Translation क्या है और कैसे करें ? Translation in Hindi

रोजमर्रा के जीवन में हम न जाने कितनी सारी चीजें अलग अलग भाषाओं में पढ़ते और सुनते हैं । कई बार मन में यह आता है कि काश! मुझे अन्य भाषाओं में बनाई गई फिल्में, लिखी किताबें आदि समझ में आती । परंतु, इसके लिए आपको पूरी भाषा ही सीखनी पड़ेगी और इस भागदौड़ में किसी के पास इतना समय तो है नहीं । इसलिए काम आता है Translation का । आज के Translation in Hindi आर्टिकल में हम इसी के बारे में बात करेंगे ।

इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि ट्रांसलेशन क्या है , ट्रांसलेशन कैसे करें और यह काम कैसे करता है ? इसके अलावा इससे जुड़ी कौनसी jobs आप कर सकते है और कैसे आप इसे सिख सकते हैं । इतना सब कुछ आपको इस आर्टिकल में बताया जाएगा । तो अगर आप विस्तारपूर्वक इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो अंत तक बनें रहें ।

ट्रांसलेशन क्या है – Translation in Hindi

Translation kya hai

Translation एक प्रकार की गतिविधि है जिसमें एक भाषा के शब्दों/वाक्यों को किसी अन्य भाषा में बदला जाता है । इसकी मदद से किसी एक भाषा के शब्दों को उसका इच्छित भाषा में अर्थ जानने के लिए संप्रेषित किया जाता है ।

इस प्रक्रिया में 2 अलग भाषाओं का इस्तेमाल होता है । पहली भाषा मूल/स्रोत भाषा होती है जिसे बदला जाना है और दूसरी लक्षित भाषा जिसमें मूल भाषा को बदला जाना है । अनुवादन के बहुत सारे फायदे होते हैं जिनमें ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी बात पहुंचाना, लोगों से उनकी ही भाषा में संबंध स्थापित करना आदि शामिल हैं जिनके बारे में आप आगे जानेंगे ।

Benefits of translation – अनुवाद के लाभ

अगर हम बात करें benefits of translation की तो इसके ढेर सारे फायदे हैं । चलिए इन फायदों को समझते हैं :

  • देशों के बीच भाषाई दूरियों को कम करता है ।
  • अनुवाद दुनिया भर के लोगों के बीच प्रभावी संचार को सक्षम बनाता है ।
  • इसकी मदद से ज्ञान का प्रवाह आसानी से होता है, सांस्कृतिक विरासत का रक्षक है और वैश्विक अर्थव्यवस्था के विकास के लिए आवश्यक है ।
  • सूचना, ज्ञान और विचारों के प्रसार के लिए अनुवाद आवश्यक है ।
  • विभिन्न संस्कृतियों के बीच प्रभावी और सहानुभूतिपूर्ण संचार के लिए यह नितांत आवश्यक है ।

Types of translation – अनुवाद के प्रकार

क्या आप जानते हैं कि translation के कई types होते हैं ? जी हां, अनुवाद के भी अलग अलग प्रकार होते हैं जिन्हें आप नीचे विस्तार से जान सकते हैं :

1. तकनीकी अनुवाद

Technical translation या तकनीकी अनुवाद की आवश्यकता तब पड़ती है जब आपको किसी तकनीकी उत्पाद का प्रचार प्रसार किसी अन्य देश में करना होता है । इसके अलावा कई बार अपने ही देश में भी किसी तकनीकी उत्पाद के प्रचार के लिए इस प्रकार के अनुवाद की जरूरत पड़ती है । उदाहरण के तौर पर, अगर आपको किसी टेलीविजन के बारे में कर्नाटक में प्रचार प्रसार करना है और आप कन्नड़ नहीं जानते तो समस्या होगी ।

इसलिए ऐसी परिस्थिति में आपको कन्नड़ अनुवादक की मदद लेनी होगी जो आपके उत्पाद की सभी जानकारी को कन्नड़ भाषा में अनुवाद करेगा ताकि लोगों पर ज्यादा प्रभाव पड़ सके और लोग आपके टेलिविजन को खरीदें । इसके अलावा अगर आप उसी टेलीविजन की मार्केटिंग चीन में करना चाहते हैं तो आपको मंदारिन भाषा आनी चाहिए या तो एक अनुवादक की आवश्यकता पड़ेगी ।

2. कानूनी अनुवाद

Legal translation या कानूनी अनुवाद कराने की आवश्यकता सबसे ज्यादा सार्वजनिक संगठन और व्यवसायों को पड़ती है । कई संगठनों को कानूनी दस्तावेजों के अनुवाद की आवश्यकता होती है । यह अक्सर एक कठिन कार्य होता है क्योंकि अगर सही ढंग से अनुवाद नहीं किया गया तो आप कानूनी पचड़े में फंस जायेंगे और फिर शुरू होगा कोर्ट के चक्कर लगाने का दौर ।

सामान्य अनुवादन की अपेक्षा कानूनी अनुवादन कहीं कठिन होता है । इसमें एक अनुवादक को कानून संबंधी हर जानकारी होनी चाहिए ताकि उसका सही सही अनुवाद किया जा सके ।

3. पुस्तक अनुवाद

Book translation या पुस्तक अनुवाद में स्रोत और टारगेटेड भाषा का बेहतरीन ज्ञान होना अनिवार्य है । पुस्तक अनुवादन भी कानूनी अनुवादन की ही तरह बहुत जटिल कार्य है और इसमें गलती की गुंजाइश नहीं है । पुस्तक अनुवादन में आपको पुस्तक में लिखे अक्षरों का अनुवाद उनके छिपे अर्थ या सुर ( tone ) के आधार पर करना होता है । लेखन कला में दक्ष अनुवादक ही सही ढंग से book translation कर सकता है ।

बात करें वर्तमान समय की तो आपने गौर किया होगा कि अब ज्यादातर लेखक अपनी पुस्तक का अनुवादन करा रहे हैं । इससे वे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक आसानी से पहुंच पाते हैं और अपनी बात को ज्यादा लोगों से कह पाते हैं । एक पुस्तक लिखने के उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा बेचना और पैसे बनाने के अलावा लोगों तक पुस्तक का संदेश पहुंचाना भी होता है ।

4. प्रशासनिक अनुवाद

Administrative Translation या प्रशासनिक अनुवाद का सबसे ज्यादा महत्व प्रशासन या सरकारी काम काज में आता है । दूसरे अर्थों में व्यावसायिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए किए गए अनुवादन को भी प्रशासनिक अनुवाद कह सकते हैं । इस प्रकार के अनुवाद में सरकार द्वारा निकाली गई विज्ञप्तियों और सूचनाओं का सही सही अनुवाद करना होता है ।

आपने गौर किया होगा कि भारत में SSC, UPSSSC जैसी संस्थाएं भी अनुवादक की नौकरियों में भर्ती लेती हैं जिन्हें प्रशासनिक भवनों में भेजा जाता है । इस प्रकार के अनुवाद में व्यक्ति को क्षेत्रीय और राजकीय भाषाओं में दक्ष होना अनिवार्य है ।

5. मल्टीमीडिया अनुवाद

Multimedia translation एक प्रकार का ट्रांसलेशन है जिसमें मल्टीमीडिया या मुख्य तौर पर संचार के विभिन्न साधनों का अनुवाद किया जाता है । जैसे graphics, videos, GIFs, animation, infographics शामिल हैं जिनका अनुवाद कार्य इसलिए किया जाता है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच बनाई जा सके । आज के इस digital युग में ज्यादा से ज्यादा कंपनियां multimedia content बना रही हैं ।

इन कंटेंट को localise करना अर्थात स्थानीय या क्षेत्रीय भाषा में बदलने से कंपनी को ज्यादा मुनाफा होगा क्योंकि इससे हर भाषा और क्षेत्र के लोग उत्पाद या सेवा से जुड़ेंगे । हालांकि, किसी कंटेंट को लोकलाइज करना इतना भी आसान नहीं है । छोटी सी गलती भी उस भाषा या संस्कृति से संबंध रखने वालों की भावनाओं को आहत कर सकता है । इस तरह आपको भारी नुकसान भी झेलना पड़ सकता है इसलिए इसे बड़ी ही सावधानी से किया जाना चाहिए ।

इनके अलावा script translation, medical translation, contract translation, license translation इत्यादि प्रकार मौजूद हैं परंतु ऊपर बताए गए 5 प्रकार इन सभी को किसी न किसी रूप में समाहित करते हैं । इसके अलावा, ऊपर बताए हुए 5 प्रकार मुख्य हैं और ज्यादा प्रासंगिक भी हैं ।

Translation कैसे करें ?

अगर आप Translation kaise kare का उत्तर जानना चाहते हैं तो ऐसा करने के लिए आपके पास 3 रास्ते हैं । तीनों के बारे में आप विस्तार से पढ़ सकते हैं :

1. Gboard की मदद से

अगर आप translation करना चाहते हैं तो Gboard app जोकि एक keyboard app है , कि मदद से कर सकते हैं । आपको यह ऐप प्ले स्टोर पर आसानी से मिल जायेगा जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं । डाउनलोड करने के बाद आपको सबसे पहले वहां जाना है जहां ट्रांसलेशन की जरूरत है । उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए कि आप अपने स्मार्टफोन के notes में जाते हैं और यहां आप Hindi to english translate चाहते हैं ।

इसके लिए आपका gboard ऐप सबसे पहले default keyboard app होना चाहिए । इसके बाद आपको नोट्स में क्लिक करना है ताकि gboard app typing interface पॉप अप हो । इसके बाद, आपको कोने में ट्रांसलेट का ऑप्शन मिल जायेगा जोकि नीचे दिए स्क्रीनशॉट में गोला लगा हुआ दिख रहा होगा ।

इसपर क्लिक करें और दोनो तरफ भाषा का चुनाव करें । पहले आप उस भाषा का चुनाव करें जो स्रोत भाषा होगी और दूसरे में आपको targeted language चुननी है ।

2. Google translation की वेबसाइट से

आप Gboard के अलावा google translation website की भी मदद ले सकते हैं । इसकी मदद से आप बड़े से बड़े texts को आसानी से ट्रांसलेट कर सकते हैं । इसके अलावा आप चाहें तो इसकी मदद से पूरी की पूरी वेबसाइट को भी मनचाहा भाषा में अनुवाद कर सकते हैं । अगर आप Gboard app की मदद से अनुवाद करते हैं तो कई limitations हैं ।

परंतु गूगल के ट्रांसलेशन की वेबसाइट से ट्रांसलेट करना बहुत ही आसान है और साथ ही कोई भी limitation नहीं है । अगर आप chrome या google पर सिर्फ translate लिखकर सर्च करें तो एक ट्रांसलेशन टूल आपके सामने खुल कर आ जायेगा । इस तरह आपको वेबसाइट खोलने की जरूरत नही पड़ेगी । हालांकि, large texts और website translation के लिए आपको वेबसाइट के अंदर जाना होगा ।

3. Google Translate app की मदद से

आप अगर चाहें तो Google translation app भी डाउनलोड कर सकते हैं जो काफी handy और smooth है । इसकी कुछ खास features हैं :

1. आप किसी भी ऐप में translation को ऑन कर सकते हैं । जैसे कि आप व्हाट्सएप पर बात कर रहे हैं और सामने वाला व्यक्ति किसी ऐसी भाषा में बात कर रहा जो आपकी समझ से बाहर है । तो आप इस फीचर की मदद से तुरंत उसकी बातों को ऐप में ही अनुवाद कर पाएंगे ।

2. मान लीजिए कि आप विदेश में हैं और वहां अलग अलग प्रकार के sign boards हैं या कुछ भी ऐसी भाषा में लिखा है जिसे आप नहीं समझ रहे हैं । तो ऐसे में आपको बस ऐप खोलना है और camera translation feature की मदद लेनी है । इससे तुरंत ही सामने दिया हुआ text आपकी मनचाही भाषा में अनुवाद हो जायेगा ।

3. आप बिना internet connection की मदद से भी आसानी से translation सुविधा का लुफ्त उठा सकते हैं । इसके लिए आपको ऐप में अली मनपसंद भाषाओं की पूरी library को download करना होगा । यानि आप ट्रांसलेशन सर्विस को डाउनलोड करके उसे बिना इंटरनेट कनेक्शन के भी access कर सकते हैं ।

4. चौथा सबसे बड़ा फायदा इसका यह होता है कि आप voice translation का उपयोग भी मुफ्त में कर सकते हैं । अगर सामने वाला व्यक्ति किसी ऐसी भाषा में बोल रहा है जो आपकी समझ से बाहर है तो आपको बस voice translation को ऑन करना है और आप उसकी बातों को अपनी भाषा में पढ़ या सुन सकते हैं ।

Online translation jobs

अगर आप हर भाषा को अनुवाद करने में माहिर हैं तो आप अनुवादक की नौकरी कर सकते हैं । हालांकि, नौकरियों में ऐसे व्यक्तियों की मांग है जो खुद से अनुवाद करना जानते हों न कि किसी ऑनलाइन टूल की मदद से । इसलिए आपको ढेर सारी भाषाओं का ज्ञान होना चाहिए । इसके अलावा, यह आप पर निर्भर करता है कि आप किन भाषाओं के अनुवादक बनना चाहते हैं ।

उदाहरण के तौर पर, Online translation jobs for students in India की बात करें तो इंग्लिश, हिंदी, फ्रेंच और स्पेनिश ट्रेंडिंग पर है जिसे एक छात्र सिख सकता है । इसके अलावा आप चाहें तो freelancing में भी कदम बढ़ा सकते हैं । इंटरनेट पर ढेरों Freelance translation jobs from home मौजूद है जिन्हें करके आप महीने का हजारों कमा सकते हैं । यह online earning का एक बढ़िया माध्यम है ।

Translator jobs salary की बात करें तो Payscale के मुताबिक भारत में एक अनुवादक साल का औसत ₹ 402,572 कमा सकता है । आप अगर ट्रांसलेटर की फ्रीलांस जॉब खोज रहे हैं तो आप freelancer या upwork पर जा सकते हैं ।

Conclusion

आपने translation in Hindi के इस आर्टिकल में विस्तारपूर्वक यह जाना कि अनुवादन क्या है, इसके फायदे और इसे कैसे करें । इसके अलावा, अगर आप एक translator बनते हैं तो आपको कितने रुपए महीने तक के मिल सकते हैं । आप इसपर कोर्स भी कर सकते हैं और ऑनलाइन ऐप duolingo की मदद से अन्य भाषाओं को आसानी से सिख सकते हैं ।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा और आपके इस विषय पर अन्य क्या प्रश्न हैं, मुझे कॉमेंट करके बताएं । इसके साथ ही, अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो शेयर जरुर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.