Hibernating meaning in Mobile & Laptop in Hindi

हम सभी के पास Mobile और Laptop मौजूद है ही, जिसकी मदद से हम day to day tasks, entertainment इत्यादि करते हैं । लेकिन क्या आपको पता है कि मोबाइल या लैपटॉप में hibernating क्या होता है । आपने अक्सर यह शब्द मोबाइल या लैपटॉप में देखा/पढ़ा होगा लेकिन क्या आप इसका अर्थ जानते हैं ? अगर नहीं तो Hibernating meaning in Mobile & Laptop in Hindi अंत तक पढ़ें ।

आपमें से कई लोगों ने यह भी सुना होगा कि हाइबरनेटिंग की वजह से मोबाइल या लैपटॉप खराब भी हो जाते हैं । तो क्या यह सच है ? इसका उत्तर जानने के लिए और Hibernating meaning जानने के लिए आर्टिकल अंत तक पढ़ें ।

Hibernating meaning in Hindi

किसी भी मोबाइल या लैपटॉप में hiberanting की मदद से आप अपने मोबाइल के सभी operations को पूरी तरह से freeze कर सकते हैं और उन्हें लंबे समय तक बंद कर सकते हैं । इसके बाद आप जब भी चाहेंगे आसानी से उन ऐप्स को वहीं से एक्सेस कर पाएंगे जहां से आपने उसे बंद किया था ।

लैपटॉप में यह एक बढ़िया feature है जिसकी मदद से आप अपने लैपटॉप या मोबाइल की बैटरी को बचा पाते हैं । मोबाइल में भी यह फीचर अक्सर देखने को मिलता है जिसकी मदद से आप अपने मोबाइल की बैटरी को drain होने से बचा सकते हैं । इसे एक उदाहरण से समझिए, मान लीजिए कि आप Excel पर काफी देर से काम कर रहे हैं और रात होने की वजह से लैपटॉप बंद करना चाहते हैं । लेकिन आप नहीं चाहते कि आपकी सारी मेहनत बेकार जाए ऐसे में hibernating mode ऑन कर सकते हैं ।

आप जब अगले दिन अपने डिवाइस को खोलेंगे तो आपके सारे changes, apps, activities जस की टस मिलेंगी जोकि हाइबरनेशन मोड में जाने से पहले ही save हो जाती हैं । जब तक आपका ऐप hibernating mode में होगा, तब तक कोई नोटिफिकेशन या अन्य ऐप एक्टिविटी नहीं हो सकेगी । इस तरह से आपके डिवाइस की बैटरी बचेगी ।

क्या hibernating mode safe है ?

Hibernating mode safe है या नहीं या पूरी तरह से device और users पर निर्भर करता है । अगर आप बार बार हाइबरनेशन मोड का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपके डिवाइस को नुकसान होगा । इस मोड की मदद तभी लें जब आप ज्यादा समय के लिए अपने डिवाइस या ऐप को बंद रखना चाहते हैं ।

इस मोड को on करने पर आपके डिवाइस का राम2 free होता है और उसके साथ ही background resources को खत्म करके आपके डिवाइस को ऑप्टीमाइज करने का काम करता है । अगर आपके डिवाइस में पावर खपत ज्यादा हो रही है या आपका डिवाइस बहुत ही slow down हो गया हो तो आपको इस मोड का इस्तेमाल करना चाहिए ।

हालांकि, इसका ज्यादा इस्तेमाल न करें और ज्यादातर उन्हीं मौकों पर इस मोड को ऑन करें जब आप ज्यादा समय के लिए डिवाइस को बंद रखना चाह रहे हों । इसका बहुत ही ज्यादा इस्तेमाल आपके डिवाइस के performance को degrade करने का कार्य करता है ।

Hibernating, shutdown और sleep में अंतर

कई लोग अक्सर यह प्रश्न पूछते हैं कि Hibernating, Shutdown और sleep में क्या अंतर है । कई लोगों को तो यह भी लगता है कि ये तीनों एक ही चीजें होती हैं । लेकिन इन तीनों में अंतर होता है । तो चलिए इन तीनों के बीच के अंतर को समझते हैं ।

1. Hibernation: इसकी मदद से आप अपने डिवाइस को पूरा shut down कर देते हैं लेकिन जब आप दोबारा डिवाइस खोलते हैं तो आपकी last activities/recent activities saved होती हैं । आप दोबारा से उन्हें access कर सकते हैं और जहां से छोड़ कर गए थे, वहीं से शुरू भी कर सकते हैं । यह mode Windows में आप ऑन कर सकते हैं ।

2. Shutdown: शटडाउन की मदद से आप अपने डिवाइस को पूरी तरह से बंद कर देते हैं जिसके बाद आपके डिवाइस की सारी recent/last activities डिलीट हो जाती हैं । आप जब दोबारा डिवाइस खोलेंगे तो आप पाएंगे कि आपके पिछले changes या जिन ऐप्स को आपने खोला था, वे बंद होकर रिफ्रेश हो चुके होंगे ।

3. Sleep: Sleep एक power saving mode है जो आपके डिवाइस के सभी एप्लीकेशन को बंद कर देता है और आपका डिवाइस low power use मोड पर कार्य करने लगता है । इससे आपकी last/recent activities अपने आप RAM में सुरक्षित हो जाती हैं ताकि आप जब दोबारा से डिवाइस खोलें तो आपको सारी चीजें आसानी से मिल जाएं । हालांकि, यह आपके डिवाइस को पूरी तरह से बंद नहीं करता ।

Conclusion

Hibernating meaning in Hindi के इस आर्टिकल में आपने विस्तार से जाना कि हाइबरनेशन मोड क्या है । इसके साथ ही यह मोड कैसे डिवाइस के लिए safe है या नहीं । आर्टिकल में मैंने hibernating, sleep और shutdown के बीच के difference के भी आपने समझा । अगर अभी भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो उसे कॉमेंट करके जरूर बताएं ।

अगर आपको यह आर्टिकल हेल्पफुल लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें । आप आर्टिकल पर अपनी राय/सुझाव भी दे सकते हैं ।

Ank Maurya - Owner of Listrovert.com

I have always had a passion for writing and hence I ventured into blogging. In addition to writing, I enjoy reading and watching movies. I am inactive on social media so if you like the content then share it as much as possible .

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.