How to Write Acknowledgement in Hindi – 5 Examples

एक Project File में विभिन्न पेज अटैच होते हैं जिनका अपना अपना महत्व होता है । जैसे Table of Contents, Declaration, Bibliography, Acknowledgement आदि की सामग्री अलग अलग होती है और इसका एक प्रोजेक्ट फाइल में काफी महत्व होता है । इस आर्टिकल में हम सिर्फ एक्नोलेजमेंट के बारे में बात करेंगे ।

यह पेज किसी भी प्रोजेक्ट फाइल में काफी महत्वपूर्ण इसलिए होता है क्योंकि इसकी ही मदद से आप आभार व्यक्त करते हैं । इसलिए ही इसे आभारव्यक्ति पृष्ठ भी कहा जाता है जिसकी मदद से आप अपने माता पिता, शिक्षणगण, प्रधानाध्यापक, सहपाठियों आदि को धन्यवाद करते हैं ।

आप इसे किस प्रकार लिखकर तैयार कर सकते हैं, कितने शब्दों का होना चाहिए, यह पेज आवश्यक क्यों होता है जैसे प्रश्नों का उत्तर आपको दिया जायेगा । इससे साथ ही आपको 5 Acknowledgement Examples भी दिए जा रहे हैं जिनसे आपको समझने में आसानी होगी ।

What is Acknowledgement Page

Acknowledgement Page या आभारव्यक्ति पृष्ठ 2 पन्नों का लिखित दस्तावेज होता है जो आमतौर पर किसी किताब, रिसर्च पेपर या प्रोजेक्ट फाइल की शुरुआत में जोड़ा जाता है । इस पृष्ठ के द्वारा उन लोगों को धन्यवाद कहा जाता है जिन्होंने प्रोजेक्ट या किताब को पूरा करने में प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से मदद की हो ।

उदाहरण के तौर पर, आपके प्रोजेक्ट को पूरा करने में शिक्षक काफी मदद करते हैं । वे शुरू से लेकर अंत तक आपको गाइडलाइंस देते हैं कि प्रोजेक्ट कैसे बनाया जाना चाहिए, किन रंगों का इस्तेमाल करें, लिखावट कैसी रखें आदि । इसी प्रकार हमारे माता पिता जो हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए मेहनत करते हैं ताकि हमें किसी चीज की कमी न हो । तो इन्हें आपको धन्यवाद अवश्य देना चाहिए । प्रोजेक्ट फाइल कैसे बनाएं पर ज्यादा जानकारी आप How to Make Project File पर पढ़ सकते हैं ।

How to Write Acknowledgement

Acknowledgement लिखना काफी आसान है और सबसे अच्छी बात तो यह है कि इसके लिए आपको किसी खास फॉर्मेट को अनुसरण करने की जरूरत भी नहीं होती है । हालांकि इसकी शब्द सीमा अवश्य होती है लेकिन कोई खास प्रारूप नहीं होता ।

चाहे आप स्कूल प्रोजेक्ट फाइल के लिए Acknowledgement लिखना चाह रहे हों या किसी किताब के लिए, नीचे दिए टिप्स आपके लिए सहायक साबित होंगे । तो चलिए जानते हैं कि एक्नोलेजनेंट कैसे लिखें:

1. शब्द सीमा का ध्यान रखें

एक्नॉलेजमेंट पेज की एक शब्द सीमा होती है और वह है 200 शब्दों से लेकर 400 शब्दों तक । आपको इतने ही शब्दों में इस पेज को लिखना चाहिए । हालांकि अगर यह किताब के लिए लिखा जा रहा है तो इसकी लंबाई थोड़ी बढ़ जायेगी और फिर यह 500 शब्द से लेकर 1000 शब्दों की हो सकती है । इसी प्रकार रिसर्च पेपर के लिए भी इस पेज की शब्द सीमा लगभग 500 से 1000 शब्दों तक ही रखी जानी चाहिए ।

कई पुस्तकों पर आभारव्यक्ति पृष्ठ सबसे अंत में भी लिखा जाता है लेकिन पाठक फिर भी उसे पढ़ते हैं । अगर आप प्रोजेक्ट फाइल के लिए इसे तैयार कर रहे हैं तो भी इसे अवश्य ही पढ़ा जायेगा । ऐसे में कोशिश करें कि यह एक निश्चित शब्द सीमा को ध्यान में रखकर लिखा जाए ।

2. आभार प्रकट करते समय पूरी जानकारी दें

चाहें आप किसी प्रोजेक्ट फाइल के लिए आभारव्यक्ति पृष्ठ तैयार कर रहे हों या किसी पुस्तक के लिए, आपको आभार व्यक्त करते समय Specific रहना चाहिए । मान लेते हैं कि आप अपने प्रोजेक्ट फाइल में अपने शिक्षक को धन्यवाद कह रहे हैं तो कुछ इस प्रकार लिख सकते हैं:

मैं अपने इतिहास विषय के शिक्षक मिस प्रियंका का सबसे पहले धन्यवाद देना चाहूंगा जिन्हें इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में काफी मदद की । उन्होंने समय समय पर जरूरी दिशानिर्देश दिए और हर वक्त मार्गदर्शन करती रहीं । 

अगर आप इस प्रकार Acknowledgement तैयार करते हैं तो यह ज्यादा ईमानदार लगेगा और इससे जिन्होंने आपकी वाकई मदद की है, उन्हें भी अच्छा लगेगा । इस प्रकार लिखने की वजह से पाठकों या आपके प्रोजेक्ट का मूल्यांकन करने वाले व्यक्ति को भी लगेगा कि छात्र ने सिर्फ प्रोजेक्ट को जैसे तैसे पूरा करने के बजाय पूरे लगन से इसे तैयार किया है ।

3. ईमानदार रहें

Acknowledgement Page लिखते समय आपको सावधानी बरतनी चाहिए और पूरी ईमानदारी दिखानी चाहिए । कई बार लोग कुछ ज्यादा ही तारीफों के पुल बांध देते हैं या कुछ ऐसा लिख डालते हैं जिसपर विश्वास करना भी मुश्किल हो जाता है । आपको पूरी ईमानदारी के साथ इस पृष्ठ में लोगों का धन्यवाद करना है ताकि पाठकों और मूल्यांकनकर्ता को यह अतिशयोक्ति न लगे ।

आपकी जितने भी लोगों ने मदद की, उन्हें दिल से धन्यवाद करें लेकिन शब्दों का भी ध्यान रखें । बेफिजूल और जरूरत से ज्यादा अच्छाई की बातें बिल्कुल भी अच्छी नहीं होती हैं और इससे पाठकों को आपके व्यक्तित्व के बारे में समझ आ जायेगा । बेहतर है कि आप जितना लिखें, ईमानदारी पूर्वक लिखें ।

4. एक्नॉलेजमेंट पेज को प्रोफेशनल रखें

Acknowledgement तैयार करने का कोई विशेष फॉर्मेट तो नहीं है लेकिन इसे प्रोफेशनल तरीके से ही लिखा जाना चाहिए । खासकर कि जब आप अपने प्रोजेक्ट फाइल के लिए एक्नॉलेजमेंट पेज तैयार कर रहे हों तो आपको बेहद सावधानी बरतनी चाहिए और सही शब्दों का ही चुनाव करना चाहिए ।

साथ ही आपको इसे 1st Person में लिखना है यानि खुद को संबोधित करते हुए आपको लोगों को धन्यवाद देना है । इसके साथ ही व्याकरण संबंधी अशुद्धियां करने से बचें क्योंकि यह आपके पाठकों और शिक्षक पर सकारात्मक प्रभाव नहीं डालेगा । यह भी पढ़ें:

5 Examples of Acknowledgement Page

अबतक आप अच्छे से समझ चुके होंगे कि How to Write Acknowledgement यानि एक्नॉलेजमेंट कैसे लिखें । नीचे दिए 5 आभारव्यक्ति पेज के उदाहरण की मदद से आप ज्यादा बेहतर ढंग से जान सकते हैं कि इसे आप कैसे तैयार कर सकते हैं ।

Acknowledgement 1

इस कार्य के दौरान मेरा मार्गदर्शन करने के लिए मैं अपने प्रभारी हिंदी शिक्षक श्रीमती इंदिरा गुप्ता को धन्यवाद देना चाहता हूं । वह हर कदम पर मेरी मदद करने के लिए मौजूद थीं और उनकी प्रेरणा ने ही मुझे इस असाइनमेंट को सफलतापूर्वक पूरा करने में मदद की । मैं उन सभी शिक्षकों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने आवश्यक और महत्वपूर्ण जानकारियां और उपकरण प्रदान करके मेरी मदद की, जिसके बिना मैं इस असाइनमेंट पर प्रभावी ढंग से काम नहीं कर पाता ।

मैं अपने दोस्तों और माता-पिता के प्रति भी अपनी कृतज्ञता व्यक्त करना चाहता हूं, जो मेरे साथ खड़े रहे और मुझे इस असाइनमेंट पर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया ।
Acknowledgement 2

मैं अपने शिक्षक (शिक्षक का नाम) के साथ-साथ हमारे प्रधानाचार्य (प्राचार्य का नाम) के प्रति विशेष आभार व्यक्त करना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे इस विषय पर इस अद्भुत परियोजना को करने का सुनहरा अवसर दिया (विषय का नाम लिखें) , जिसने मुझे बहुत सारे शोध करने में भी मदद की और मुझे बहुत सी नई चीजों के बारे में पता चला, मैं वास्तव में उनका आभारी हूं । 

इसके साथ ही, मैं अपने माता-पिता और दोस्तों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने सीमित समय सीमा के भीतर इस परियोजना को अंतिम रूप देने में मेरी बहुत मदद की ।
Acknowledgement 3

मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जिनके बिना यह परियोजना कार्य वास्तविक रूप में न होता । सबसे पहले, मैं अपने कंप्यूटर विज्ञान शिक्षक श्रीमती प्रतिभा शर्मा को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने अपना अपार समर्थन दिया, अपना समय इसके लिए समर्पित किया और हमें यह समझाया कि इस परियोजना को कैसे बनाया जाए । उनके मार्गदर्शन के बिना, परियोजना पूरी नहीं होती ।

इसमें निहित बात को इंटरनेट से व्यापक रूप से लिया गया है । अखबार के लेख का स्रोत स्टेटिस्टा डॉट कॉम है । इसके साथ ही सांख्यिकी को विकिपीडिया की मदद से लिया गया है । 
Acknowledgement 4

मैं पूरी कक्षा के सामने अपने नियत विषयों पर अपने निष्कर्ष प्रस्तुत करने का अवसर देने के लिए अपने शिक्षकों का आभार व्यक्त करते हुए अर्थशास्त्र पर अपनी परियोजना शुरू करना चाहता हूं । 

मैं अपने परिवार और अपने दोस्तों को भी इस परियोजना के दौरान लगातार मुझे प्रोत्साहित करने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं, जिसे मैं उनके समर्थन और निरंतर प्रोत्साहन के बिना पूरा नहीं कर सकता था ।
Acknowledgement 5

मैं अपने पर्यवेक्षक (नाम) को हार्दिक धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने इस काम को संभव बनाया । उनके मार्गदर्शन और सलाह ने मुझे अपनी परियोजना लिखने के सभी चरणों में आगे बढ़ाया । मैं अपनी समिति के सदस्यों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं कि जिन्होंने अपनी टिप्पणियों और सुझावों को देकर प्रोजेक्ट को पूरा करने में मदद की ।

मैं अपनी पत्नी/पति (नाम) और अपने परिवार को उनके निरंतर समर्थन और समझ के लिए विशेष रूप से धन्यवाद देना चाहता हूं । 

अंत में, मैं भगवान को धन्यवाद देना चाहता हूं कि उन्होंने मुझे सभी कठिनाइयों से गुजरने दिया । मैंने आपके मार्गदर्शन का दिन प्रतिदिन अनुभव किया है । आप ही हैं जिन्होंने मुझे मेरी डिग्री पूरी करने दी । मैं अपने भविष्य के लिए आप पर भरोसा करता रहूंगा।

Conclusion

Acknowledgement किसी किताब या प्रोजेक्ट का वह हिस्सा होता है जिसकी मदद से हम अपने माता पिता, शिक्षक, मित्रों, पति/पत्नी आदि को धन्यवाद कहते हैं और उनके प्रति आभार व्यक्त करते हैं । इस पृष्ठ को तैयार करने का कोई खास फॉर्मेट नहीं है लेकिन इसे पूरी ईमानदारी से लिखा जाना चाहिए और साथ ही यह प्रोफेशनल होना चाहिए ।

आपको कुल 5 Acknowledgement Examples दिए गए हैं और साथ में कुछ टिप्स भी, जिनकी मदद से आप खुद का एक आभार ज्ञापन पृष्ठ बनाकर तैयार कर सकते हैं । अगर आपके मन में इस विषय से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो नीचे कमेंट करके जरूर बताएं । साथ ही आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें ।

Leave a comment