Coding क्या है और कैसे सीखें – What is coding in Hindi and how to learn

आज के इस पोस्ट में आप जानेंगे कि Coding kya hai और coding kaise sikhe ! पर उससे पहले मैं एक Quote आपके सामने रखना चाहूंगा –

” Learning to write programs stretches your mind , and helps you think better , creates a way of thinking about things that I think is helpful in all domains . ”

— Bill Gates, Co-Chairman, Bill & Melinda Gates Foundation, Co-Founder, Microsoft

इसका अर्थ है कि प्रोग्राम लिखना आपके दिमाग की exercise करता है और आपको ज्यादा बेहतर चीजें सोचने मे मदद करता है जिसकी वजह से आप हर क्षेत्र में काफी बेहतर कर पाते हैं । यह शब्द Microsoft के Co Founder बिल गेट्स के हैं । Programming का आज की दुनिया में बहुत ही ज्यादा महत्व है ।

आज के समय में दुनिया काफी आगे बढ़ चुकी है और तकनीक क्षेत्र में काफी विकास हुआ है । दुनिया में Machine Learning और Artificial Intelligence की मदद से नई नई चीजें विकसित की जा रही हैं और भविष्य को ज्यादा बेहतर बनाने की होड़ मची है । ऐसे में अगर आप coding सीखते हैं तो आप भी इस क्रांति का हिस्सा बन सकते हैं ।

इस पोस्ट में हम आपको coding kya hai और coding kaise sikhe के बारे में विस्तार से बताएंगे ताकि आप इस फील्ड के बारे में जान सकें और यह निर्णय ले सकें कि आपको इसमें आगे बढ़ना है या नहीं ।

Coding क्या है ?

Coding kya hai
coding kya hai ? – img src – freepik

Coding जिसे computer programming भी कहते हैं , किसी भी कंप्यूटर से communicate करने का एक तरीका है । कोडिंग के माध्यम से हम किसी भी कंप्यूटर को यह बताते हैं कि उन्हें क्या और कैसे करना है । कोडिंग सीखने के बाद आप Apps , websites , cool stuffs बना सकते हैं ।

उदाहरण के तौर पर यह नीचे दिया हुआ code आप देख सकते हैं –

<!DOCTYPE html>
<html>
<body>

<h2>Italian Trulli</h2>
<img src="pic_trulli.jpg" alt="Italian Trullti" style="width:100%">

</body>

</html>

जब आप इस code को run करेंगे तो आपको यह image दिखेगी –

Coding example in Hindi
Beautiful town of Alberobello with trulli houses among green plants and flowers, main touristic district, Apulia region, Southern Italy

तो इस तरह आप समझ गए कि coding kya hai ! आप सिर्फ codes लिख कर ही images , videos , text , grahics , apps , tools , websites इत्यादि बना सकते हैं ।

Benefits of coding in Hindi

क्या आप जानते हैं कि coding के क्या फायदे होते हैं ? अगर नहीं तो चलिए हम आपको बताते हैं इसके जबरदस्त फायदों के बारे में , जिसके बारे में जानकर आप इसको सीखने के लिए उत्सुक हो जाएंगे –

1. इसमें कैरियर बनाना बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है

भारत सही पूरे विश्व में digitalisation ने जो रफ्तार पकड़ी है , वह काबिले तारीफ है । ऐसे में , programmers और tech से जुड़े लोगों की मांग देश विदेश में काफी बढ़ गई है । जो लोग Programming से जुड़े हैं उनकी salary भी काफी ज्यादा होती है और उनका समाज में सम्मान भी काफी होता है । चलिए हम आपको Coding से जुड़े अलग अलग jobs में मिलने वाली salaries के बारे में बताते हैं ।

ये सभी डाटा Payscale से लिया गया है और नीचे दिए गए सभी salary data भारत के हिसाब से दिए गए हैं –

1. Data scientist salary in India – Experience और skill के हिसाब से आपकी सैलरी अलग अलग हो सकती है –

  • Entry Level Data Scientist – ₹ 5,00,000 / साल
  • 1 से 4 साल तक का अनुभव – ₹ 6,10,811 / साल
  • 5 से 9 साल तक का अनुभव – ₹ 10,04,482 / साल
  • senior level data scientist – 17,00,000 / साल

2. Artificial Intelligence / Machine Learning – इनकी average annual salary लगभग 6,71,548 रुपए होती है । Senior level engineers जिनका फील्ड मेंं अनुुुुभव 10 साल से भी ज्यादा है उनकी एक साल की सैलरी 20,00,000 रुपए या उससे भी ज्यादा होती है ।

3. Web Developers – Glassdoor.in के मुताबिक , भारत में एक python web developer की हर महीने की सैलरी 43,500 रुपए की होती है । यह जगह और कंपनी पर निर्भर करता है । Entry Level developers की सैलरी लगभग 2,25,000 रुपए की होती है । अगर आपके पास 10 साल या उससे ज्यादा का अनुभव है तो आप भारत में 10,00,000 रुपए से ज्यादा कमा सकते हैं ।

2. Coding से जुड़े नौकरियों की मांग बहुत ज्यादा

अगर आप coding से जुड़ी किसी भी नौकरी को करना चाहते हैं तो आप demand में होंगे ! यह मैं नहीं , data कहते हैं । चलिए देखते हैं Bureau of Labor Statistics के आंकड़ों को और देखते हैं कि किस profession की कितनी ज्यादा मांग है –

Coding related job demand %ge
  • Web developers: 13%
  • Network and computer systems administrators: 5%
  • Computer programmers: -7%
  • Database administrators: 9%
  • Software developers: 21%

3. Creativity का विकास होता है

जब आप coding करते हैं तो आप नई नई चीजें बनाते हैं । Coding की मदद से आप amazing tools , apps , websites इत्यादि बनाते हैं जिससे आपकी रचनात्मकता बढ़ती है । आप ज्यादा से ज्यादा चीजें design करने लग जाते हैं । आप वे चीजें भी डिजाइन करने लग जाते हैं जो अब तक लोगों को पता ही नहीं थी और आप उनकी जिंदगी में एक बड़ा बदलाव कर पाते हैं ।

आप बस इतना सोचें कि आपके पास जितने भी बेहतरीन apps मौजूद हैं , जो tools आपकी जिंदगी को आसान करते हैं , जिन वेबसाइट को आप subscribe करते हैं वे सभी coding करके ही बनाई गई हैं । इससे आप समझ सकते हैं कि coding कितनी ज्यादा फायदेमंद है और इससे कैसे आपकी रचनात्मकता का विकास होता है ।

4. यह आपके अंदर problem solving skill का विकास करता है

Coding करने से आपके अंदर किसी भी समस्या के हल करने की skill का विकास होता है । यह इसलिए क्योंकि coding की मदद से वे ढेरों अलग अलग प्रकार के tools और software डिजाइन करते हैं और लोगों की समस्याओं का समाधान करते हैं । इस वजह से उनका दिमाग विकसित होता है और उनमें किसी भी समस्या को जल्दी हल करने की क्षमता को विकास होता है ।

Coding और Programming में क्या अंतर है ?

Coding ढेरों अलग अलग प्रकार के codes को लिखने की एक प्रक्रिया है जिसमे अलग अलग भाषाओं में instruction के हिसाब से कोड लिखा जाता है । तो वहीं , Programming किसी भी मशीन को codes के माध्यम से instruction देते हुए program करना है और पूरी तरह से functional बनाना होता है ।

Want to know – Search Engine Optimization क्या है ?

Coding करने के लिए आपके पास अगर basic knowledge भी है तो आप यह कर सकते हैं परन्तु programming करते समय आपको complex knowledge होनी चाहिए । कोडिंग की मदद से इंसानी भाषा को कंप्यूटर के binary language में बदला जाता है तो वहीं programming में कोडिंग के एक सेट की मदद से किसी भी कंप्यूटर को कोई task complete करने के लिए instructions दिए जाते हैं ।

Coding सीखने की शुरुआत कहां से करनी चाहिए ?

1. HTML

सबसेे पहले एक learner को HTML से कोडिंग सीखने की शुरुआत करनी चाहिए । सबसे पहले यह सीखें कि आप कैसे एक HTML page को बना सकते हैं ।

HTML की शुरुआत सबसे पहले इसी उद्देश्य से की गई थी ताकि कोई भी लेखक अपने documents को एक रीडर के सामने World Wide Web के माध्यम से सही ढंग से पेश कर सके । एक HTML Page की coding का एक उदाहरण –

<!DOCTYPE html>
<html>
<body>
<h1>My First Heading</h1>
<p>My first paragraph.</p>
</body>
</html>

2. CSS

CSS ( Cascading Style Sheets ) का उपयोग किसी भी ब्राउज़र पेज के layout को डिजाइन करने के लिए किया जाता है । इसे font , background colour , animation , hyperlinks इत्यादि को डिजाइन करने के लिए उपयोग में लाया जाता है ।

यह आपके वेब पेज की readability और ease of use के लिए जिम्मेदार है । एक CSS code कुछ ऐसा होता है –

<h1 style="color:blue;">A Blue Heading</h1>

<p style="color:red;">A red paragraph.</p>

3. Javascript

Javascript एक text आधारित प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होता है जिसे Client और server , दोनों तरफ से इस्तेमाल किया जाता है जिसकी वजह से web pages को interactive बनाया जाता है । जहां CSS और HTML किसी वेब पेज को style और structure प्रदान करते हैं तो वहीं javascript वेब पेज को ऐसे elements देता है जिसकी वजह से वेब पेज interactive बन पाता है ।

आप Javascript अवश्य सीखें क्योंकि इसकी मांग देश विदेश में काफी ज्यादा है । इसका एक उदाहरण –

<script>
document.getElementById("demo").innerHTML = "Hello JavaScript!";</script>

Coding कैसे सीखें ?

अगर आप जानना चाहते हैं कि coding kaise sikhe ? तो हम आपको बताने वाले हैं ऐसे 3 top free तरीके जिनकी मदद से आप आसानी से कोडिंग सीख सकते हैं । चलिए जानते हैं इन तरीकों के बारे में –

1. W3SCHOOLS

W3SCHOOLS कोडिंग और वेब डेवलपमेंट सीखने वालों के लिए free online learning platform है । व्यक्तिगत तौर पर मैं आपको इसे recommend करूंगा कि एक बार इसकी मदद से कोडिंग सीखें । इनका सिखाने का तरीका सच में काफी बेहतरीन है । इसके साथ ही ये इस फील्ड में सबसे पुराने हैं इसलिए इन्हें काफी अच्छे तरीके से आता है कि कोडिंग कैसे सिखाएं ।

आपको इन चीजों से शुरू करना चाहिए –

2. Skillcrush FREE coding camp

Skillcrush भी आपको बड़े ही बेहतरीन और आसान भाषा में coding करना सिखाते हैं । यह पूरी तरह से beginner friendly है यानि अगर आपको कोडिंग के बारे में कुछ भी नहीं पता तो भी आप इनका FREE course कर सकते हैं । आप हर दिन अगर 5 मिनट भी इनके कोर्स की मदद से सीखते हैं तो भी काफी बेहतर है ।

आप खुद से codes भी लिख सकते हैं । आपको कुछ ही दिनों में यह भी पता चल जाएगा कि क्या कोडिंग आपके लिए सही है ! एक बार sign up जरूर करें ।

3. Khan Academy

Khan Academy एक non – profit एजुकेशनल प्लेटफॉर्म है जो लोगों को free educational tools प्रोवाइड कराता है । इसमें कोडिंग से जुड़े ढेरों चीजों included हैं जिसे आपको beginner के तौर पर अवश्य सीखनी चाहिए । Khan Academy की मदद से आप सीखेंगे –

4. YouTube की मदद से coding सीखें

आप YouTube की मदद से भी coding सीख सकते हैं । यूट्यूब की मदद से इसे सीखना इसलिए ज्यादा बेहतर है क्योंकि आप visually सभी चीजें देख और समझ रहे होते हैं । कुछ Channels के links मैंआपको नीचे दे रहा हूं , जिसपर क्लिक करके आप कोडिंग सीख सकते हैं –

ये कुछ channels हैं जिनकी मदद से आप FREE में और आसानी से coding सीख सकते हैं । अगर आपके हिसाब से अन्य channels भी हैं जो बढ़िया तरीके से कोडिंग सिखाते हैं तो नीचे comment box में बताएं ।

5. Course की मदद से coding सीखें

आप offline course करके भी कोडिंग सीख सकते हैं । लोग ज्यादातर offline courses ही करते हैं । अगर आप जानना चाहते हैं कि आपके area में ऐसे कौन कौन से coaching institutes हैं जो कोडिंग सिखा रहे हैं तो आप गूगल में ” coding & programming course coaching centres near me ” सर्च कर सकते हैं ।

आपको अपने आस पास के सभी coaching institutes मिल जाएंगे जो आपको प्रोग्रामिंग और कोडिंग सिखाएंगे । याद रखें कि आपको सबसे पहले HTML से शुरुआत करनी है । हालांकि , आप मनचाहा कोर्स सीख सकते हैं पर basics से शुरू करना ज्यादा बेहतर होता है ।

FAQs on Coding Kya Hai ?

चलिए अब बात करते हैं ऐसे Frequently Asked Questions के बारे में जो coding kya hai से जुड़े पूछे जाते हैं –

1. कौनसा Programming Language सीखना सबसे बढ़िया है ?

Programming Language सीखने की शुरुआत HTML और CSS से करनी चाहिए । इसको सीखने के बाद आप Javascript भी सिख सकते हैं । Javascript भी सीखना फायदे का सौदा है क्योंकि किसी भी ऐप को बनाने के लिए इसी का उपयोग किया जाता है । इसके अलावा आप आगे जाकर किस फील्ड में कैरियर बनाना चाहते हैं , यह भी निर्भर करता है ।

2. क्या Graphic Designing और Coding दोनों साथ साथ सीखना मुमकिन है ?

अगर आपका interest इन दोनों फील्ड में है तो आपको अवश्य दोनों एक साथ सीखना चाहिए । दोनों के बारे में जानकारी होने से आपको भविष्य में कैरियर बनाने में आसानी होगी । पर यह तभी सही रहेगा जबकि आप दोनों सही ढंग से मैनेज कर पा रहे हैं ।

3. Python 2 और Python 3 में से क्या सीखना चाहिए ?

आपको Python 3 सीखना चाहिए क्योंकि बदलते समय के साथ यह ज्यादा advanced है और इसे सीखना ज्यादा फायदेमंद है । अगर आप नौकरी करना चाहते हैं तो आपके लिए Python 3 का सीखना ज्यादा जरूरी है । हालांकि , आप Python 2 भी सिख सकते हैं ।

4. क्या कोडिंग सीखने के लिए मुझे रुपए खर्च करने चाहिए ?

इसका अर्थ है कि आप पूछ रहे हैं कि क्या आपको Coding सीखने के लिए paid course करना चाहिए या नहीं । तो इसका उत्तर है कि यह आप पर निर्भर करता है । अगर आप paid courses करते हैं तभी जाकर आप job ready हो पाएंगे । इसके अलावा coding free courses सिर्फ आपको कोडिंग से जुड़ी सामान्य जानकारियां ही उपलब्ध कराता है ।

5. App बनाने के लिए कौनसा course करें ?

किसी App को बनाने के लिए आपको ढेरों अलग अलग प्रकार के courses करने पड़ सकते हैं । आप यह Post पढ़कर जान सकते हैं कि आपको कौनसा courses करना चाहिए और क्यों ।

6. बच्चों को कोडिंग करना कैसे सिखाएं ?

अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे Coding करना सीखें और cool stuffs बनाएं तो आप code.org और Khan academy की मदद ले सकते हैं । यह बच्चों द्वारा कोडिंग सीखने के लिए सबसे बढ़िया वेबसाइट्स हैं ।

7. Cybersecurity के बारे में कैसे सीखें ?

आज के समय में Cybersecurity की डिमांड काफी बढ़ गई है और कंपनियां इसमें जानकर लोगों को hire कर रही है । ऐसे में Cybersecurity के बारे में और इसके कोर्स पर पूरी जानकारी के लिए cyber security in hindi का यह डिटेल पोस्ट पढ़ सकते हैं । इसके अलावा आप Udemy , edX और Coursera की मदद से भी इसे सिख सकते हैं ।

Coding kya hai – coding kaise sikhe ?

तो इस पोस्ट में आपने विस्तार से जाना कि coding kya hai और coding kaise sikhe ! अगर आपके मन मे अभी भी कोई प्रश्न हैं तो अभी कॉमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछें । हम हर प्रश्न का जवाब देते हैं । साथ ही अगर आपसे परिचित कोई भी इंसान जो कोडिंग सीखना चाहते हैं उनसे यह पोस्ट शेयर करें ताकि वे भी इसके बारे में जान सकें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

2 thoughts on “Coding क्या है और कैसे सीखें – What is coding in Hindi and how to learn”

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.