PMNRF और PM CARES में क्या अंतर है ? पीएमएनआरएफ और पीएम केयर्स

आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि PMNRF और PM CARES क्या है । इसके साथ ही इन दोनों का फूल फॉर्म और इन दोनों के बीच के अन्तर को भी आप बेहतर तरीके से जानेंगे । इसमें आपको यह भी बताया जाएगा कि PMNRF और PM CARES को लेकर क्या विवाद है !

अगर आप इन सभी प्रश्नों के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आपको यह पोस्ट अंतिम तक पढ़ना चाहिए । जैसा कि आपको पता ही होगा कि केंद्र सरकार देशवासियों के लिए ढेरों अलग अलग प्रकार की योजनाएं और ट्रस्ट निकालती रहती है । इसके साथ ही देश में आपदा या संकट के समय सरकार लोगों से फंड जमा करती है या खुद फंड निकालती है । ऐसे में वर्तमान स्तिथि यानि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार ने पीएम केयर्स फंड को शुरू किया था । तो चलिए इसके बारे में शुरू से शुरू करते हैं –

PMNRF क्या है ?

PMNRF kya hai

Prime Minister’s National Relief Fund (PMNRF) एक प्रकार की फंड बॉडी है जो किसी भी प्रकार की मानव निर्मित आपदा और प्राकृतिक आपदाओं के समय लोगों को सहायता देने के लिए बनाई गई थी । इसका गठन जवाहर लाल नेहरू जी ने 1948 में किया था । इसे हिंदी में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष कहते हैं ।

प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़ , भूकंप , साइक्लोन और मानव निर्मित आपदा जैसे दंगे या बड़े एक्सीडेंट्स इत्यादि में PMNRF की मदद से प्रभावित लोगों को सहायता प्रदान की जाती है । वर्तमान में केंद्र की मोदी सरकार इसकी देखभाल और व्यवस्था करती है ।

PM CARES क्या है ?

PM CARES kya hai

The Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations Fund (PM CARES Fund) का गठन 28 मार्च , 2020 को किया गया था । कोरोना वायरस महामारी के समय प्रभावित देशवासियों को सहायता प्रदान करने के लिए इसका गठन किया गया । इसका उद्देश्य Covid – 19 जैसे अन्य महामारियों के समय लोगों को सहायता प्रदान करना है ।

PM CARES के चेयरमैन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं । उनके अलावा इस ट्रस्ट के ट्रस्टी में अमित शाह , राजनाथ सिंह और निर्मला सीतारमण जी शामिल हैं । इस महामारी के समय , PM CARES में 1 खरब डॉलर से भी ज्यादा रुपए जमा हुए थे ।

तो फिर प्रश्न आता है कि PMNRF और PM CARES में अंतर क्या है ? तो चलिए हम आपको सबसे पहले इन दोनों ने बीच के अंतर को समझाते हैं ।

PMNRF और PM CARES में क्या अन्तर है ?

PMNRF के गठन के पीछे प्रारंभिक उद्देश्य भारत पाकिस्तान के बीच हुए बंटवारे से विस्थापित हुए लोगों की मदद करना था तो वहीं PM CARES के गठन के पीछे प्रारंभिक उद्देश्य COVID – 19 से प्रभावित लोगों की सहायता करना है ।

जहां PMNRF सभी प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदा के समय लोगों की मदद के लिए गठित की गई थी तो वहीं PM CARES का गठन कोरोना वायरस जैसे महामारी के समय लोगों की सहायता के लिए की गई है । इससे इन दोनों में अंतर पूरी तरह साफ हो जाता है ।

इसके अलावा भी इन दोनों के बीच अंतर को समझने के लिए आप इन पॉइंट्स को ध्यान में रख सकते हैं –

1. PMNRF का फूल फॉर्म Prime Minister’s National Relief Fund यानि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष है । तो वहीं , PM CARES का फूल फॉर्म The Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations Fund यानि प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपातकालीन स्थिति में राहत है ।

2. Prime Minister’s National Relief Fund का गठन जनवरी , 1948 में किया गया था तो वहीं The Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations Fund का गठन 28 मार्च , 2020 को किया गया था ।

3. PMNRF का गठन देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने किया था तो वहीं PM CARES का गठन वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने किया है ।

4. प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष का मुख्य उद्देश्य किसी भी प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदा के समय लोगों को सहायता देनी है तो वहीं प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपातकालीन स्तिथि में राहत का मुख्य उद्देश्य कोरोना वायरस जैसे महामारियों से निपटने और लोगों की सहायता करना है ।

PMNRF और PM CARES को लेकर विवाद क्या है ?

PM CARES के गठन के तुरंत बाद से ही इसमें भारी मात्रा में फंड आने लगे थे । देश के आम नागरिक से लेकर बड़े बड़े फिल्मी कलाकारों और उद्योगपतियों ने इसमें ढेरों रुपए जमा किए । परन्तु इसपर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने सवाल खड़ा कर दिए ।

कांग्रेस का कहना है कि PM CARES बिल्कुल भी पारदर्शी नहीं है और इसे PMNRF में ट्रांसफर कर देना चाहिए । इसके अलावा सवाल यह भी उठाया जा रहा था कि जब पहले से ही पीएनएनआरएफ मौजूद है तो फिर नए फंड बॉडी या ट्रस्ट की क्या जरूरत ? इसके RTI के तहत न आने को लेकर भी सरकार पर कई सवाल खड़े किए गए हैं ।

इसपर सरकार का जवाब है कि पीएम केयर्स पूरी तरह से पारदर्शी है । इसका गठन आपदा के समय लोगों की सहायता करना भर है । सरकार की तरफ से कहा गया है कि नेशनल रिलीफ फंड में कांग्रेस का एक परमानेंट मेंबर होने की वजह से पीएम केयर्स को एनआरएफ में ट्रांसफर करने की बात कही जा रही थी । सुप्रीम कोर्ट ने भी PM CARES को PMNRF में ट्रांसफर करने की मांग को ठुकरा दिया था ।

PM CARES और PMNRF से जुड़े जरूरी प्रश्न ( FAQs )

कई लोगों ने इन दोनों फंड बॉडी को लेकर ढेरों सवाल उठाए हैं , जिनका जवाब हम आगे देने जा रहे हैं । आपके भी मन में अगर कोई सवाल है तो नीचे उसका उत्तर जरूर देखें –

1. PM CARES का कानूनी ढांचा क्या है ?

PM CARES को Public Charitable Trust की तरह रजिस्टर किया गया है । पीएम केयर फंड के ट्रस्ट डीड का पंजीकरण रजिस्ट्रेशन एक्ट , 1908 के तहत नई दिल्ली में 27 मार्च , 2020 को किया गया था ।

2. PM CARES फंड में किस प्रकार के घरेलू डोनेशन स्वीकार किए जाते हैं ?

किसी भी व्यक्ति / संस्था के साथ ही CSR के रूप में बड़ी कंपनियों / PSUs के द्वारा इस ट्रस्ट में डोनेशन स्वीकार किया जाता है । इसमें बड़ी मात्रा में फंड बड़ी बड़ी कंपनियों द्वारा दिया गया था ।

3. PM CARES FUND में किन किन तरीकों से डोनेशन दिया जा सकता है ?

अगर कोई व्यक्ति इसमें Contribution करना चाहता है तो वह –

  • Net Banking जैसे SBI , UBI जैसे अन्य कमर्शियल बैंकों द्वारा किया जा सकता है ।
  • कार्ड पेमेंट जैसे डेबिट कार्ड , क्रेडिट कार्ड , प्रीपेड कार्ड और फॉरेन कार्ड की मदद से किया जा सकता है ।
  • अन्य भुगतान माध्यम जैसे SBI Branch , NEFT / RTGS से भी किया जा सकता है ।

इसके साथ ही pmcares.gov.in और PMO Portal pmindia.gov.in केे द्वारा भी इस फंड में भुगतान कििया जा सकता है । आप Collective Banks केे पोर्टल्स् से भी भुगतान किया जा सकता है ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.