर सकते हैं । इसके अलावा आपको ढेरों Posts लिखने होंगे और ज्यादातर 1st position पर आना होगा ।

तो यह रही कुछ ऐसी समस्याएं जो Hindi Blogging में आती हैं । आप अगर कुछ समय से इस फील्ड में हैं तो आपको यह अवश्य पता होगा । जो अभी नए हैं या आने की सोच रहे हैं , उन्हें कुछ ही दिनों में पता चल जाएगा ।

हिंदी ब्लॉगिंग से पैसे कमाना

अगर आप Hindi में blogging करके पैसे कमाना चाहते हैं तो आपके पास मुख्य रूप से से तरीके हैं –

  • AdSense
  • Affiliate Marketing

इसमें भी आपको सबसे ज्यादा और मुख्य कमाई AdSense ही होगी । आप जब AdSense के लिए Eligibility Criteria को पास कर लेंगे तो आपको AdSense से दिया जाएगा । इसके बाद आपने मन मुताबिक Ad Placement करके पैसे कमा सकते हैं । मैं व्यक्तिगत तौर पर आपको बताना चाहता हूं कि AdSense approval पाना कोई भी कठिन काम नहीं है । सबसे कठिन काम है Traffic लाना और उस traffic से High CPC रेट का होना ।

हिंदी ब्लॉग पर AdSense Approval कैसे लें ?

Hindi Blogging की बात करें तो इसमें आपको AdSense Approval ब्लॉगिंग शुरू करने के 1 से 2 महीने के बीच में ही मिल जाएगा । इसके लिए आपको –

  • High Quality Posts लिखना है । इन्हें कैसे लिखना है , मैंने आपको ऊपर समझा ही दिया है ।
  • Word Limit को बढ़ाएं । यानि कि आपके शुरुआती पोस्ट्स अगर 1200 से 1500 words के होंगे तो आपको फायदा मिलेगा ।
  • Black Hat SEO का पार्ट बिल्कुल न बनें ।
  • Original Content लिखें , कहीं से कुछ भी copy न करें ।
  • अपने Posts को सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर ज्यादा से ज्यादा share करें ।
  • Search Console में आपकी site से जुड़े सभी errors या problems को fix करें

अगर आप ऊपर दी गई सभी चीजें सही ढंग से करते हैं तो आपको AdSense approval लेने में बिल्कुल भी समस्या नहीं होगी । एक बात जो ज्यादातर लोग नहीं बताते हैं , वह यह कि अगर आप Google Analytics का इस्तेमाल करते हैं और ऊपर बताए गए सभी points को ध्यान में रखकर ब्लॉगिंग करते हैं तो आपको AdSense का approval लेने के लिए खुद notification आएगा ।

जी हां , आपको Google Analytics में एक नोटिफिकेशन आएगा जिसमें लिखा होगा कि ‘ you’re now eligible for remarketing of your content ‘ . इसका मतलब कि आप अपने कंटेंट के remarketing कर सकते हैं । इसके बाद आपको AdSense के लिए Apply करना चाहिए । approval अवश्य मिलेगा ।

Hindi Blogging में कैरियर

अगर आप Hindi Blogging में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आप आसानी से बना सकते हैं । परन्तु , मेरी एक सलाह है कि Backup Plan हमेशा तैयार रखें । Backup Plan का अर्थ है कि आपको सिर्फ और सिर्फ ब्लॉगिंग में ही नहीं पूरा ध्यान लगा देना है । इसके अलावा आप पढ़ाई भी करें । आप चाहें तो Youtubing भी शुरू कर सकते हैं । परन्तु , पढ़ाई को न छोड़ें ।

ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूं कि इसमें आपको बहुत ही ज्यादा धैर्य रखना होता है और 98% ब्लॉगर्स फेल भी हो जाते हैं । Success की गारंटी बिल्कुल भी नहीं है , इसलिए अन्य चीज़ों पर भी ध्यान देते रहें । जब भी आप कोई भी Online Earning से जुड़ी चीजें करना शुरू करें तो उसमें अपने आप को पूरा झोंक न दें । इसे Passion की तरह लें ।

अगर आप Hindi Blogging के Top Sites पर गौर करें तो आप पाएंगे कि सभी ने इसी से अपना कैरियर बना लिया है , सेटल हो गए हैं । ज्यादातर लोग खुद का YouTube चैनल बना कर वहां भी कमाई कर रहे हैं । उन्होंने भी कहीं न कहीं से शुरुआत की थी , परन्तु आज सभी सफल हैं । एक बात हमेशा ध्यान में रखें कि आपको Hindi Blogging इसलिए नहीं करनी है कि आप पैसा कमाना चाहते हैं , इसलिए करनी है ताकि आप लोगों की मदद कर सकें । उन्हें अच्छा कंटेंट दे सकें । जिस किसी ने भी पैसे को Prime Motive मानकर ब्लॉगिंग शुरू की , उसने आधे रास्ते में ही छोड़ दी ।

अगर आप इसको लेकर Passionate हैं , तभी करें । इस फील्ड की सबसे अहही बात यह है कि या तो आप सफल होते हैं तो आप सीखते हैं या तो दोनों । हारना है ही नहीं ।

Conclusion

तो दोस्तों , इस पोस्ट में मैंने आपसे खुल कर Hindi Blogging के बारे में बात की , अपको समझाया । इसमें आपको मैंने इससे जुड़ी हर पहलू पर चर्चा की ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.