Corporate User Meaning in Hindi – कॉरपोरेट यूजर और रिटेल यूजर

आपने अक्सर इंटरनेट इस्तेमाल करते वक्त या कोई फाइनेंशियल ऐप चलाते समय Corporate user लिखा देखा होगा । इसके साथ ही retail user भी लिखा दिखाई देता है । लेकिन इन दोनों का अर्थ और इनके बीच अंतर क्या है ? कॉरपोरेट क्या होता है और यह कंपनी से कैसे अलग होता है ? इन प्रश्नों का उत्तर आपको आसान भाषा में दिया जायेगा ।

जब हम बड़ी कंपनियों की बात करते हैं जो मुख्य रूप से निजी होती हैं तो उन्हें हम कॉर्पोरेशन कहते हैं । Reliance Industries, HDFC Bank, Infosys, SBI आदि बड़ी कंपनियों को हम कॉरपोरेट कह सकते हैं । इनके भी ग्राहक और उपयोगकर्ता होते हैं जिन्हें हम कॉरपोरेट यूजर कहते हैं जिसके बारे में हम विस्तार से नीचे समझेंगे ।

Corporate User meaning in Hindi

किसी कंपनी का कोई ग्राहक जब भारी मात्रा में बार बार लेन देन करता है तो उसे Corporate user के अंतर्गत रखा जाता है । कॉर्पोरेट उपयोगकर्ता का अर्थ है वह व्यक्ति जिसे ग्राहक द्वारा समय-समय पर आदेश जारी करने के लिए सेवा का उपयोग करने के लिए अधिकृत किया गया है ।

बैंकों में भी यह शब्द बारंबार उपयोग में लाया जाता है । जब बैंक में इस शब्द का प्रयोग हो तो समझ लें कि कॉर्पोरेट उपयोगकर्ता बैंक का ग्राहक होता है । उपयोगकर्ता ई-बैंकिंग के माध्यम से ऑनलाइन बैंकिंग गतिविधियां करता है और यह ऑनलाइन बैंकिंग गतिविधियां बड़े पैमाने पर की जाती हैं ।

Corporate Banking क्या है ?

Corporate User
Image source: Pixabay.com

Corporate User शब्द का अधिकाधिक प्रयोग बैंकिंग क्षेत्र में ही होता है इसलिए जरूरी है कि आप समझें कि corporate banking क्या होता है । कॉर्पोरेट बैंकिंग व्यवसाय बैंकिंग का एक सबसेट है जिसमें बैंकिंग सेवाओं की एक श्रृंखला शामिल होती है जो केवल कॉर्पोरेट्स को दी जाती हैं यानि कि इसके लाभ सिर्फ और सिर्फ कंपनियां ही उठा सकती हैं ।

इसका लक्ष्य सामान्य ग्राहक न होकर के बिजनेस समुदाय होता है । कॉरपोरेट बैंकिंग में छोटे से लेकर बड़े उद्योगों का ध्यान रखा जाता है और उनकी जरूरतों को पूरा करने पर विशेष ध्यान दिया जाता है । कॉरपोरेट बैंकिंग के क्षेत्र में ग्राहकों की कमी होती है लेकिन भारी मात्रा में लेनदेन किया जाता है । इसमें 5 करोड़ रुपए से ज्यादा का लोन दिया जाता है ।

तो इस तरह एक Corporate User अगर बैंक की दृष्टि से देखा जाए तो किसी प्रकार के बिजनेस से संबंधित व्यक्ति है जो भारी मात्रा में लेनदेन करता है । अगर आप कोई salaried employee हैं और बैंक में आपका खाता है तो बैंक के लिए आप एक retail user हैं जिसके बारे में आगे जानकारी दी जायेगी । लेकिन वहीं OYO Rooms, Zomato आदि कंपनियां बैंक के लिए कॉरपोरेट यूजर के अंतर्गत आती हैं । तो इस तरह आप समझ गए होंगे Corporate meaning in Hindi with example क्या है ।

Retail User VS Corporate User

Retail का अर्थ ही खुदरा या फुटकर होता है । इसी प्रकार से जब हम Retail user की बात करते हैं तो इसका अर्थ आम जनता से है जो फुटकर या खुदरा में लेन देन करती है । इसी प्रकार जब है retail user in banking की बात करते हैं तो ऐसे ग्राहक की बात करते हैं जो बैंक से सामान्य रूप से लेन देन करता है । इस प्रकार के बैंकिंग को consumer या personal banking भी कहा जाता है ।

तो वहीं Corporate user in banking वे होते हैं जिनका कोई न कोई बिजनेस होता है और वे बिजनेस के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए बैंक से लेन देन करते हैं । उम्मीद है कि आपको अब अच्छे से retail user and corporate user difference in Hindi समझ आ गया होगा ।

Corporate VS Company in Hindi

आपको यह पता होना चाहिए कि Corporate और Company में कई अंतर होते हैं । चलिए उन अंतरों को एक एक करके समझते हैं ।

CorporateCompany
कंपनी छोटे व्यवसायों या संस्थाओं के लिए व्यावसायिक संगठन या कानूनी संरचना का उपयुक्त रूप हैकॉर्पोरेट बड़े व्यवसायों या संस्थाओं के लिए अधिक उपयुक्त है।
किसी कंपनी के मालिक उसके सदस्य होते हैंएक कॉर्पोरेट के मालिक उसके शेयरधारक होते हैं
एक कंपनी के मामले में सीमित संख्या में मालिक/सदस्य होते हैंकॉरपोरेट के मामले में मालिकों/शेयरधारकों की संख्या की कोई सीमा नहीं है
एक कंपनी के पास प्रबंधन के लिए कंपनी के सदस्य या प्रबंध सदस्य होते हैं एक कॉर्पोरेट में निदेशक मंडल होता है, जो अधिकारियों की देखरेख करता है
एक कंपनी के पास कानूनी दायित्वों को पूरा करने के लिए आवश्यक अनुबंधों की संख्या कम होनी चाहिएएक कॉर्पोरेट के पास बहुत सारे समझौते होते हैं जो गठन और निरंतर अस्तित्व के साथ-साथ विभिन्न कानूनी दायित्वों को पूरा करने के लिए आवश्यक होते हैं।

इस तरह एक कम्पनी और कॉरपोरेट में बहुत बड़ा अंतर होता है । एक बात हमेशा ध्यान में रखें कि कोई भी कंपनी के नाम के पीछे LLC, PLLC, pvt. ltd. Company, LLP आदि लिखा होता है । लेकिन एक कॉरपोरेट के नाम के बाद INC., Corp, Corporate, Public Limited Company (PLC) लिखा हुआ आता है । Amazon, Microsoft, Apple, Coca Cola आदि कॉरपोरेट हैं तो वहीं Forbes, McDonald’s, OYO, Zapto आदि कंपनियां हैं ।

Conclusion

Corporate User meaning in Hindi के इस आर्टिकल में आपने विस्तारपूर्वक जाना कि कॉरपोरेट यूजर क्या होता है और इसका क्या महत्व है । इसके साथ ही आपने यह भी जाना कि यह retail user से कैसे अलग होता है और बैंकिंग क्षेत्र में इनके क्या अर्थ हैं ?

अगर आपके में इस विषय से संबंधित कोई भी प्रश्न है तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें । आपको अगर सभी बातें समझ में आई और आपको आर्टिकल हेल्पफुल लगा हो तो इसे WhatsApp पर जरूर शेयर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.