Medium of Instruction Meaning in Hindi – निर्देश का माध्यम क्या है ?

अक्सर स्कूलों या शिक्षण कार्यों से जुड़े कार्यों में Medium of Instruction की बात आती है । इसके अलावा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी अक्सर निर्देश के माध्यम पर विशेष ध्यान दिया जाता है । इस पंक्ति का उपयोग तब किया जाता है जब किसी विषय को समझाने के कई विकल्प सामने होते हैं । इसका मुख्य रूप से शिक्षण कार्यों में ही इस्तेमाल किया जाता है ।

इस लेख में आप विस्तार से जानेंगे कि Medium of Instruction Meaning in Hindi क्या है ? इसके साथ ही इसके कितने प्रकार होता हैं, विभिन्न उदाहरण और उपयोग । अगर आप एक शिक्षक या छात्र हैं तो इसकी पूरी जानकारी आपको अवश्य होनी चाहिए ।

Medium of Instruction Meaning in Hindi

Medium of Instruction को हिंदी में निर्देश का माध्यम कहा जाता है । यह उस मीडिया को परिभाषित करता है जिसके माध्यम से शिक्षक छात्रों को निर्देश प्रदान करते हैं और छात्रों व शिक्षकों के बीच संवाद स्थापित होता है ।

इसके अलावा इसे हम भाषा के आधार पर भी परिभाषित कर सकते हैं । कहा जा सकता है कि निर्देश का माध्यम शिक्षक द्वारा पढ़ाने के लिए उपयोग की जाने वाली भाषा है । उदाहरण के तौर पर एक कक्षा में कई भाषा के छात्र हो सकते हैं परंतु अंग्रेजी भाषा सबके लिए समझनी आसान है इसलिए यहां मीडियम ऑफ इंस्ट्रक्शन अंग्रेजी भाषा को कहा जायेगा ।

Different Types of Medium of Instruction

Medium of Instruction यानि निर्देश का माध्यम के कई प्रकार हैं जिनके बारे में हम संक्षेप में समझेंगे । सबसे पहले जानते हैं कि इसके कितने प्रकार हैं:

  • Distance Learning
  • Face-to-face instruction
  • Center-based instruction
  • Correspondence instruction
  • Independent study
  • Internship
  • Videotaped/prerecorded video
  • Televised

अब हम एक एक करके सभी प्रकारों के बारे में संक्षेप में समझेंगे ।

1. Distance Learning

आपने अक्सर Distance Learning के बारे में सुना होगा । जब बात आती है डिस्टेंस लर्निंग की तो सबसे पहले The Indira Gandhi National Open University (IGNOU) का नाम आता है । दूर – शिक्षण शिक्षक का एक महत्वपूर्ण माध्यम या प्रकार है ।

ऐसे पाठ्यक्रम में छात्र की भागीदारी जहां केबल टेलीविजन, उपग्रह कक्षाओं, वीडियो टेप या पत्राचार पाठ्यक्रमों के माध्यम से शैक्षिक सामग्री प्रदान की जाती है, Distance Learning कहलाती है ।

2. Face-to-face instruction

Face-to-face instruction का उदाहरण आप अपनी ऑफलाइन कक्षा को ले सकते हैं । इसमें शिक्षक और छात्र एक दूसरे के सामने बैठ कर teaching learning process में हिस्सा लेते हैं । हम कह सकते हैं कि यह पारंपरिक कक्षा का प्रतिनिधित्व करता है ।

आमने-सामने निर्देश तब होता है जब किसी शैक्षणिक संस्थान के प्रशिक्षक और छात्र निर्देश के लिए समर्पित स्थान पर होते हैं । यह एक महत्वपूर्ण और सबसे प्रमुख Medium of Instruction है ।

3. Center-based instruction

Center-based instruction में सामग्री या गतिविधि क्षेत्रों के आधार पर केंद्रों का आयोजन किया जाता है । एक कक्षा में नाटक खेलने, पढ़ने, कला, विज्ञान और ब्लॉक के लिए अलग-अलग केंद्र हो सकते हैं । ऐसा कई शिक्षण संस्थानों में देखने को मिलता है कि हर विषय के लिए अलग अलग शिक्षण केंद्र बनाए जाते हैं ।

4. Correspondence instruction

Medium of Instruction का अगला प्रकार है Correspondence instruction यानि पत्राचार निर्देश । पत्राचार शिक्षा एक औपचारिक शैक्षिक प्रक्रिया है जिसके तहत संस्था उन छात्रों को, जो प्रशिक्षक से अलग हो गए हैं, परीक्षा के लिए सामग्री सहित, मेल या इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसमिशन द्वारा निर्देशात्मक सामग्री प्रदान करती है ।

5. Independent study

Independent study को हिंदी में स्वच्छंद अध्ययन कहा जाता है । इसे निर्देशित अध्ययन के रूप में भी जाना जाता है, यह निर्देश प्रकार कई उच्च विद्यालयों, कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों द्वारा दी जाने वाली शिक्षा का एक रूप है, जहां एक व्यक्तिगत छात्र द्वारा बहुत कम या बिना किसी पर्यवेक्षण के पाठ्यक्रम चलाया जाता है ।

इस प्रकार के शिक्षण में छात्र को प्रशिक्षक उपलब्ध नहीं कराया जाता है । छात्र को सिर्फ और सिर्फ शिक्षण सामग्री या निर्देश प्रदान किया जाता है जिसके बाद छात्र स्वयं से शिक्षण कार्य पूर्ण करता है ।

6. Internship

आप सभी ने कभी न कभी Internship के बारे में जरूर सुना होगा । कोई भी स्थाई नौकरी करने से पहले उस नौकरी को करने से जुड़ा प्रशिक्षण प्राप्त किया जाता है जिसे इंटर्नशिप या प्रशिक्षुता कहा जाता है । तो इस तरह आप कह सकते हैं कि कभी कभी बिना वेतन के, शैक्षिक और नौकरी के लिए जरूरी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए जरूरी अनुभव ग्रहण करने हेतु कार्य करना इंटर्नशिप होता है ।

अगर आप इंटर्नशिप के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं और खुद भी इंटर्नशिप करना चाहते हैं तो नीचे दिया आर्टिकल अवश्य पढ़ें ।

7. Videotaped/prerecorded video

आप नाम से ही समझ गए होंगे कि Medium of Instruction के इस प्रकार में पहले से रिकॉर्ड किए गए शिक्षण सामग्री छात्रों को प्रदान किया जाता है । आपने यूट्यूब पर कई educational channels देखे होंगे जहां पहले से रिकॉर्ड किए और एडिटेड विडियोज को अपलोड किया जाता है ताकि छात्र इससे अपनी पढ़ाई कर सकें ।

8. Televised

पाठ्यक्रम से संबंधित टेलीविजन वृत्तचित्रों, फिल्मों आदि को शामिल करना और छात्र की समझ को बढ़ाना Televised Medium of Instruction के अंतर्गत आता है । डीडी फ्री डिश पर कई टीवी चैनल्स सरकार द्वारा चलाए जा रहे हैं जिनपर छात्रों के लिए शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराई जाती है ।

Conclusion

Medium of Instruction के इस आर्टिकल में आपने विस्तार से जाना कि निर्देश का माध्यम क्या है और इसके कितने प्रकार हैं । इसे हम भाषा के नजरिए से भी परिभाषित कर सकते हैं और निर्देश देने के तरीके के नजरिए से भी परिभाषित कर सकते हैं ।

अगर आपके मन में इस विषय से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो नीचे कॉमेंट करके जरूर पूछें । इसके साथ ही अगर आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.