How to write diary in Hindi – डायरी लिखने का सबसे बढ़िया तरीका

अगर आप जानना चाहते हैं कि how to write diary in Hindi यानि डायरी कैसे लिखें तो यह पोस्ट आपकी पूरी मदद करेगा । पोस्ट में आप जानेंगे कि डायरी लिखने का सबसे बढ़िया तरीका क्या है , परीक्षा या स्कूल के लिए डायरी कैसे लिखें , पर्सनल डायरी कैसे लिखें और साथ ही इन सभी के examples भी । तो यह पोस्ट अंत तक पढ़ें ।

हम सभी के पास कुछ ऐसी बातें होती हैं जिन्हें हम किसी से भी सांझा करना पसंद नहीं करते , भले ही वे special ones क्यों न हों । ऐसे में , हम डायरी लिखते हैं जहां हम बेफिक्र होकर आसानी से कोई भी बात लिख सकते हैं । हालांकि , जरूरी नहीं कि डायरी सिर्फ secrets को लिखने के लिए ही इस्तेमाल की जाती है । इसमें आप रोजमर्रा की जिंदगी और हर उस पल , घटना या रिश्ते के बारे में लिख सकते हैं जिनसे आप जुड़े हैं ।

परंतु , इसे लिखने का सही तरीका क्या होना चाहिए ? अगर हम स्कूल या किसी परीक्षा में डायरी लिखना चाहते हैं तो कैसे लिखें ? इन सभी प्रश्नों का उत्तर आपको how to write diary in Hindi के इस पोस्ट में मिलेगा तो चलिए शुरुआत से शुरू करते हैं :

Diary क्या है ?

Best way to write dairy in Hindi

डायरी एक प्रकार की किताब होती है जिसमें आप मनचाहा लिख सकते हैं । इसमें आप जीवन के किसी भी पल , घटना , रिश्ते इत्यादि के बारे में लिख सकते हैं । आमतौर पर डायरी को किसी event या important date को याद रखने के लिए लिखा जाता है । डायरी को हिंदी में दैनिकी या दैनंदिनी भी कहा जाता है ।

यह आपकी एक व्यक्तिगत जगह होती है जिसे आप काफी संभाल के रखते हैं और दूसरों से छुपा कर भी रखते हैं । हम बिल्कुल भी नहीं चाहते कि कोई अन्य हमारे सभी राज या मन की बातें जानें । परंतु , कई बार ऐसा होता है कि कोई अन्य भी इसे पढ़ लेता है । ऐसे में आप online diary app का इस्तेमाल कर सकते हैं जिसे आप आसानी से password से encrypt भी कर सकते हैं ।

डायरी लेखन क्या है ?

जब कोई व्यक्ति दिनभर की घंटनाओं और अनुभवों को क्रमबद्ध तरीके से लिखता है तो उसे डायरी लेखन कहते हैं । डायरी को हिंदी में दैनिकी और दानंदिनी भी कहते हैं । इसमें हम रोजमर्रा की जिंदगी में होने वाले अनुभवों , घटनाओं , नए स्थानों , व्यक्तियों , बनते बिगड़ते रिश्तों इत्यादि के बारे में लिखते हैं ।

How to write diary in Hindi

अब चलिए जानते हैं कि डायरी लिखने का सबसे बढ़िया तरीका क्या है :

1. हमेशा दिनांक लिखें

डायरी लिखने का मतलब ही क्या जब आप उसमें लिखने के दिन को mention न कर रहे हों । यह बहुत ही जरूरी होता है कि आप किसी नए पन्ने पर कुछ भी लिखने से पहले , लिखने के दिनांक को पन्ने के सबसे ऊपरी भाग में लिखें । इससे आपको दिनांक के हिसाब से चीजें ढूंढने में आसानी रहती है । इसके साथ ही , डेट लिखने की वजह से आप उस दिन को दोबारा याद भी कर सकते हैं ।

यह जरूरी नहीं कि आप जिस दिन लिखने जा रहे हैं उसी दिन का दिनांक डालें । अगर आप जिस घटना के बारे में जिक्र करने जा रहे हैं वह 3 महीने पहले हुई है तो उस घटना के दिनांक को लिख सकते हैं । इसके अलावा उस date को आप डायरी लिखते समय बीच में भी कहीं लिख सकते हैं ।

अगर आप किसी specific event का जिक्र कर रहे हैं और आपको उस समय का दिनांक , दिन और घड़ी का समय याद है तो उसे भी जरूर लिखें । आपको डायरी लिखते समय हर छोटी बड़ी जानकारी पर ध्यान देना चाहिए और लिखना चाहिए ।

2. डायरी लिखते समय ईमानदार रहें

अगर आप diary लिख रहे हैं तो आपको सबसे पहले ईमानदारी दिखानी होगी । डायरी लिखने के तरीके में यह सबसे जरूरी है कि आप सभी बातों को बिना किसी मिर्च मसाले के जैसे का तैसा लिखें । आपको अपने दिल में उमड़े हर feeling को जैसे का तैसा लिख देना चाहिए । अगर आप चीजें मन में ही दबा कर रखेंगे तो फिर diary लिखने का मतलब ही क्या है !

आप अपने मन के डर , राय , विचार सभी को बेफिक्र होकर लिख देना चाहिए । इसके साथ ही , अगर आप अपनी सभी भावनाओं और बातों को बिना किसी हिचक के लिखते जायेंगे तो आपको बार बार सोचना नहीं पड़ेगा कि अब आगे क्या लिखें । ईमानदार रहने का यह फायदा होता है कि आपको बोलने या लिखने से पहले चीजें सोचने की जरूरत नहीं पड़ती है ।

3. अपनी हर डायरी एंट्री का एक title लिखें

अगर आप अपनी हर diary entry के लिए एक short title रखते हैं तो आपको आगे जाकर डायरी का कोई भी पार्ट ढूंढने में आसानी होगी । यह इतना भी मुश्किल नहीं है जितना कि आप सोचते होंगे । आप किस भी घटना या दिन के बारे में लिख रहे हैं उससे जुड़ी कोई Important या special बात को टाइटल बना सकते हैं ।

अगर आप diary entries का शीर्षक नहीं रखते हैं तो आपको आपकी डायरी ढेर सारी जानकारियां का एक ढेर भर लगेगा ।

4. विस्तारपूर्वक लिखें

अगर आप diary लिख रहे हैं तो आपको सभी बातें विस्तार से लिखनी चाहिए । विस्तारपूर्वक लिखने की वजह से आप जब भी भविष्य में दोबारा इन पन्नों को खोलेंगे तो हर जानकारी पाएंगे जिन्हें आप यूंही याद नहीं रख सकते थे ।

How to write diary in Hindi का यह बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है । अगर आप ईमानदारी दिखायेंगे तो ही आप विस्तारपूर्वक हर एक बात को लिख पाएंगे । ध्यान रखें , आप जितना ज्यादा विस्तार से लिखेंगे भविष्य में आपको उतना ही ज्यादा फायदा होगा ।

5. Dear Diary लिखने से शुरुआत करें

अगर आप अपने डायरी को अपना एक सच्चा और विश्वसनीय दोस्त मानते हैं तो आपको ” Dear Diary ” सबसे पहले लिखना चाहिए । हालांकि , ऐसा जरूरी भी नहीं है । आप अपने डायरी का अन्य कोई भी नाम दे सकते हैं । कुछ Diary nicknames list है :

  • Story of my life
  • Kitty
  • Bestie
  • BFF
  • Pearl
  • हयात
  • यायावर
  • प्रेयसी
  • आशय

इन नामों को आप Dear लिखने के बाद लिख सकते हैं । अगर आप सीधे डायरी लेखन की शुरुआत करते हैं तो यह पढ़ने में अच्छा नहीं लगेगा । आप अपने जीवन की सभी बात , सच्चाई , राज अपनी प्रिय डायरी से सांझा कर रहे हैं ऐसे में उसे Dear कहकर पुकारना तो बनता है ।

डायरी एंट्री फॉर्मेट – Format of Diary Writing

अब चलिए देखते हैं Format of dairy writing in Hindi यानि डायरी लिखते समय आपको कैसा फॉर्मेट अपनाना चाहिए । यह जरूरी है कि आप डायरी लेखन प्रारूप पर ध्यान दें और इसी के हिसाब से लिखें ।

दिनांक

डायरी लिखना एक तरह से अपनी यादों को संवारना सहेजना जैसा है । ऐसे में , डायरी एंट्री लिखने से पहले उस घटना या संदर्भ के लिए दिनांक , दिन और समय लिखना बेहद जरूरी है । तभी आप भविष्य में जब भी कोई पन्ना पलटेंगे तो जान पाएंगे कि इसे कब लिखा गया था ।

शीर्षक

दिनांक , दिन और समय के बाद diary writing करते समय आपको हर डायरी एंट्री का एक शीर्षक जरूर देना चाहिए । इससे आपको भविष्य में navigation करने में आसानी होगी । इससे यह भी पता चलता है कि आपकी डायरी एंट्री किस बारे में है ।

कंटेंट

इसके बाद आप अपनी पूरी डायरी एंट्री लिख सकते हैं । इसमें आप अपने मनमुताबिक कुछ भी आसानी से लिख सकते हैं । आप अपने अनुभव , फीलिंग्स या किसी भी दिवस के बारे में विस्तारपूर्वक लिखें ।

हस्ताक्षर

यह वैकल्पिक है कि आप diary entry लिखने के बाद हस्ताक्षर करना चाहेंगे या नहीं । ज्यादातर लोग डायरी एंट्री के बाद अपना signature करते हैं ।

यह Diary entry format 6th to 12th students के लिए है और पर्सनल डायरी लेखन वालों के लिए भी यही फॉर्मेट है । Diary entry examples आप आगे देखेंगे ।

Examples of diary writing in Hindi for students

अब आप देखेंगे examples of diary writing in Hindi जिसमें कुछ ऐसे उदाहरण देखने को मिलेंगे जिन्हें आपको भी ध्यान रखना चाहिए । यह एक छात्र के लिए खासकर जरूरी है कि वे इन उदाहरणों को देखें और समझें ताकि उन्हें परीक्षाओं में मदद मिल सके :

1. कक्षा में प्रथम आने पर डायरी लेखन

रांची

30 अप्रैल 2021 , शुक्रवार

रात्रि 9:43 बजे

आज मैं सबसे ज्यादा खुश हूं क्योंकि आज कक्षा में हमारे वार्षिक परीक्षाओं का अंक घोषित किया गया । शिक्षिका ने जैसे ही प्रथम श्रेणी पर मेरा नाम लिया , मुझे लगा जैसे मैं सपना देख रहा हूं । मैंने दौड़ कर शिक्षिका का आशीर्वाद लिया और उन्हें अपनी इस उपलब्धि के लिए शुक्रिया भी किया । क्योंकि , मेरे प्रथम आने में उनका भी बहुत योगदान रहा है ।

इसके बाद , प्रधानाध्यापक जी ने सभी शिक्षकगण और विद्यार्थियों के सामने मुझे पुरस्कृत भी किया । आज मेरी साल भर की मेहनत रंग लाई । दिन भर मुझे मेरे रिश्तेदारों और दोस्तों से बधाइयां मिलती रहीं । मैं पूरे परिवार के साथ मंदिर भी गया जहां भगवान से मैंने यूंही सफलता प्राप्ति के लिए प्रार्थना की । इसके बाद हम खूब घूमे और एक रेस्त्रा में हमने स्वादिष्ट भोजन भी किया । आज का दिन मेरी जिंदगी के सबसे खुशहाल दिनों में से एक है ।

अंकित

2. प्रतियोगिता परीक्षा में असफल होने पर डायरी लेखन

वाराणसी

29 अप्रैल 2021 , गुरुवार

रात्रि 10:05 बजे

आज मन बहुत उदास है । कल रेलवे भर्ती प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ जिसमें दुर्भाग्य से मैं अनुत्तीर्ण हो गया । मैने अच्छे से इस परीक्षा की तैयारी की थी परंतु मुझे लगता है कि फिर भी कुछ खामियां रह गईं । मेरा हमेशा से सपना रहा है कि मैं रेल विभाग में कार्य करूं परंतु आज के परिणाम ने मुझे निराश कर दिया है । परंतु , मैं बिल्कुल भी नहीं रुकूंगा ।

मैंने इस विफलता पर आत्मनिरीक्षण किया है और पाया कि मुझमें अनुशासन की कमी है । इस बार मैं ज्यादा बेहतर ढंग से और अनुशासन में रह कर रेलवे भर्ती परीक्षा की तैयारी करूंगा और अवश्य सफल होऊंगा । मैं निराश अवश्य हूं परंतु हारा नहीं । मैं फिर से अपने लक्ष्य प्राप्ति के लिए खुद को तैयार करूंगा और इस बार सफल होकर दिखाऊंगा ।

अमन

Examples of personal diary writing

चलिए अब examples of personal diary writing भी मैं आपको दिखाता हूं , जिससे आपको व्यक्तिगत तौर पर डायरी लिखने में मदद मिलेगी :

12 मार्च , 2021

रात्रि 11:52 बजे

डियर बीएफएफ ,

आज मैं बहुत ही ज्यादा खुश हूं । इसका सबसे बड़ा कारण है वो शख्स जिसका नाम तुम्हारे लगभग हर पन्ने पर अंकित है , वेद ! आज पूरे 1 साल बाद मैं उससे मिली । ये long distance relationship का साइड इफेक्ट ही है कि हम आज इतने दिनों बाद मिले । इस महामारी ने तो जैसे लोगों को बिल्कुल ही दूर कर दिया है । इस महामारी की वजह से हम दोनों एक दूसरे से दूर थे , फंसे हुए थे ।

आज हम लोग खूब घूमे , खाया पिया , एक दूसरे के साथ किए वादों को फिर दोहराया और उन्हें पूरा करने की जद्दोजहत ने फिर हमें जुदा कर दिया । बहुत सारी जिम्मेदारियां हैं हमारे ऊपर और ढेर सारे सपने भी जिन्हें मिलकर पूरा करना है । तुम्हें तो पता ही है कि हम दोनों कितना कमाते हैं ! सेविंग्स नाम मात्र की ही है और ऊपर से इतने खर्चे । खैर , आज उससे इतने दिनों के बाद मिलकर मैं उससे लिपटी रही , देर तक । मुझे उसे गले लगाना बहुत पसंद है ।

आंखें उसकी भी नम थीं , शायद मिलने की खुशी होगी या बस कुछ देर मिलकर फिर बिछड़ने का गम ! पर हां , डियर बीएफएफ , यह सिलसिला जल्द ही रुकेगा । जल्द ही हम दोनों साथ साथ रह पाएंगे , अपने सपनों को पूरा कर पाएंगे । आज हम दोनों बनारस घाट पर गए और वहां नाव में सवारी की , शाम को गंगा जी के तट पर दीप भी जलाया और उसे बहाकर ढेर सारी मिन्नतें मांगी । इन सबके बीच लगातार वह मेरा हाथ पकड़ा रहा । वह मेरी बहुत ही ज्यादा केयर करता है ।

रात होते ही फिर उसे वापस जाना पड़ा । हर बार बिछड़ते हुए ऐसा लगता है कि अब यह सिलसिला खत्म होगा । हम दोनों एक दूसरे को दूर जाते देख बिल्कुल नहीं रोते , इससे कहीं न कहीं हिम्मत टूट जाती है । आखिरी वक्त में मैंने उसका हाथ कस के पकड़ा लिया था और उसने मुझे कस के गले लगा लिया । अब फिर न जाने कब मुलाकात होगी ।

संस्कृति

Diary writing tips in Hindi

  • ज्यादा बड़ी डायरी न लें , डायरी ऐसी होकी आप आसानी से उसे एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकें
  • डायरी लिखने का एक समय निर्धारित करें
  • अगर आप डायरी एंट्री में उससे जुड़ी कोई तस्वीर इस्तेमाल करते हैं तो यह ज्यादा सुन्दर लगेगा
  • डायरी लेखन को काम के तौर पर न लें
  • अलग अलग रंगों का कलम इस्तेमाल करें
  • BA के बाद क्या करें ?

How to write diary in Hindi : conclusion

आपने विस्तार से जाना कि how to write diary in Hindi । इसके साथ ही , format of diary writing , examples और tips । इनकी मदद से आप डायरी लेखन कर सकते हैं । डायरी लिखने का सबसे बढ़िया तरीका

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.