‌What is DP Charges in Zerodha in Hindi – डीपी चार्जेस

अगर आप एक निवेशक हैं और निवेश करने के लिए Groww और Zerodha जैसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हैं तो आपने DP Charges अवश्य देखा होगा । हर निवेशक को यह शुल्क भरना पड़ता है । लेकिन अगर आप नहीं जानते कि यह चार्ज क्या है और क्यों लगाया जाता है तो आर्टिकल के अंत तक बने रहें ।

एक निवेशक को कई प्रकार के शुल्क भरने पड़ते हैं । उदाहरण के तौर पर Entry Load, Expense Ratio, Transaction Charges आदि । इसके अलावा एक डीपी चार्ज भी निवेश में मदद करने वाले प्लेटफॉर्म द्वारा वसूला जाता है ।

What are DP Charges

DP का फुल फॉर्म Depository Participant होता है जिसका शुल्क Groww और Zerodha जैसे निवेश प्लेटफॉर्म द्वारा वसूला जाता है । यह चार्ज CDSL द्वारा तब निवेशक पर लगाया जाता है जब वह अपने डीमैट खाते से शेयर बेचता है ।

याद रखें कि डीपी चार्ज Ledge में पोस्ट किया जाता है और किसी कॉन्ट्रैक्ट नोट में नहीं लिखा होता है । कॉन्टैक्ट नोट में सिर्फ ट्रेडिंग और इससे संबंधित चार्ज को ही कवर किया जाता है । डीपी चार्ज और कॉन्ट्रैक्ट नोट अलग अलग होते हैं इसलिए डीपी चार्ज को लेजर में पोस्ट किया जाता है ।

DP Charges Example

डीपी चार्ज को आप आसान से उदाहरण की मदद से समझ सकते हैं । अगर आप अपने Demat Account से 100 शेयर को बेचते हैं तो आपको Rs. 13.5 (+ 18% GST) देना होगा । आप एक बार में एक ही कम्पनी के कितने भी शेयर बेच सकते हैं । कम या ज्यादा मात्रा में शेयर बेचने से आपके DP Charges पर असर नहीं पड़ेगा ।

लेकिन अगर आप दो कंपनियों के शेयर एक साथ बेचते हैं तो आपको 13.5+13.5 = 27 + 18% GST देना होगा । उदाहरण के तौर पर आपने XYG के 50 शेयर बेचे और KLM के भी 50 शेयर बेचे तो इस परिस्थिति में आपसे कुल 27 रुपए + 18% GST लिया जाएगा ।

इसके अलावा डीपी चार्जेस Depository पर भी निर्भर करता है । अगर आपका डिपोजिटरी CDSL है और आप 10,000 शेयर एक साथ बेचना चाहते हैं तो आपको कुल Rs. 18.50 डीपी चार्ज के रूप में देने होंगे यानि ₹13 + ₹5.50 एक साथ । तो वहीं अगर आपका डिपोजिटरी NSDL है तो आपको Rs 17.50 (Rs 13 + 4.50) हर कम्पनी के हिसाब से देना होगा ।

DP Charges कौन लगाता है ?

NSDL और CDSL के अलावा इसके प्रतिभागी जैसे GROWW, Zerodha, 5Paisa निवेशकों पर डीपी चार्जेस लगाते हैं । अगर स्टॉक Bombay Stock Exchange का हिस्सा है तो सीडीएसएल चार्ज लगाता है तो वहीं अगर स्टॉक NIFTY या National Stock Exchange का हिस्सा है तो एनएसडीएल चार्ज लगाता है ।

अब जो Groww या Zerodha जैसी कंपनियां होती हैं वे एक तरह से एनएसडीए, सीडीएलएल और निवेशकों के बीच पुल का काम करती हैं । इसलिए ये निवेशकों से अपने चार्ज भी वसूलती हैं ।

DP Charges क्यों लगाए जाते हैं ?

अगर आप शेयर बेचते हैं तो आप पर डीपी चार्जेस लगाए जाते हैं । लेकिन सबसे पहले इसकी शुरुआत समझिए । जब तक आप Depository participants नहीं बनते हैं, स्टॉकब्रोकर आपको डीमैट अकाउंट खोलने और निवेश सुविधाओं का लाभ उठाने नहीं देंगे । लेकिन जैसे ही आप डिपोजिटरी प्रतिभागी बनते हैं, कई शुल्क साथ में जुड़ जाता है ।

इसके बाद Stockbrokers को दोनों डिपोजिटरी को एडवांस प्रीपेड चार्ज भी देना होता है । स्टॉकब्रोकर आपसे कई बार डीमेट अकाउंट खोलने पर बिल्कुल भी शुल्क नहीं लेती हैं और वार्षिक मेंटेनेंस चार्ज भी नहीं लगाया जाता है । इसलिए आपसे DP Charges लिए जाते हैं ताकि डिपोजिटरी प्रतिभागी जैसे Zerodha पैसे कमा सकें । इसके अलावा अन्य चार्जेस जो निवेशकों पर लगाए जाते हैं वे काफी कम ही होते हैं ।

डीपी शुल्क से कैसे बचें ?

अगर आपको DP Charges देने का मन नहीं है और आप इस शुल्क को देने से बचना चाहते हैं तो आपके पास कुल 3 रास्ते हैं:

1. सबसे पहले आपको अपने Intraday Position को बंद करना होगा ।

2. दूसरा कि आपको BTST trading में हिस्सा लेना होगा ।

3. अगर कोई ब्रोकर Zero AMC Demat account की सुविधा प्रदान कर रहा है तो आपको उसका चुनाव करना चाहिए । आप इन तीन तरीकों से इस शुल्क से आसानी से बच सकते हैं ।

Conclusion

अगर आप एक निवेशक हैं और अपने डीमैट अकाउंट से शेयर बेचते हैं तो आपको DP Charges देने होंगे । NSDL और CDSL के अपने अलग अलग शुल्क होते हैं और साथ ही ब्रोकर्स या डिपोजिटरी प्रतिभागी भी अपना शुल्क साथ में वसूलते हैं । अगर आप इस शुल्क से बचना चाहते हैं तो तुरंत Intraday Position को बंद कर दें, BTST Trading में हिस्सा लें और Zero AMC Demat Account की सुविधा का लाभ उठाएं ।

उम्मीद है कि आपको दी गई जानकारी समझ में आई होगी और आपकी इस जानकारी से अवश्य मदद हुई होगी । अगर आप इस विषय से संबंधित अन्य प्रश्न पूछना चाहते हैं तो नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं । इसके साथ ही अगर आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें ।

Leave a comment