Book summary in Hindi – किताब का सारांश क्या है और कैसे लिखें ?

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में किताबें पढ़ना आसान नहीं रह गया है । किताब पढ़ने का मजा ही तब है, जब उसे सुकून से पढ़ा जाए । परंतु वर्तमान की व्यस्त जिंदगी में लोग किताबें पढ़ने के लिए समय नहीं निकाल पाते । परंतु जिन्हें पढ़ने का शौक है वे पूरी किताब न सही, कम से कम किताब का सारांश जरूर पढ़ते हैं । किताब का सारांश यानि Book summary जिसके बारे में मैं आपको इस आर्टिकल में बताऊंगा ।

मैं न सिर्फ आपको इस आर्टिकल में ढेरों बेहतरीन किताबों का Book summary उपलब्ध कराऊंगा बल्कि यह भी बताऊंगा कि किताब का सारांश आप कैसे लिख सकते हैं । ज्यादातर स्कूली या कॉलेज के छात्रों को किसी किताब का सारांश लिखने के लिया दिया जाता है । उनके लिए यह आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण होगा । मैं आपको उदाहरण सहित सारांश लेखन समझाऊंगा ।

What is book summary in Hindi

Book Summary या किताब का सारांश किसी किताब का एक छोटा रूप होता है । इसकी मदद से हम आसानी से यह समझ पाते हैं कि मूल किताब की कहानी या विषयवस्तु क्या है । जब किसी पुस्तक की सारी जानकारियो का निचोड़ हम काफी छोटे रूप में निकालते हैं तो उसे किताब का सारांश कहा जाता है ।

अगर आपके पास किसी किताब को पूरा पढ़ने का समय नहीं है परंतु आप जानना चाहते हैं कि किताब की कहानी या संदेश क्या है तो आप उसके सारांश को पढ़ सकते हैं । सारांश दो शब्दों से मिलकर बना है – सार + अंश यानि किसी भी किताब का सार यानि निष्कर्ष छोटे रूप में ।

Book Summary Examples

सबसे पहले आपको नीचे दिए गए सभी book summaries को देखना और पढ़ना चाहिए ताकि आप इसके स्वरूप को अच्छे से समझ सकें । मैंने कुछ किताब सारांश के उदाहरण दिए हैं जिन्हें आप पढ़ सकते हैं ।

1. Attitude is everything book summary in Hindi

Attitude Is Everything एक self help book है जिसे Jeff Keller ने लिखा है । इस किताब के माध्यम से पाठकों को बताया गया है कि हमारा नजरिया हमारे जीवन को सीधे तौर पर प्रभावित करता है । हम परिस्थितियों और अन्य लोगों के प्रति कैसा नजरिया रखते हैं, यही निर्णय करता है कि हम कैसे हैं और कैसे बनेंगे । इस किताब में आपको कुल 13 lessons मिलेंगे जिनमें मनुष्य के attitude को केंद्र में रखा गया है ।

अब अगर आप इस किताब को पढ़ने के इच्छुक तो हैं परंतु पूरी किताब पढ़ने के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं । इसके अलावा, अगर आप सिर्फ किताब की मूल बातों को ग्रहण करना चाहते हैं तो इसकी summary को पढ़ सकते हैं । मैंने एटीट्यूड इज एवरीथिंग के chapter wise book summary को कवर किया है जिसे आप पढ़ सकते हैं ।

2. Jeet Aapki book summary in Hindi

अगली self help book का नाम Jeet Aapki है जिसे शिव खेड़ा जी ने लिखा है । यह एक international bestseller किताब है जो आपको सफल होने के रहस्यों को बताती है । किताब की सबसे अच्छी बात यह है कि शिव खेड़ा जी ने किताब के लगभग हर अध्याय में कहानियों और real life examples की मदद से सिख दी है । अगर आप नकारात्मक विचारों से भरे हैं, जीवन से हार चुके हैं या सफल होना चाहते हैं तो इस किताब को जरूर पढ़ें ।

इसके अलावा, अगर आप चाहें तो पूरी की पूरी किताब न पढ़कर सिर्फ इसकी book summary भी पढ़ सकते हैं । मैंने नीचे दिए लिंक में chapter wise इस किताब का सारांश आपके लिए उपलब्ध कराया है । इसके अलावा, मैंने किताब का review और कुछ कहानियों को भी आर्टिकल में जोड़ा है ।

3. Ikigai book summary in Hindi

अगली पुस्तक का नाम Ikigai है जिसका अर्थ है जीवन जीने का मकसद यानि reason for being । इस किताब का मुख्य मकसद है कि लोग अपने जीने के सही मकसद को खोजें । इसके साथ ही इस किताब में लंबी आयु और स्वास्थ्य पर भी काफी बात की गई है । किताब जापान के एक आइलैंड Okinawa पर आधारित है जहां लोग लंबी आयु सीमा वाले हैं । इसके अलावा, वे अन्य लोगों से काफी स्वस्थ भी है ।

परंतु, देश दुनिया के ज्यादातर लोग अपने जीवन से खुश नहीं है, उन्हें हर सुबह उठकर किसी कार्य के लिए excitement नहीं होती और न ही वे स्वस्थ होते हैं । ऐसा क्यों ? इसका उत्तर आपको इस किताब में मिलेगा । अगर आप अपने जीवन के मकसद को प्राप्त करके खुशहाल जीवन जीना चाहते हैं तो किताब पढ़ सकते हैं । परंतु, अगर आप पूरी किताब नहीं पढ़ना चाहते तो इसकी book summary भी पढ़ सकते हैं ।

मुझे आशा है कि आप किताब का सारांश क्या है और कैसा होता है समझ गए होंगे । मैंने 3 किताबों के बुक समरी की मदद से आपको समझा दिया है कि यह क्या होता है । चलिए अब जानते हैं कि अगर आपको किसी किताब की summary लिखने को कहा जाए तो आप क्या करेंगे ?

Book Summary कैसे लिखें ?

मैं आपको कुल 9 बिंदुओं की मदद से समझाऊंगा कि एक बेहतरीन book summary kaise banaye ?

1. सारांश हमेशा छोटे छोटे पैराग्राफ में लिखें

जब भी आप किसी किताब का सारांश लिखने जाएं तो कोशिश करें कि पूरा सारांश छोटे छोटे पैराग्राफ में बंटा हो । मैंने ऊपर जितने भी किताबों के सारांश का लिंक आपको दिया है, उन्हें पढ़कर आप देख सकते हैं कि मैंने कैसे अनुच्छेदों में पूरे सारांश को लिखा है । छोटे छोटे पैराग्राफ में लिखने से पढ़ने और समझने में काफी आसानी होती है ।

जब किताब लिखा जाता है तो उसमें कम ही पैराग्राफ पर ध्यान दिया जाता है । परंतु आको सारांश लेखन में यह बिल्कुल भी नहीं करना है ।

2. किताब के परिचय से सारांश लेखन की शुरुआत करें

अगर आप किसी किताब का सारांश लेखन करने जा रहे हैं तो सबसे पहले उस किताब का पूरा परिचय देना चाहिए । आप चाहें तो एक पूरे पैराग्राफ में किताब का परिचय दे सकते हैं या 1 से 2 लाइनों में भी परिचय समेट सकते हैं ।

  • किताब का शीर्षक
  • किताब का लेखक
  • किताब के अध्याय
  • किताब का मुख्य उद्देश्य

ऊपर दिए गए इन बिंदुओं को ध्यान में रखकर आप परिचय लिख सकते हैं । इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि पाठक किताब की बेसिक जानकारियां समझ जाते हैं । यह एक जरूरी स्टेप है जिसे जरूर फॉलो करें ।

3. Book summary को अपने शब्दों में लिखें

अगर आप किताब की पंक्तियो को ज्यों का त्यों उठाकर सारांश में लिखते जायेंगे तो यह सारांश नहीं माना जायेगा । सारांश लेखन में आपको अपने शब्दों का उपयोग करना चाहिए । अपने शब्दों में book summary लिखने के लिए आपको सबसे पहले मूल कहानी या किताब को ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा ।

इसके साथ ही, पढ़ते समय अगर आप important points का नोट्स तैयार करते जाएं तो आपको सारांश लेखन में मदद मिलेगी । अगर आप दूसरी भाषा में किताब या कहानी पढ़ रहे हैं तो उसे अपनी भाषा में लिखना थोड़ा मुश्किल जरूर हो सकता है इसलिए आप translation apps & tools की मदद भी ले सकते हैं ।

4. सारांश लेखन में व्यक्तिगत विचार न लिखें

मैंने व्यक्तिगत तौर पर यह देखा है कि ज्यादातर लोग किताब का सारांश लिखते समय अपने विचार भी लिख डालते हैं । इससे आप किताब के साथ अन्याय कर रहे हैं । सारांश में केवल मूल पाठ के विचार होते हैं इसलिए इसमें अपनी कोई राय, व्याख्या या टिप्पणी न डालें ।

हालांकि, जब आप book review लिखें तो अपनी राय, व्याख्या या टिप्पणी जरूर लिखें । परंतु किताब की समीक्षा लिखना और सारांश लिखना दोनों अलग अलग चीजें हैं, इसका ध्यान रखें । अगर आप किताब की समीक्षा पर ज्यादा जानकारी चाहते हैं तो Book review in Hindi आर्टिकल जरूर पढ़ें ।

5. मुख्य लेखक के Quotations को जोड़ें

कोई भी किताब उसके लेखक के विचारों का एक पुलिंदा होती हैं । एक लेखक जब किताब या कहानी लिखता है तो उसमें अपनी राय, विचार या टिप्पणी भी देता है । इन टिप्पणियों को आप किताब का सारांश लिखते समय इस्तेमाल कर सकते हैं । इसके अलावा, लेखक के विचार केस समर्थन में आप किताब के ही passages को ज्यों का त्यों लिख सकते हैं ।

उदाहरण के तौर पर, लेखक कहते हैं कि ” ____ ” । उन्होंने अपनी बात के समर्थन में _____ स्रोत और उदहारण का जिक्र करते हुए लिखा है कि ______ । आप इसी प्रारूप में लेखक को quote करते हुए उनके समर्थन में किताब के pasages को लिख सकते हैं ।

6. शब्द सीमा का ध्यान रखें

जब आप book summary लिखते हैं तो आपको ध्यान में रखना है कि यह ज्यादा बड़ा न हो । आप 10 पन्नों के अध्याय या कहानी को मात्र 1 से 2 पन्नों में समेट सकते हैं । किताब के सारांश हमेशा छोटे होते हैं जिनमें पूरी किताब का निचोड़ होता है ।

एक तय शब्द सीमा में सारांश लिखने के लिए यह जरूरी है कि आप शब्दों या वाक्यों को बार बार न दोहराएं । इसके साथ ही एक summary paragraph में ज्यादा से ज्यादा 7 या 8 sentences को ही जगह दें । अपने अनुच्छेद को स्पष्ट और संक्षिप्त रखने के लिए कहानी को मूल बात को समझें और to the point लिखते चले जाएं ।

7. अंत में निष्कर्ष लिखें

Book summary के अंत में आपको किताब या कहानी का निष्कर्ष लिखना चाहिए । निष्कर्ष लिखने के लिए आप किताब के मुख्य संदेश को दोबारा से लिख सकते हैं । हालांकि, किताब का निष्कर्ष लिखना उतना भी महत्वपूर्ण नहीं है इसलिए आप इसे चाहें तो नहीं भी लिख सकते हैं ।

Conclusion

मुझे उम्मीद है कि आपको Book summary in Hindi का यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आपकी इससे अवश्य मदद हुई होगी । अगर आप इस विषय से संबंधित अन्य जानकारियां चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके बता सकते हैं । मैं आपके सभी प्रश्नों का जवाब अवश्य दूंगा ।

इसके साथ ही आप अपने सुझाव या राय भी कॉमेंट कर सकते हैं । अगर आपको आर्टिकल हेल्पफुल लगा तो इसे दूसरों के साथ शेयर करना न भूलें ।

पसंद आया ? शेयर करें 😊

Leave a comment