Google के Voice Search में कैसे रैंक करें

Google के Voice Search में कैसे रैंक करें ? 5 सबसे आसान तरीके

समय के साथ साथ इंटरनेट को ब्राउज़ करने के मायने बदलते जा रहे हैं । जैसे लोग अब Blog पढ़ने से ज्यादा वीडियो देखना prefer करने लगे हैं ठीक वैसे ही अब लोग ज्यादा से ज्यादा Voice Searches करना शुरू कर चुके हैं । Quoracreative की एक रिपोर्ट के मुताबिक , 2024 तक विश्व भर में कुल 30 Billion लोग Voice Based Searches का उपयोग कर रहे होंगे । इसलिए अगर आप Voice Search मार्केट की तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं तो यकीन मनिए आप अपने फ्यूचर Visitors को खो रहे हैं । इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे Google के Voice Search में रैंक कर सकते हैं ।

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप जान जाएंगे कि :

  • Google का Voice Search क्या है ?
  • Google के Voice Search के अलावा और कौन कौन से Voice Search कंपनियां है ?
  • आप Google के Voice Search में कैसे रैंक कर सकते हैं ?

तो चलिए शुरू से शुरू करते हैं और जानते हैं कि Google का Voice Search क्या है ?

Google का Voice Search क्या है ?

Google का Voice Search क्या है

Google का Voice Search एक प्रकार से Voice Enabled सर्विस है जिसकी मदद से आसानी से इंटरनेट पर , Google के Apps और Products को अपनी आवाज के माध्यम से खोजा जा सकता है । ये Voice Searches पूरी तरह से Keyword -Based-Searches होते हैं ।

Voice Searches एक तरह से Dailogue System होते हैं जो किसी भी यूजर के सर्च क्वेरी के हिसाब से open source कीवर्ड में यूजर के कीवर्ड को सर्च करता है और जितना Accurate हो सके , जवाब देता है ।

Google के अलावा और कौन कौन सी Voice Search कंपनियां हैं ?

Google के In Google Voice Search के अलावा भी इंटरनेट की दुनिया में अन्य Voice Search कंपनियां भी हैं । चलिए देखते हैं :

  1. Cortana : Cortana एक Virtual Assistant है जिसे Microsoft द्वारा माइक्रोसॉफ्ट 10 , माइक्रोसॉफ्ट 10 मोबाइल , विंडोज फोन 8.1 , iOS , एंड्रॉयड और अमेज़न एलेक्सा के लिए बनाया गया था । इसके साथ ही Cortana धेरों काम कर सकता है । इनमें Alarm सेट करना , Reminders सेट करना , Natural Voice को Recognise करना और आपके प्रश्नों का उत्तर यह Bing Search Engine से निकाल कर देता है ।
  2. Siri : Siri एक Virtual Assistant है जोकि Apple Inc. के iOS , iPadOS , WatchOS , MacOS का पार्ट है ।यह assistant यूजर के Queries का उत्तर देने के लिए Natural language user interface का उपयोग करता है । इसके साथ ही यह user को Recommendation देने के साथ साथ इंटरनेट से Requests को delegate करके यूजर के प्रश्नों का उत्तर देता है ।
  3. Amazon Eco : यह Amazon द्वारा बनाए गए Smart Speakers हैं । इसके Features की बात करें तो यह Voice Interaction , Music Playback , to-do lists बनाना , अलार्म सेट करना , Podcasts को स्ट्रीम करना , इत्यादि शामिल हैं ।

Google के Voice Search में कैसे रैंक करें ?

अब जबकि आपने जान लिया है कि Google का Voice Search क्या होता है और Google के अलावा और कौन कौन सी Voice Search कंपनियां हैं । तो अब हम बात करेंगे कि आप अपनी वेबसाइट को Google के Voice Search में कैसे रैंक करा सकते हैं :

1. अपने कंटेंट को Search Engines के लिए structure करें

यह सबसे जरूरी स्टेप है अगर आप Google के Voice Search में अपनी वेबसाइट को रैंक कराना चाहते हैं । अपने Blog और इसके कंटेंट को Search Engines के लिए सही से structure करने से आपकी Ranking Probability बढ़ जाएगी । अपने कंटेंट को Restructure करने के लिए उसमें ज्यादा से ज्यादा Questions और Answers को include करें । यह पॉइंट्स सिर्फ वॉइस सर्च में रैंक करने के लिए ही नहीं बल्कि Search Result Pages में टॉप पर रैंक करने के लिए भी जरूरी है ।

अपने Content को Restructure करते समय , content में FAQs ( Frequently Asked Questions ) को जोड़ना बिल्कुल भी न भूलें । ऐसा करने से आपके ब्लॉग कंटेंट में ज्यादा से ज्यादा प्रश्न और उत्तर होंगे , जिन्हें गूगल पसंद करता है । इस वजह से आपका content न सिर्फ Google के Voice Search में रैंक होगा , बल्कि Google के Featured Snippets में भी आपकी वेबसाइट रैंक होगी ।

2. हमेशा Long Tail Keywords पर फोकस करें

जब भी Blogging के जरूरी Tips की बात की जाती है तो यह जरूर बोला जाता है कि Keywords को ध्यान से चुनें । यह इसलिए क्योंकि आपका पूरा कंटेंट आपके Keywords पर Based होता है । लेकिन ज्यादातर ब्लॉगर्स यह गलती करते हैं कि वे उन Keywords को चुन लेते हैं जिनपर बहुत ही ज्यादा Competition है । यह गलती न करें ।

याद रखें , हमेशा Long Tail Keywords का ही चुनाव करें । ऐसा इसलिए कि Long Tail Keywords पर कॉम्पटीशन बहुत कम होता है इसलिए आपकी वेबसाइट न सिर्फ गूगल के search Results में रैंक करेगी , बल्कि आप Google के Voice Search में भी रैंक कर पाएंगे । हम जब भी किसी भी प्रकार का Voice Search करते हैं तो हमेशा Conversational Keywords का ही उपयोग करते हैं । जैसे कि “Google के Featured Snippets में रैंक करने के क्या फायदे हैैं या Instagram की स्टोरी में अपने वेबसाइट को कैसे रैंक करें ? इत्यादि । इसलिए आप Long Tail Keywords का चुनाव करते हैं तो आपके कंटेंट Google के Voice Search में जरूर रैंक करेगा ।

3. अपने वेबसाइट की Loading Time को कम करें

Google के Voice Search में अगर आप अपनी वेबसाइट को रैंक करना चाहते हैं तो आपको अपने वेबसाइट की Loading Time को कम करना चाहिए । कई Bloggers इस point को underestimate करते हैं और इससे उनका नुकसान होता है । Voice Searches में रैंक करने का यह बेहद ही जरूरी फैक्टर है । जहां तक Voice Searches की बात है तो गूगल को लोगों के Queries का Quick Answer देना होता है । ऐसे में अगर आपकी वेबसाइट की loading time बहुत ही ज्यादा है तो यह संभव है कि आपका कंटेंट कभी भी Voice Search में रैंक नहीं करेगा ।

एक बात याद रखें कि Google को आपका ही कंटेंट दिखाने की कोई मजबूरी नहीं है । इंटरनेट पर मौजूद लाखों की संख्या में जिस भी ब्लॉग / वेबसाइट का कंटेंट Optimised होगा और best होगा , उसको ही रैंक किया जाएगा । इसलिए अपने ब्लॉग के कंटेंट को सबसे BEST रखें और साथ ही अपने ब्लॉग के opening speed को बढ़ाने का काम करें । आप चाहें तो अपने ब्लॉग पर AMP को Enable करके अपने ब्लॉग की speed बहुत ज्यादा बढ़ा सकते हैं । इसके साथ ही आप अपने Blogger Website की भी Loading Speed को बढ़ा सकते हैं

4. अपने ब्लॉग के कंटेंट को Rich Answers के लिए Optimise करें

अगर आप Google के Voice Search में रैंक करना चाहते हैं तो आपको अपने ब्लॉग के Contents को Rich Answers के लिए optimise करना चाहिए । ऐसा करके आप आसानी से Google के Voice Search में अपनी वेबसाइट को रैंक करा सकते हैं । अपने ब्लॉग कंटेंट को Rich Answers के लिए optimise करने के लिए :

  • ज्यादा से ज्यादा प्रश्नों के उत्तर दें ।
  • High Quality लेकिन Optimised Images का उपयोग करें ।
  • Headings और Subheadings का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें ।
  • Bullet Points को अपने ब्लॉग कंटेंट में जरूर जोड़ें ।
  • Long Tail Keywords पर ही फोकस करें ।

अगर आप ऊपर दिए गए 5 Points पर ध्यान देते हैं तो आप आसानी से Google के Voice Search में आने वेबसाइट को रैंक करा सकेंगे ।

5. अपने Blog / वेबसाइट को Mobile Users के लिए optimise करें

यह अंतिम Point सबसे महत्वपूर्ण है । अगर आप Mobile Users के लिए अपने Blog / website को Optimise करते हैं तो आपका Content जरूर से जरूर Google के Voice Search में रैंक करेगा । Google ने 2019 में Mobile First Indexing अपडेट को introduce किया । इसका सबसे main उद्देश्य Mobile Users के लिए Internet को ज्यादा बेहतर और Optimised बनाना था । इसलिए आप समझ सकते हैं कि Google उन Blogs / websites को search result pages में ज्यादा अहमियत देता है जो Mobile Optimised होते हैं ।

अगर आप अपने वेबसाइट को Mobile Optimised बनाना चाहते हैं तो :

  • हमेशा Mobile Responsive themes का ही उपयोग करें । इंटरनेट पर हजारों की संख्या में आपको Mobile Optimised Themes मिल जाएंगी जो Free भी हैं और Paid भी । इसके साथ ही आप AMP Ready Themes को भी try कर सकते हैं जो पूरी तरह से Mobile Friendly भी हैं ।
  • अपने वेबसाइट / ब्लॉग के लिए Mobile Friendly Test जरूर करें । इससे आपको यह पता चल जाएगा कि आपका वेबसाइट Mobile Friendly है या नहीं । अगर आप किसी भी प्रकार का error देखते हैं या यह पाते हैं कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग mobile optimised नहीं है तो उसे fix करें ।
  • इसके साथ ही यह भी Check करें कि आपका वेबसाइट Search Engines के Crawlers द्वारा सही से Crawl किया जा सकता है या किया जा रहा है या नहीं । इसके लिए आप Google Search Console का सहारा ले सकते हैं ।

Google के Voice Search में कैसे रैंक करें ?

  • अपने कंटेंट को search engines के लिए optimise करें
  • हमेशा Long Tail Keywords पर focus करें
  • अपने वेबसाइट के loading speed को बढ़ाएं
  • ब्लॉग कंटेंट को rich answers के लिए optimise करें
  • Mobile users के लिए अपने ब्लॉग को optimise करें

तो यह रहा पूरा Detailed Article जिसकी मदद से आप आसानी से Google के Voice Search में रैंक कर सकते हैं । अन्य किसी भी समस्या के लिए आप नीचे कमेंट कर सकते हैं । पसंद आया हो तो शेयर करें ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.