पढ़ाई कैसे करें जो जीवन भर याद रहे – 10+ असरदार पढ़ाई के तरीके

आज के समय में हर एक छात्र का सबसे मुख्य प्रश्न यही है कि आखिर पढ़ाई कैसे करें ? कुछ छात्रों का तो यह भी प्रश्न होता है कि हम पढ़ाई तो करते हैं लेकिन कुछ याद नहीं रहता है । ऐसे में पढ़ाई कैसे करें कि जीवन भर याद रहे ? इस आर्टिकल में आपके इन्हीं प्रश्नों का जवाब दिया जायेगा और आपको वाकई कुछ ऐसी जरूरी बातें बताई जायेंगी जिन्हें आप अमल में ला सकेंगे ।

अक्सर इंटरनेट पर या वास्तविक जीवन में लोग पढ़ाई करने के सही तरीकों में टाइम टेबल बनाना, मोटिवेशनल वीडियो देखना, दोस्तों से दूरी बनाने जैसे सलाह देते हैं । हमारी व्यक्तिगत राय यह है कि ये सभी करके भी आप पढ़ाई करने और पढ़ा हुआ याद रखने में सक्षम नहीं हो सकते । ज्यादातर लोग टाइम टेबल नहीं फॉलो करते, दोस्तों से दूरी बनाना मुश्किल है और मोटिवेशनल वीडियो सिर्फ छलावा मात्र है ।

ऐसे में अगर आप वाकई पढ़ाई कैसे करें के प्रश्न का उत्तर जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए । हमने कुछ ऐसे तरीके बताए हैं जो वाकई कारगर भी हैं और आपको इन्हें अपनाने में ज्यादा कठिनाई भी नहीं होगी । इसके अलावा पढ़ाई करने से पहले/बाद में क्या करें, पढ़ते समय किस दिशा की ओर चेहरा करके पढ़ें आदि प्रश्नों का जवाब भी आपको दिया जायेगा ।

1. पढ़ाई के लिए मोटिवेशनल वीडियो देखना बंद करें

सबसे पहले तो आपको पढ़ाई करने के लिए मोटिवेशनल वीडियो देखना बंद कर देना चाहिए । क्योंकि इससे यह पता चलता है कि पढ़ाई करने की इच्छा आपकी खुद की है नहीं, आप चाहते हैं कि कोई शब्दों के तीर से मार मारकर पढ़ने के लिए प्रोत्साहित कर दे । लेकिन 10 मिनट के मोटिवेशनल वीडियो का जादू कितनी देर रहता है, 5 मिनट शायद ।

बाह्य मोटिवेशन से कहीं ज्यादा जरूरी है आंतरिक मोटिवेशन, आप जब तक अंदर से खुद कुछ करने के लिए तैयार नहीं होंगे तब तक कुछ नहीं हो सकता । यही बात बार बार संदीप माहेश्वरी भी अपने वीडियो में कहते हैं । तो ऐसे में सिर्फ और सिर्फ एक बात अपने मन में बांध कर रख लीजिए या इसे प्रिंट आउट करके स्टडी टेबल के सामने छपवा दीजिए:

आप जो दिल से हासिल करना चाहते हैं या जिस लक्ष्य की प्राप्ति करना चाहते हैं, उस लक्ष्य के फिलहाल आप नजदीक भी नहीं हैं…यही सबसे बड़ा मोटिवेशन है ।

Unknown

2. पढ़ाई करने का एक निश्चित जगह तय करें

अगर आप बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करेंगे तो कुछ समय बाद नींद आएगा ही । यह आप सभी के साथ अवश्य ही होता होगा कि बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करते करते लेट जाते हैं, इसके कुछ देर बाद सो भी जाते हैं । ऐसे में आपको घर के किसी कोने में पढ़ने के लिए एक टेबल और कुर्सी की व्यवस्था कर लेनी चाहिए । जब आप कुर्सी पर बैठकर अच्छे से पढ़ाई करेंगे तो इससे आपकी कमर भी सीधी रहेगी और सिलेबस भी पूरा होगा ।

अगर आप वाकई पढ़ाई कैसे करें के इस आर्टिकल से फायदा प्राप्त करना चाहते हैं तो तुरंत ही पढ़ाई करने का एक निश्चित स्थान तय करें । इस स्थान पर टेबल और कुर्सी की व्यवस्था करें और तय करें कि आपको सिर्फ इसी स्थान पर बैठकर ही पढ़ाई करनी है ।

3. परिणाम की चिंता न करें

शुरुआत के कुछ बिंदु आपको सिर्फ पढ़ाई के लिए तैयार करने के लिए दिए जा रहे हैं । इसके बाद आपको बताया जायेगा कि एक बार जब आप पढ़ने के लिए बैठ गए तो फिर क्या करना चाहिए । टेबल कुर्सी लगाने और मोटिवेशनल वीडियो देखना बंद करने के बाद अब आपको परिणाम की चिंता करना भी छोड़ देना चाहिए । यह तो कहीं न कहीं आपको भी पता है कि परीक्षा में जितना लिखेंगे, उतने अंक ही आयेंगे ।

यानि जितना आप कर्म करेंगे, उतना ही आपको फल मिलेगा । इसलिए फल की चिंता किए बगैर आपका पूरा ध्यान कर्म पर होना चाहिए । ज्यादातर छात्र सिर्फ इसी चिंता में डूबे रहते हैं कि अगर वे फेल हो गए तो, और इसी चिंता में परीक्षा की आखिरी तिथि भी आ जाती है और वे फेल भी हो जाते हैं ।

इससे अच्छा आप अपना 100% देने की कोशिश करें, सभी विषयों की अच्छे से तैयारी करें, बार बार रिवीजन करें । आपकी तैयारी पूरी होनी चाहिए, आपका सिलेबस कंप्लीट होना चाहिए, कम से कम 3 बार रिवीजन होना चाहिए और फिर आप देखेंगे कि आपके अंदर आत्मविश्वास आ गया है और आप टॉप करने के बारे में सोच रहे हैं ।

4. पढ़ाई करने से पहले distractions को दूर करें

पढ़ाई करते समय नहीं बल्कि पढ़ाई शुरू करने से पहले ही आपको distractions से निपट लेना चाहिए । पढ़ाई के बीच में प्यास लग सकती है इसलिए टेबल पर पहले ही पानी रख लें, किसी टूल की आवश्यकता हो सकती है तो उसे भी तुरंत मंगा लें । पढ़ाई करते समय मोबाइल, टीवी जैसे अन्य डिजिटल डिवाइस को खुद से दूर रखें और साइलेंट रखें ।

पढ़ाई की शुरुआत करने से पहले ही आपको अच्छे से सोचकर सभी संभावित ध्यान भंग करने वाली चीजों को खुद से दूर कर लेनी चाहिए या उनका समाधान कर लेना चाहिए । वर्तमान समय में सबसे ज्यादा ढंग भंग करते हैं डिजिटल डिवाइस जैसे स्मार्टफोन आदि । इन्हें आप खुद से जितना दूर रखें, उतना बेहतर होगा । अगर पढ़ाई आप मोबाइल से कर रहे हैं तो DND ऑन रखें ताकि कोई अन्य कॉल, मैसेज या नोटिफिकेशन परेशान करे ।

5. कठिन विषय पहले, आसान विषय बाद में

अब बारी आती है बैठकर पढ़ाई करने की और कुछ बेहद ही जरूरी बातों को ध्यान में रखने की । आपको सबसे पहले उन विषयों को पढ़ना चाहिए जो आपको कठिन लगते हैं । इसका यह अर्थ बिल्कुल नहीं कि आसान लगने वाले विषयों पर ध्यान नहीं देना है, क्योंकि कई बार यही विषय धोखा दे जाते हैं । बस आपको जो विषय कठिन लगते हैं उनपर आसान लगने वाले विषयों की अपेक्षा अधिक ध्यान देना है ।

उदाहरण के तौर पर अगर आपको इतिहास कठिन और फिजिक्स आसान लगती है तो आप 40 मिनट इतिहास की पढ़ाई करें और बाकी 20 मिनट फिजिक्स की । इससे आप हर विषय को एक साथ कवर करते हुए आगे बढ़ते जाएंगे और कठिन विषयों में भी काफी अच्छा अंक प्राप्त कर पायेंगे । आपको जितने भी विषयों की पढ़ाई करनी है, सबसे पहले उन्हें दो हिस्सों में बांट दें । पहले कठिन विषय और दूसरे आसान विषय ।

इसके बाद आप जितने घंटे पढ़ाई करने वाले हैं, उतने घंटे को 60:40 के अनुपात में बांट दें । यानि 60% समय आपको कठिन विषयों पर लगाना है और 40% समय आसान विषयों पर । इस तरह आप पाएंगे कि आप सभी विषयों पर आवश्यकतानुसार ध्यान दे पा रहे हैं ।

6. रिवीजन सबसे अहम है

पढ़ाई कैसे करें से भी ज्यादा अहम प्रश्न है कि पढ़ाई कैसे करें जो जीवन भर याद रहे । इसके लिए आपको बार बार रिवीजन करना चाहिए । आप जितना ज्यादा रिवीजन करेंगे, उतने ही बेहतर ढंग से उसे याद कर पाएंगे । एक ही जानकारी को बार बार पढ़ने की वजह से वह हमारे मस्तिष्क में छप जाती है और इसलिए परीक्षा के समय खासकर कि छात्रों को बार बार सिलेबस रिवाइज करवाया जाता है ।

आप चाहें तो खुद भी यह एक्सपेरिमेंट करके देख सकते हैं । सबसे पहले भारत को जानो क्विज पर जाइए जहां भारत से संबंधित एक प्रश्नोत्तरी है । पहली बार जब आप इस क्विज को पूरा करेंगे तो अवश्य ही आपको कम अंक मिलेगा लेकिन दूसरे और तीसरे बार में हो सकता है कि आपको पूरे में से पूरे अंक मिल जाएं । यानि बार बार जब आप एक ही जानकारी को पढ़ेंगे तो आपके मन मस्तिष्क में वह जानकारी छप जायेगी ।

इसलिए अगर आप किसी भी जानकारी या पढ़ाई किए हुए पाठों को याद रखना चाहते हैं तो जितनी बार संभव हो, उतनी बार रिवीजन करें । यह परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त करने की एक गारंटी है ।

7. खुद के नोट्स बनाना भी अहम

पढ़ाई करते समय आपको एक नोटबुक अपने साथ हमेशा रखनी चाहिए । इस नोटबुक में आप जो भी सीखते समझते जाएं, उसे नोट करते चलें । खुद के द्वारा बनाए गए नोट्स ज्यादा अहम होते हैं और यह पढ़ाई करते हुए ही रिवीजन करने का भी एक बढ़िया तरीका है । दूसरों के नोट्स से पढ़ने या शिक्षक के द्वारा बनाए गए नोट्स से पढ़ने के बजाय आपको एक बार खुद के नोट्स बनाने चाहिए ।

अच्छे नोट्स बनाने के लिए उसे Short और to the point रखें । अगर आप भी लंबे नोट्स बनायेंगे तो फिर आपके शिक्षक और आप में क्या अंतर रह जायेगा । इसके साथ ही नोट्स हमेशा क्रमवार ढंग से बनाई जानी चाहिए । यानि आपको किसी विषय के अध्याय के क्रम अनुसार ही नोट्स बनाना चाहिए ताकि उसे याद करने और दोहराने में आसानी हो ।

8. पढ़ाई करने की प्रक्रिया को रोचक बनाएं

अगर आप घर बैठकर पढ़ाई कर रहे हैं तो स्कूल की बोरिंग पढ़ाई से हटके आपको कुछ कदम उठाने चाहिए । इसके लिए आप कुछ धीमी बैकग्राउंड गाने बजा सकते हैं, अलग अलग रंगों के कलम और पन्ने खरीद सकते हैं, आदि । इससे आप ज्यादा रोचक ढंग से पढ़ाई कर सकते हैं जोकि आपको हमेशा याद भी रहेगा ।

नोट्स बनाते समय अलग अलग रंगों के कलम इस्तेमाल करना, रिवीजन करते समय धीमी म्यूजिक सुनना आपके पढ़ने की प्रक्रिया को अवश्य ही रोचक बनाएगा ।

9. टाइम टेबल बिल्कुल न बनाएं

यह हमारा व्यक्तिगत राय है कि आपको टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई नहीं करनी चाहिए । ज्यादातर छात्र टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई नहीं कर पाते हैं और फिर पश्चाताप करते हैं । आपको पढ़ाई करने का एक पैटर्न जरूर अपनाना है लेकिन बिना टाइम टेबल बनाए । जब आप अपने पढ़ने के समय को घड़ी की सुइयों के साथ बांध देते हैं, तभी समस्या आनी शुरू हो जाती है ।

इसके बजाय आपको बस यह तय करना चाहिए कि आज मैं दो घंटे गणित विषय पढूंगा, फिर 1 घंटे हिंदी विषय पढूंगा आदि । यानि आप दिन का कोई एक खास समय निर्धारित नहीं कर रहे हैं जिसमें आपको किसी खास विषय की पढ़ाई करनी है । बल्कि आप यह निश्चित कर रहे हैं कि एक दिन में आप किसी भी वक्त अपने किसी खास विषय की पढ़ाई एक निश्चित अवधि तक करेंगे ।

टाइम टेबल बनाने से छात्र बंध जाते हैं और उन्हें आज के समय में फॉलो करना काफी मुश्किल है । दूसरों के लिए वाकई यह कहना आसान है कि टाइम टेबल बनाओ फिर पढ़ाई करो लेकिन उन्हें कहां पता मिडिल क्लास की परेशानियां । लेकिन आपको इस बात पर अडिग अवश्य रहना है कि आज के दिन में इस खास विषय को इतने घंटे पढूंगा जरूर । इस तरह आप बिना टाइम टेबल के भी अच्छे से पढ़ाई कर सकते हैं ।

10. प्रतिदिन योग और ध्यान करें

अगर आप पढ़ा हुआ देर तक याद रखना चाहते हैं, खुद को तनाव से मुक्ति दिलाना चाहते हैं और पढ़ाई के साथ साथ अपने शारीरिक स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना चाहते हैं तो प्रतिदिन योग और ध्यान जरूर करें । प्रतिदिन योग करने और ध्यान लगाने से आप एकाग्रचित होकर पढ़ाई कर पाएंगे ।

इसके अलावा स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ ढंग का निवास होता है, ऐसे में शरीर को आप स्वस्थ रखेंगे तो आपका दिमाग भी ज्यादा बेहतर ढंग से सभी जानकारियों को ग्रहण कर सकेगा । अनुलोम विलोम, सूर्य नमस्कार, कपालभाति, शवासन आदि कुछ योग क्रियाएं हैं जिन्हें आपको प्रतिदिन करना चाहिए । इसके साथ ही संतुलित और पौष्टिक आहार करना भी काफी अहम है ।

FAQs

Padhai Kaise Kare से संबंधित अक्सर कई प्रश्न पूछे जाते हैं । उन सभी प्रश्नों को एकत्रित करके नीचे हमने जवाब दिया है । अगर आपके मन में इन प्रश्नों से इतर अन्य कोई भी प्रश्न है तो आप कॉमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं ।

1. पढ़ाई करते समय याद कैसे करें ?

अगर आप पढ़ाई करते समय याद करना चाहते हैं तो आपको नोट्स बनाना चाहिए । आप जो भी पढ़ रहे हैं, उसका अपने शब्दों में नोट्स भी तैयार करते जाएं । इसके अलावा एक ही जानकारी को बार बार दोहराने से भी आप पढ़ाई करते समय याद कर सकते हैं ।

2. पढ़ाई में तेज कैसे हो ?

अगर आप पढ़ाई में तेज बनना चाहते हैं तो सभी विषयों पर आवश्यकतानुसार ध्यान दें, रोज कम से कम 4 घंटे घर पर पढ़ाई करें, नोट्स बनाएं और रिवीजन करें । इसके अलावा प्रतिदिन योग और व्यायाम करने के साथ ही पौष्टिक आहार भी करें ।

3. पढ़ाई में मन नहीं लग रहा है तो क्या करें ?

अगर आपका पढ़ाई में मन नहीं लग रहा है तो आपको सबसे पहले खुद से यह प्रश्न पूछना चाहिए कि आपके लिए पढ़ाई क्यों जरूरी है ? अगर आपको पढ़ाई करने का मकसद मिल गया तो आपका मन पढ़ाई में लगने लगेगा ।

लेकिन अगर आप पढ़ाई में बिल्कुल ही रुचि नहीं रखते हैं तो आपको अपने पैशन और टैलेंट की पहचान करनी चाहिए । आप क्या करने में माहिर हैं, आपके अंदर कौनसा टैलेंट है जिससे लोगों को फायदा होगा, इन प्रश्नों का उत्तर ढूंढिए और फिर अपने पैशन को ही प्रोफेशन बनाने पर ध्यान केंद्रित करें । आप चाहें तो घर बैठे ढेरों Skills भी सीख सकते हैं ।

4. हमें रोज कितने घंटे पढ़ना चाहिए ?

हमारी राय में आपको रोजाना कम से कम 4 घंटे पढ़ाई करनी चाहिए । परिस्थिति और विषय के हिसाब से आप यह समय बढ़ा कर 10 घंटे भी कर सकते हैं । ध्यान रखें कि सिर्फ पढ़ना महत्वपूर्ण नहीं बल्कि पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद रखना महत्वपूर्ण है ।

5. पढ़ाई का सही वक्त क्या है ?

पढ़ाई का सबसे उत्तम वक्त सुबह है । सुबह सुबह आपके अंदर किसी भी कार्य को करने के लिए ज्यादा ऊर्जा होती है जिसका इस्तेमाल आप पढ़ाई में कर सकते हैं । यह ऊर्जा आपको एकाग्रचित्त बनाने में सहायक होती है और इसलिए विद्यालयों में भी सुबह के वक्त ही छात्रों को शिक्षा दी जाती है ।

6. लंबे समय तक पढ़ाई कैसे करें ?

अगर आप लम्बे समय तक पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपने लक्ष्य को मस्तिष्क में बिठा लेना चाहिए । इसके बाद आपको यह कोशिश करनी चाहिए कि एक लगातार न पढ़ें बल्कि बीच बीच में 10 मिनट का ब्रेक लें और थोड़ा टहलें । साथ ही एक ही विषय को लगातार पढ़ने के बजाय एक निश्चित अवधि के पश्चात विषय बदल दें ।

7. मोबाइल से पढ़ाई कैसे करें ?

अगर आप मोबाइल से पढ़ाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले DND यानि Do Not Disturb मोड ऑन कर दें । मोबाइल से पढ़ाई करते वक्त नोट्स भी बनाते चलें और बीच बीच में ब्रेक भी लें ताकि आपकी आंखों को मोबाइल स्क्रीन से आने वाली किरणें नुकसान न पहुंचाएं ।

8. शादी के बाद पढ़ाई कैसे करें ?

शादी के बाद अगर आप पढ़ाई करना चाहती/चाहते हैं तो आपको online coaching ज्वाइन करना चाहिए । शादी के बाद पढ़ाई करने के लिए समय का अभाव हो सकता है, ऐसे में खुद के नोट्स के बजाय दूसरों की नोट्स से पढ़ाई करें । साथ ही परिवार वालों से अपनी पढ़ाई और लक्ष्यों को सांझा करें ।

9. परीक्षा के समय पढ़ाई कैसे करें ?

परीक्षा के समय पढ़ाई करने के लिए आपको ज्यादा ध्यान रिवीजन पर देना चाहिए । पढ़ाई के समय आपको सिलेबस पूरा करने पर कम और रिवीजन करने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए । साथ ही पढ़ाई करने की अवधि को कम से कम 7 से 8 घंटे तक बढ़ा देनी चाहिए ।

10. पढ़ाई करते समय कैसे बैठना चाहिए ?

Right way to sit during study

पढ़ाई करते समय आपको बिल्कुल सीधा बैठना चाहिए । पढ़ाई करते समय किसी खास दिशा में आपका चेहरा होना आवश्यक नहीं है बल्कि सही ढंग से बैठना जरूरी है । अगर पढ़ाई करते समय आपके बैठने का तरीका गलत होता तो आपके कमर में दर्द होगा और आलस भी आयेगी ।

पसंद आया ? शेयर करें 😊

Leave a comment