ISBN Full form – ISBN के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आप किताबों में रुचि रखते हैं , उन्हें पढ़ते खरीदते अथवा बेचते हैं तो अपने अवश्य एक बात पर गौर किया होगा । वह यह कि हर किताब में एक ISBN Number मौजूद होता है । परंतु , क्या आप जानते हैं कि क्यों हर किताब में इसे लिखा जाता है ? इस पोस्ट में हम न सिर्फ आपको ISBN full form बताएंगे बल्कि साथ ही आप इससे जुड़े अन्य ढेरों प्रश्नों के उत्तर भी जानेंगे ।

तो अगर आप इसके बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो पोस्ट को अंत तक पढ़ें । इसके साथ ही अगर पोस्ट अच्छा लगे तो दूसरों के साथ शेयर जरूर करें ताकि सभी इसके बारे में जान सकें –

ISBN full form in Hindi

ISBN का फुल फॉर्म International Standard Book Number होता है जो कुल 13 अंकों का होता है । वर्ष 2006 से पहले यह कुल 10 अंकों का होता था । किसी भी पुस्तक को सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराया गया है , चाहे वह बिक्री के लिए हो या मुफ्त में देने के लिए , आईएसबीएन द्वारा पहचाना जा सकता है ।

ISBN elements explained in Hindi

अगर आप एक आईएसबीएन पर गौर करें तो इसमें कुल 5 तत्व होते हैं । चलिए एक diagram की मदद से इसके बारे में विस्तार से जानते हैं –

ISBN elements explained in Hindi
Image Source : Examrace

1. Prefix Element – Prefix Element हमेशा 3 अंकों का होता है और आईएसबीएन नंबर में शुरुआत इसी से होती है । फिलहाल यह सिर्फ 978 या 979 ही होता है ।

2. Registration group element – यह मुख्य रूप से आईएसबीएन प्रणाली में भाग लेने वाले विशेष देश , भौगोलिक क्षेत्र या भाषा क्षेत्र की पहचान करता हैै । यह 1 अंक से लेकर 5 अंकों तक हो सकता है ।

3. Registrant element – यह विशेष प्रकाशक या पब्लिकेशन की पहचान करता है । यह 7 अंकों तक हो सकता है ।

4. Publication element – यह एक शीर्षक के विशेष संस्करण और प्रारूप की पहचान करता है । यह लंबाई में 6 अंकों तक हो सकता है ।

5. Check digit – यह एक ISBN number में अंतिम और अकेला अंक होता है जो गणितीय रूप से अन्य अंकों को सत्यापित यानि validate करता है ।

ISBN का इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?

ISBN किसी भी उत्पाद की पहचान करता है जिसका इस्तेमाल book publishers , book sellers , libraries , internet retailer और अन्य सप्लाई चेन से जुड़े लोग करते हैं । इससे किसी भी उत्पाद जैसे पुस्तक को मंगाना , लिस्ट करना , बेचे जाने का रिकॉर्ड चेक करना और भंडार नियंत्रण इत्यादि में मदद मिलती है ।

यह उत्पाद का पंजीकरण कराने वाले के साथ ही उत्पाद के शीर्षक , संस्करण और प्रारूप की भी पहचान करता है । आप इसकी संस्था का official website देख सकते हैं ।

ISBN से जुड़े कानून

आईएसबीएन एक पहचानकर्ता है और कानूनी या कॉपीराइट संरक्षण के किसी भी रूप को व्यक्त नहीं करता है । हालांकि , कुछ देशों में प्रकाशनों की पहचान करने के लिए आईएसबीएन का उपयोग कानूनी आवश्यकता के रूप में किया गया है ।Isbn-international

आईएसबीएन के लिए किसे आवेदन करना चाहिए ?

यह हमेशा उस पुस्तक का प्रकाशक होता है जिसे ISBN के लिए आवेदन करना चाहिए । आईएसबीएन के प्रयोजनों के लिए , प्रकाशक समूह, संगठन, कंपनी या व्यक्ति है जो किसी प्रकाशन के उत्पादन को शुरू करने के लिए जिम्मेदार है ।

आम तौर पर , यह वह व्यक्ति या निकाय भी होता है जो किसी उत्पाद को उपलब्ध कराने में लागत और वित्तीय जोखिम वहन करता है । यह सामान्य रूप से प्रिंटर नहीं है , लेकिन यह पुस्तक का लेखक हो सकता है यदि लेखक ने अपनी पुस्तक स्वयं प्रकाशित करने के लिए चुना है ।

FAQs in Hindi

अब बात करते हैं Frequently Asked Questions की जो अक्सर ISBN के संदर्भ में पूछे जाते हैं :

1. क्या आईएसबीएन जरूरी है ?

आईएसबीएन की मदद से किसी भी ग्राहक को किताब ढूंढने और खरीदने में काफी आसानी होती है । अगर आप अपनी किताब को Libraries , bookstores , online retailers , distributors और wholesalers को बेचना चाहते हैं तो आपको ISBN की जरूरत पड़ेगी । बिना इसके , वह आपके प्रोडक्ट को नहीं खरीदेंगे ।

2. क्या एक किताब का आईएसबीएन हमेशा constant रहता है ?

किसी भी किताब का आईएसबीएन हमेशा बदलता रहता है । इसके ebook , harcover , paperback या audio का ISBN हमेशा अलग अलग ही होगा ।

3. ISBN कहां से प्राप्त करें ?

अगर आप भारत में अपनी किताब के लिए आईएसबीएन प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले https://isbn.gov.in/ पर जाना है । इसके बाद के प्रोसेस को आप दिए pdf में पढ़ सकते हैं ।

4. क्या आईएसबीएन के लिए एक barcode का होना जरूरी है ? कैसे प्राप्त करें ?

एक ISBN Number ही किसी भी किताब को identify करने का एक सबसे जरूरी फैक्टर है । परंतु , अगर आप Physical तौर पर किताब को बेचते हैं या wholesalers को देते हैं तो उन्हें barcode स्कैन करके ही किताब खरीदनी होती है । तभी जाकर वे सही से inventory मैनेज कर पाते हैं ।

इंटरनेट पर ढेरों tools हैं जिनकी मदद से आप अपने आईएसबीएन नंबर को barcode में बदल सकते हैं । आप free-barcode-generator की मदद ले सकते हैं ।

5. किसी भी किताब के ISBN number search कैसे करें ?

अगर आप किसी भी आईएसबीएन को search करके किसी भी किताब के बारे में पता लगाना चाहते हैं तो आप https://isbnsearch.org/ की मदद लें । यह बहुत ही आसान और सरल तरीका है और सबसे बढ़िया बात की यह फ्री है ।

ISBN full form in Hindi – conclusion

तो आपने इस पोस्ट में विस्तार से जाना कि ISBN full form in Hindi क्या है और इससे जुड़े अन्य ढेरों प्रश्न । अगर आपके मन में अन्य कोई प्रश्न है तो जरूर पूछें । इसके साथ ही , अगर पोस्ट पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.