Linking और Embedding क्या है और इनमें अंतर

Linking और Embedding क्या है ? इन दोनों में क्या फर्क है ?

इस पोस्ट में आप विस्तार से जानेंगे कि Linking और Embedding क्या है और इनमें क्या अंतर है । कई लोग इंटरनेट पर यह प्रश्न पूछते हैं कि Difference Between Linking and embedding in Hindi । आपके इस प्रश्न का उत्तर इस पोस्ट में हैं इसलिए इसे अंत तक पढ़ें ।

Linking क्या है ?

Linking kya hai

Linking एक तरीका है जिसकी मदद से एक File को दूसरे File से जोड़ा जाता है । आप इन links को अपने Computer या Devices के माध्यम से जोड़ते हैं । इसका उपयोग ज्यादातर Blogging में होता है जिसमें अलग अलग Web Pages को एक साथ जोड़ा जाता है ।

यह किसी भी प्रकार के Content को शेयर करने का एक बेहतरीन माध्यम है । इसमें बस किसी भी Web Page , Images , Videos , Documents के लिंक को Copy करके जहां आप इन्हें जोड़ना चाहते हैं , वहां paste कर सकते हैं । इस तरह आप Linking करते हैं ।

जब आप linking करते हैं तो उस Main Content के web page के पूरे URL को किसी अन्य Content में जोड़ते हैं । यह एक आसान process है । अगर Blogging की बात की जाए तो यह एक जबरदस्त SEO Factor भी है । इसमें External और Internal लिंकिंग शामिल है ।

Example Of Linking in Hindi

अब चलिए बात करते हैं कि Linking के उदाहरण क्या हैं या यह कैसे किया जाता है । इसके लिए आपको अपने Targeted Content के Link को Copy करना है । कई बार Share Button पर क्लिक करते ही Copy To Clipboard का ऑप्शन आता है जिससे आप Link कॉपी कर सकते हैं।

इसके उपरांत , आपको जिस भी Content में इस Link को जोड़ना है वहां आप उसे Paste कर सकते हैं । जैसे कि – AdSense Terms in Hindi । इस नीले रंग के Text में मैंने अपने वेबसाइट के एक Post के लिंक को जोड़ा है जिसे Hyperlinking भी कहते हैं ।

Embedding क्या है ?

Embedding kya hai

Embedding किसी existing content को किसी अन्य content में जोड़ने का प्रोसेस होता है । इसके माध्यम से आप किसी भी Content को Word Document , Web Page इत्यादि जगहों में बिना उसके Url ( link ) के जोड़ सकते हैं ।

इसकी मदद से अपने existing content को ज्यादा बेहतर बनाया जाता है । यह इसलिए क्योंकि जब हम इसे करते हैं , तो अपने Content में अन्य Functions भी जोड़ते जाते हैं जो Useful हो जाता है । इसे इस तरह समझें कि मान लीजिए आप Calculator के बारे में कुछ लिख रहे हैं , और आप चाहते हैं कि आपके Content में एक Calculator भी हो ।

इसके लिए अगर आप Coding नहीं करना चाहते , तो इंटरनेट पर मौजूद पहले से ही Coded कैलकुलेटर मौजूद है जिसे आप एक HTML Codings की मदद से अपने वेबसाइट पर जोड़ सकते हैं । अब जैसे कि आप नीचे देख पा रहे होंगे कि मैंने Coronavirus के Stats को नीचे Embed किया है –

Example of Embedding in Hindi

आप ऊपर देख पा रहे होंगे कि हमने Stats को जोड़ा है । इसके लिए हमने बस कुछ HTML Codings को जोड़ा और रिजल्ट आपके सामने है । Embedding करने के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है । बस आपको इंटरनेट पर पहले से मौजूद Widgets के HTML को कॉपी और अपने वेबसाइट के Code Section में paste करना है ।

ऊपर दिया हुए Stats हमने Bing से लिया था । इसे आप चाहे तो चेक भी कर सकते हैं ।

Difference Between Linking and Embedding in Hindi

Linking करने पर अगर Main Content में किसी भी प्रकार का बदलाव किया जाता है तो Destined Content में भी बदलाव आता है परन्तु Embedding में ओरिजिनल कंटेंट में बदलाव करने पर भी Destined Content में किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं होगा ।

अगर Main Content में बदलाव किया जाता है तो आप Existing Link पर भी क्लिक करेंगे तो आपको Changed Content ही दिखेगा परन्तु Embedding में अगर मुख्य कंटेंट में बदलाव कर भी दिया जाते तो Existing या Embedded Content में बदलाव देखने को नहीं मिलेगा ।

यह भी पढ़ें –

Linking and Embedding – Conclusion

तो इस तरह आपने समझा कि Linking और Embedding में क्या फर्क है और इन्हें कैसे किया जाता है । अगर आपको अभी भी किसी प्रकार का Doubt है तो नीचे कॉमेंट करके बता सकते हैं । आप किस विषय पर पोस्ट चाहते हैं , उसे भी हमें बता सकते हैं ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.