Meaning of QR Code in Hindi – क्या है , कैसे बनाएं और उपयोग करें

क्या आप जानते हैं कि meaning of QR code in Hindi क्या है ? क्या आप जानते हैं कि क्यूआर कोडकी शुरुआत किसने की थी ? इसके साथ ही आप खुद से इसे कैसे बना सकते हैं और उपयोग कर सकते हैं ? अगर इन प्रश्नों का उत्तर नहीं है तो यह पोस्ट आपके इन सभी प्रश्नों का विस्तारपूर्वक उत्तर देगा ।

आज जब पूरी दुनिया digitalisation को अपना रही है और घर घर smartphone है । ऐसे में , QR कोड की प्रासंगिकता बढ़ जाती है । आपने अक्सर देखा होगा कि अब किसी को Payment करने के लिए भी सिर्फ QR Code का इस्तेमाल हो रहा है । इसके अलावा आप इसे स्कैन करके किसी भी text , document , web page इत्यादि को access कर सकते हैं ।

पर कैसे ? यह काम कैसे करता है ? आप कैसे इसे बनाकर किसी भी इंफॉर्मेशन को डाल सकते हैं ? इन सभी प्रश्नों का उत्तर चलिए जानते हैं –

Meaning of QR Code in Hindi

meaning of qr code in Hindi
meaning of QR Code in Hindi

QR Code की हिंदी मीनिंग त्वरित प्रतिक्रिया कोड यानि Quick Response Code होता है जिसे किसी भी प्रकार की इंफॉर्मेशन को store करने के लिए उपयोग में लाया जाता है । यह bar code की अपेक्षा ज्यादा बेहतर होता है जिसकी वजह से यह दुनियाभर में प्रचलित है ।

इसे किसी भी इंटरनेट आधारित डिवाइस जैसे smartphone इत्यादि के माध्यम से ही खोला जा सकता है । आज के समय में आप इन्हें banking से लेकर education तक के क्षेत्र में पाएंगे । इसमें आप कितना भी ज्यादा information आसानी से स्टोर करके रख सकते हैं ।

हाल ही में एक News आयी थी जिसके मुताबिक , सोलापुर ( मुंबई ) के Ranjitsinh Disale जोकि एक प्राइमरी टीचर हैं , ने कक्षा की किताबों को एक QR Code में अनुवाद करके डाल दिया ताकि बच्चों को अपनी भाषा में पढ़ना सीखना आसान रहे । इसके लिए उन्हें The Golabal Teacher Prize से नवाजा गया । इस तरह आप समझ सकते हैं कि QR Codes कितना ज्यादा helpful साबित हो सकता है ।

History of QR Code in Hindi

QR Code को पहली बार Denso Wave नामक कंपनी ने 1994 में इन्वेंट किया था , जोकि आप Toyota की subsidiary भी है । उस समय , उनको vehicle के पार्ट्स को ट्रैक करने की जरूरत पड़ती थी । इसी जरूरत ने फिर आविष्कार को जन्म दिया और उन्होंने सबसे पहले bar code बनाया । परन्तु , Bar Codes को एक तरफ से दूसरी तरफ तक स्कैन किया जा सकता है और ये काफी कम इंफॉर्मेशन ही store कर पाते थे ।

परन्तु , एक QR Code को उपर – नीचे और दाएं – बाएं स्कैन किया जा सकता है जिसकी वजह से इसमें ज्यादा इंफॉर्मेशन को स्टोर करके रखा जा सकता है । इसलिए फिर क्यूआर कोड बनाने की कवायद शुरू हुई और इसमें 1 साल का समय लग गया । इसे इस तरह बनाया गया कि इसे किसी भी एंगल से scan किया जा सकता है और इसमें ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन को रखा जा सकता है ।

जैसे ही इसे बनाकर Public में लाया गया , इसकी मांग लगभग हर फील्ड में बढ़ गई । Manufacturing से लेकर food तक में इसका भारी मात्र में उपयोग किया जाने लगा । इसकी मदद से किसी भी प्रोडक्ट के बारे में जानकारी प्राप्त करना आसान था । Denso Wave कंपनी ने यह भी कहा कि वे इसको बनाने की खुली छूट देते हैं और इसके लिए किसी भी तरह के patent right को खरीदने की जरूरत नहीं पड़ेगी ।

इसलिए 2002 में जापान में जो mobile phone बेचे जाने लगे , उनमें qr code reader की सुविधा उपलब्ध थी । धीरे धीरे , इसके महत्व को देखते हुए दुनियाभर में इसे बनाने जाने लगा । आज भी इसको बनाने वाली कंपनी , इसके रूप और function में बदलाव करती रहती है ताकि इसे और बेहतर बनाया जा सके ।

how does a QR code work in Hindi ?

यह प्रश्न आपके दिमाग में भी आया होगा कि QR Code आखिर काम कैसे करता है ? चलिए हम आपको बताते हैं –

आज के समय में जो QR codes बनाए जा रहे हैं , उनमें 7 पार्ट्स होते हैं । इनमें छोटे छोटे Black और White dots बने होते हैं जो codes की तरह काम करते है और किसी खास information को decode करने का काम करते हैं । आपने देखा होगा कि इनमें 3 बड़े बड़े Squares ( वर्ग ) बने होते हैं जो एक scanner को बताते हैं कि उनके अंदर information store की गई है ।

एक Reader इन सभी codes को grid में बांटता है और सभी को analyse करने का काम करता है । इसके साथ ही , ये सभी Black और white dots से इंफॉर्मेशन को extract करके डिस्प्ले करता है । तो इस तरह आप समझ गए होंगे कि Quick Responsive Code कैसे काम करता है ।

Parts of QR Code in Hindi

क्या आप जानते हैं कि एक QR Code के कितने parts होते हैं ? अगर नहीं तो चलिए जानते हैं –

Parts of qr code in Hindi
चित्र स्रोत – Adafruit Industries

1. Quiet Zone – यह किसी भी QR Code के बाहरी भाग को कहते हैं जो कोड के लिए बाउंड्री की तरह काम करता है और सफेद रंग में होता है । इससे एक कोड रीडर यह decide करता है कि इंफॉर्मेशन कहां से इक्कठा करना है ।

2. Finder Pattern – किसी भी क्युआर कोड में 3 बड़े blocks होते हैं । ये Top left , bottom left और top right corner में स्थित होते हैं जो किसी भी रीडर को कोड की बाउंड्री के बारे में बताते हैं ।

3. Alignment Pattern – हर क्युआर कोड में यह alignment pattern भी अवश्य होता है जो right bottom corner में स्थित होता है और यह square ( वर्ग ) के फार्म में होता है । इसके होने की वजह से आप किसी भी एंगल से कोड को scan कर सकते हैं , भले ही वह टेढ़ा ही क्यों न हो ।

4. Timing Pattern – यह L shape का पैटर्न होता है जिसे आप Finder pattern के अंदर पाएंगे । इसकी मदद से reader आसानी से पता लगा पाता है कि कोड में कितने squares हैं और साथ ही यह damaged code को भी पढ़ने की सहूलियत देता है ।

5. Version information – यह Finder pattern cell के Top right में होता है जिसका काम होता है QR code reader को बताना कि कोड के किस version को पढ़ा जा रहा है । इसके कुल 4 versions होते हैं –

  • Numeric Mode – 0 से लेकर 9 तक के अंक
  • Alphanumeric mode – 0-9 तक के decimal no. , special symbols , uppercase letters
  • Byte mode – ISO–8859–1 सेट के Characters
  • Kanji Mode – जापानी भाषा केे लिए डिजाइन किया हुआ

6. Data Cells – अंत में बाकि बचे सभी patterns को data cells कहते हैं जो किसी खास information को encode करने का काम करते हैं जिन्हें कोड रीडर की मदद से decode किया जाता है ।

iphone , ipad या android device में QR Code कैसे scan करें ?

कई लोग यह प्रश्न पूछते हैं कि एक iphone या ipad में कोड को कैसे स्कैन करें ? इसके अलावा android में इसे स्कैन करने के लिए क्या पहले से ही कोई functionality है ? तो चलिए हम आपको बताते हैं –

1. iPhone , iPad & iPod Touch

इन सभी devices में अगर आप QR code स्कैन करना चाहते हैं तो सबसे पहले rear camera खोलें और कोड की तरफ point करें । आपका device अपने आप यह डिटेक्ट कर लेगा कि यह एक क्यूआर कोड है । इसके बाद आपको एक notification आएगा जिसपर क्लिक करते ही आप कोड में दिए इंफॉर्मेशन पर चले जाएंगे ।

2. Android Devices

अगर आप android devices के उपयोग से क्युआर कोड को स्कैन करना चाहते हैं तो अगर आपके पास Smartphone है तो यह आप अपने original camera की ही मदद से कर सकते हैं । आपको अपने camera को कोड की तरफ 2 से 3 सेकंड तक point करना है ।

यह अपने आप डिटेक्ट कर लेगा कि यह एक QR code है और उसे स्कैन करके इंफॉर्मेशन को नोटिफिकेशन के जरिए बताएगा । आप नोटिफिकेशन क्लिक करते ही stored information पर पहुंच जाएंगे । अगर आपका फोन पुराना है तब आप Bar & QR Code scanner ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं । इसकी मदद से आप आसानी से कोड स्कैन कर सकेंगे ।

How to create a QR Code in Hindi

अगर आप एक QR code को create या generate करना चाहते हैं तो आपको नीचे दिए Steps को follow करना होगा –

Step 1 – सबसे पहले आपको generator पर क्लिक करना है ।

Step 2 – इसके बाद ढेरों Options में से URL पर क्लिक करना है अगर आप किसी लिंक को qr code में encode करना चाहते हैं तो ।

Step 3 – इसके बाद Enter your website की जगह अपनी या कोई भी वेबसाइट का यूआरएल भरें । भरने के बाद generate qr code पर क्लिक कर दें ।

Step 4 – code generate होने के बाद आप सीधे इसे save कर सकते हैं । इसके अलावा अगर आप इसके design और look को बदलना चाहते हैं तो किसी format को चुनें ।

Step 5 – आगे बढ़ने से पहले आपके सामने Sign Up का ऑप्शन आएगा जोकि Free है । Sign Up करने के बाद Gmail पर गए confirmation mail से अकाउंट को activate करें ।

Step 6 – अंत में login करें और आप video , image , document , social media , email इत्यादि को एक QR code में रख सकते हैं जिसे स्कैन करके देखा जा सकता है । आप चाहें तो इसे password protected भी बना सकते हैं ।

तो इन सभी steps को अपनाकर आप आसानी से और FREE में खुद का QR code जेनरेट कर सकते हैं । website के अलावा आप App की मदद भी ले सकते हैं जो Playstore पर आपको आसानी से मिल जाएगा ।

How to create professional YouTube channel in Hindi

किसी भी Blocked Sites को इंडिया में कैसे खोलें ?

FAQs On meaning of QR Code

अब चलिए बात करते हैं meaning of QR code पर जरूरी FAQs :

1. QR Code का साइज क्या होता है ?

एक QR Code का सबसे कम साइज 2cm × 2cm होता है । हालांकि , यह पूरी तरह निर्भर करता है कि आप किस आउटलेट पर इसे आप इस्तेमाल कर रहे हैं । इसके लिए एक फॉर्म्मूला भी हैै :

Size of the QR Code = Distance between the QR Code and the scanner / 10

यानि कि अगर एक क्यूआर कोड का साइज 20 सेंटीमीटर है तो इसे 2 मीटर की दूरी से स्कैन किया जा सकता है । किसी भी क्यूआर कोड का आकार उसके module और version पर निर्भर करता है ।

2. क्या एक क्यूआर कोड को customise किया जा सकता है ?

जी हां , आप एक क्यूआर कोड को किसी भी रंग , आकार , पैटर्न या टेम्पलेट में बदल सकते हैं । हालांकि , एक क्यूआर कोड तभी customise किया जा सकता है जबकि वह Dynamic हो ।

आप एक QR code को इन विकल्पों में बदल सकते हैं :

  • रंग
  • लोगो
  • पैटर्न और शेप
  • बैकग्राउंड इमेज
  • Call To Action

23 Ways for online earning in Hindi 2021

Dropshipping से कम investment में पैसे कैसे कमाएं

Meaning of QR Code in Hindi – Conclusion

पोस्ट में हमने आपको विस्तार से meaning of QR code in Hindi के बारे में समझाया है । अगर आपको लगता है कि कुछ प्रश्न बाकी रह गए जिनका उत्तर नहीं दिया गया तो कॉमेंट के माध्यम से अवश्य बताएं । हम उन्हे FAQs की लिस्ट में अवश्य जोड़ देंगे । अगर आपको यह पोस्ट helpful लगा हो तो शेयर करना न भूले । इसके साथ ही notification को allow करें ताकि आपको ऐसे ही helpful posts मिलती रहें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.