Content Writing क्या है और कैसे करें – What is content writing in Hindi

क्या आप जानना चाहते हैं कि Content writing kya hai ? इसके साथ ही Content writing meaning क्या है , कंटेंट राइटिंग के samples , jobs और हिंदी में कंटेंट राइटर कैसे बनें या ढूंढें ? अगर हां , तो यह पोस्ट आपको इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देगा । अगर आप इससे पैसे कमाना चाहते हैं तो भी यह फील्ड आपके लिए बहुत ही बढ़िया है ।

आज के डिजिटल युग में किसी भी प्रकार का कंटेंट लिखना आसान हो गया है । कई लोग newspaper के लिए लिख रहे हैं , कई खुद की blog बनाकर लिख रहे हैं तो कई social media posts लिखकर भी पैसे कमा रहे हैं । ऐसे में जरूरी है कि आप भी इस फील्ड के बारे में जानें और इससे पैसे भी कमाएं । इसलिए हमने Content writing in Hindi का यह detailed article लिखा है जिसे अंत तक पढ़ें –

Content Writing क्या है ?

Content Writing किसी भी प्रकार के कंटेंट के प्रारूप को तैयार करने की प्रक्रिया है ताकि उससे ज्यादा से ज्यादा audience को प्रभावित किया जा सके । इसमें blog post और articles लिखना , videos और podcasts के लिए स्क्रिप्ट तैयार करना इत्यादि शामिल है ।

इसका ज्यादातर उपयोग सिर्फ Digital Marketing में होता है जहां ढेरों अलग अलग प्रकार के कंटेंट लिखकर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की कोशिश होती है । इस तरह आप आसानी से content writing meaning in Hindi समझ गए होंगे । इसकी मदद से आप आसानी से पैसे भी कमा सकते हैं जिसके बारे में हम इस पोस्ट में आगे आपको बताएंगे ।

Content Writing के अंतर्गत कौन कौन सी चीजें आती हैं ?

क्या आप ” content writing ” का मतलब सिर्फ आर्टिकल लिखना ही समझते हैं ? अगर हां , तो आप पूरी तरह ग़लत हैं । इसमें ढेर सारी चीजें आती हैं । चलिए हम बताते हैं –

  • YouTube Video description
  • YouTube Video plot
  • Podcast description & plot
  • Social media posts
  • Email newsletters
  • Keynote speeches
  • Web page copy
  • White papers

ये सभी चीजें एक Content Writer को करनी पड़ती हैं । इसमें से हर एक चीज कंटेंट राइटिंग के अंतर्गत आती हैं और आप इन्हें करके घर बैठे online earning भी कर सकते हैं ।

Content Writing tips in Hindi

अगर आप कंटेंट राइटिंग करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए Tips आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होंगे –

1. अच्छे से market research करें

Content Writing करने के लिए सबसे जरूरी प्वाइंट यह है कि आपको सबसे पहले market research करना चाहिए । इससे यह पता चलेगा कि किस टाइप के कंटेंट की मांग ज्यादा है और किस तरह के कंटेंट प्रोड्यूस किए जा रहे हैं । इससे आपको काफी कुछ idea हो जाएगा कि आपके कंटेंट का representation कैसा हो और साथ ही मार्केट में किस तरह के कंटेंट ज्यादा डिमांड में हैं ।

आप इसके लिए इंटरनेट की मदद ले सकते हैं और कई keyword research tools आपकी इसमें मदद भी करेंगी । अगर आपको नहीं पता कि किसी भी कंटेंट को लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च कैसे करें तो आप Keyword Research in Hindi पोस्ट को पढ़ सकते हैं । आप जो ideas ढूंढें उन्हें आप Squid या Evernote में लिख सकते हैं ।

2. ज्यादा से ज्यादा पढ़ें

अगर आप बोलना चाहते हैं तो सबसे पहले सुनना सीखें , अगर आप लिखना चाहते हैं तो सबसे पहले ज्यादा से ज्यादा पढ़ें ।

कुछ भी लिखने से पहले , आपके पास ideas होने चाहिए । ये ideas तभी आपके दिमाग में आएंगे , जब आप ज्यादा से ज्यादा पढ़ेंगे । हर किसी ने सबसे पहले पढ़ा है , चीजों को , लिखने के पैटर्न को समझें तब लिखें । सिर्फ अपने मज़े के लिए न पढ़ें , सभी चीजों को critically analyse करते हुए अगर आप पढ़ते हैं तो आपको यह काफी मदद करेगा ।

अगर आप Quality Content पढ़ना चाहते हैं जो आगे आपको लिखने और अपने कैरियर को बनाने में भी मदद करेगा तो आपको Top Ranking Blog Posts पढ़ना चाहिए । आप अगर इंगलिश में बढ़िया कंटेंट पढ़ना चाहते हैं तो Copyblogger के ब्लॉग को पढ़ सकते हैं । इनका बहुत ही engaging और unique कंटेंट होता है । अगर आप हिंदी में देखें तो आप हमारे ब्लॉग Listrovert के कंटेंट भी पढ़ सकते हैं ( खुद की तारीफ नहीं है 😀 )

3. आप क्यों लिखना चाहते हैं ?

यह जरूरी है कि आप क्यों लिखना चाहते हैं ? ढेरों अलग अलग लोगों के लिए अलग अलग motives हो सकते हैं content writing करने के लिए । आप इनमें से किस कैटेगरी में हैं –

1. पैसे के लिए लिखना शुरू करना चाहते हैं परन्तु आपको कुछ भी पता नहीं है कि कैसे शुरू करें ।

2. जिनका लिखना passion है और वे अपने passion को आगे लेकर जाना चाहते हैं ।

3. जिन्हें सच में कंटेंट राइटिंग आती है और वे इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं ।

अगर आप पहली कैटेगरी से हैं तो आपको बहुत कुछ सीखना पड़ेगा और आपको इसके लिए training + courses भी करने पड़ सकते हैं । इसके साथ ही अगर वे ब्लॉग में कंटेंट राइटिंग करना चाहते हैं तो उन्हें technical aspects को भी सीखना होगा । यह काफी time consuming है ।

दूसरे Category के लोगों को चीजें पता है , ideas हैं और passion भी है । बस उन्हें यह जानना है कि content writing की शुरुआत कैसे करें ? तो इसका उत्तर हम इस पोस्ट से दे ही रहे हैं । अंत में तीसरी category आती है , जिन्हें technical stuffs के बारे में पता है परन्तु वे इससे कैरियर कैसे बनाएं , यह नहीं पता । उसके बारे में भी हम इस पोस्ट में जानेंगे ।

4. ज्यादा से ज्यादा लिखें

अगर आप सोचते हैं कि आप 2 – 4 दिन में ही content writing सीख जाएंगे और आपको अभ्यास करने की जरूरत नहीं है तो आप बिल्कुल ग़लत हैं । हर चीज के लिए अभ्यास जरूरी होता है तभी जाकर के आप वह सीख पाते हैं । आज जो लोग भी बहुत ही बढ़िया content लिख रहे हैं , उन्होंने भी कभी खराब लिखने से ही शुरुआत की थी ।

परन्तु , समय के साथ जैसे ही आप लिखते जाएंगे आपको अनुभव होता चला जाएगा । व्यक्तिगत अनुभव मेरा यह है , कि आप सबसे पहले Topic research करें और आप जिस भी चीज के बारे में लिखने वाले हैं उसके बारे में ढेरों जानकारी अलग अलग जगह जैसे documentries , blog posts , videos , slideshows , infographics इत्यादि से प्राप्त कर लें ।

अंत में , आपने अभी तक जो कुछ देखा , पढ़ा और सिखा उसे अपने एक unique और engaging तरीके से लिखना शुरू करें । लिखने की अपनी एक unique style बनाएं ताकि लोग आपको आपके लिखने के तरीके से पहचानें । अगर आप निरंतर लिखते हैं और अपने लेखनी को critically evaluate करते हुए , सीखते हुए आगे बढ़ते हैं तो आप अवश्य ही एक बेहतरीन Content Writer बन जाएंगे ।

5. अपने फील्ड के लोगों से बेहतर करें

इस point के बारे में विस्तार से चर्चा करने से पहले मैं चाहता हूं कि सबसे पहले आप यह नीचे दिए गए screenshot को देखें –

आपने क्या देखा ? What is content marketing कीवर्ड को गूगल में सर्च करने पर आपको 1,66,00,00,000 results दिखाई दे रहे हैं ? तो क्या आप Top 10 या 1st पेज में रैंक कर पाएंगे ? इसका जवाब है हां ! परन्तु , सबसे पहले आपको इतने बढ़िया और unique articles देख कर घबराना नहीं है । यह ध्यान रखें कि आपको हमेशा unique भी नहीं होना है ।

ऐसा भी नहीं है कि आप जबतक unique , एक जैसा आर्टिकल नहीं लिखेंगे तब तक आपके आर्टिकल की कोई value नहीं है । हां , यह जरूर है कि आप बस copy cat न बनें और दूसरों के आर्टिकल को छापना न शुरू कर दें । ऐसे में हल एक ही है ! आप पहले से सर्च रिजल्ट्स में आ रहे Top results को ध्यान से पढ़ें और उनसे बेहतर लिखने की कोशिश करें । आप उन लोगों से ज्यादा queries / topics को समझाएं ।

अगर आप Top 20 आर्टिकल्स को देखेंगे , तो पाएंगे कि कहीं न कहीं ज्यादातर आर्टिकल्स एक ही बात कह रही हैं परन्तु , अपने तरीके से । ज्यादा engaging और creative तरीके से । आपको भी यही करना है ।

6. अपने word count पर ध्यान दें

यह एक जरूरी बात है जो आपको दिमाग में रखनी है । आप पोस्ट या आर्टिकल के हिसाब से ही word count को रखें । इसके साथ ही आप इंटरनेट पर पड़े existing content से ज्यादा in-depth में लिखने की कोशिश करें । यह एक general rule है कि ज्यादा बड़े कंटेंट को ज्यादा तवज्जो दी जाती है ।

मेरा मानना है कि जब भी content writing कर रहे हों और किसी ब्लॉग पोस्ट / आर्टिकल को लिख रहे हों तो वह कम से कम 1200 word – 2500 word का होना चाहिए । हालांकि , यह पूरी तरह topic पर डिपेंड करता है पर ideal length यही है । न सिर्फ Google , बल्कि अन्य सभी को भी यही लगता है कि ज्यादा बड़े content में ज्यादा जानकारियां भरी हैं ।

Backlinko की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जो top ranking articles हैं वे कम से कम 1890 words के हैं । जैसा कि मैंने पहले भी बताया कि यह पूरी तरह से आपके Topic पर डिपेंड करता है । परन्तु , आपको हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि आप ज्यादा से ज्यादा कंटेंट लिखें ।

7. अपने कंटेंट की proofreading करें

इंटरनेट पर आपको हजारों लाखों ऐसी जानकारियां मिल जाएंगी जिनमें grammatical errors आम बात हैं । यकीन मानिए , लोगों को और साथ ही search engines को यह बिल्कुल भी पसदन नहीं आती । ऐसे में , आप जो भी कंटेंट लिखें , वह कोशिश करें कि पूरी तरह से किसी भी प्रकार के error से free हो । आप सिर्फ कंटेंट नहीं लिखते हैं , बल्कि अपने अपने Business / Brand का प्रचार भी करते हैं । ऐसे में आप इसे खराब नहीं होने देना चाहेंगे ।

इसलिए , अपने कंटेंट को लिखने के बाद कम से कम 2 बार उसे proofread अवश्य करें । आप चाहें तो Grammarly tool का इस्तेमाल भी कर सकते हैं जो आपके proofreading को बहुत ही आसान बनाता है । इसकी मदद से आप आसानी से अपने कंटेंट में हुए किसी भी प्रकार के grammatical और formation error को spot कर सकते हैं ।

साथ ही , अगर आपको प्रूफ्रीडिंग के बारे में ज्यादा idea नहीं है तो हमारा proofreading guide in Hindi को पढ़ सकते हैं ।

Content Writer कैसे बनें ?

अगर आप एक कंटेंट राइटर बनना चाहते हैं तो इसके ढेरों तरीके हैं , चलिए इन सभी के बारे में बात करते हैं :

1. Blogging

मेरी पसंदीदा और recommended तरीका है कि आपको ब्लॉगिंग करनी चाहिए । ब्लॉगिंग की मदद से आप एक बेहतरीन कंटेंट राइटर जरूर बन जायेंगे । ब्लॉगिंग यानि कि किसी भी विषय पर इंटरनेट पर ब्लॉग लिखना और ब्लॉग यानि एक ऑनलाइन डायरी । एक blog के माध्यम से आप आसानी से अपने हिसाब से कंटेंट लिख सकते हैं ।

इसके साथ ही , ब्लॉगिंग की मदद से पैसे भी कमाया जाता है । तो अगर आप आज लिखने की शुरुआत करें और इसमें महारत हासिल कर लें तो आपकी writing style अच्छी हो जायेगी और दूसरे कि अगर आपका कंटेंट यूजफुल हुआ तो आप पैसे भी कमा सकते हैं । आज के समय में तो कम उम्र के बच्चे तक ब्लॉगिंग कर रहे हैं । अगर आप ब्लॉगिंग के बारे में A to Z जानना चाहते हैं तो Blogging Archives पर जाएं ।

2. Freelancing

आज के समय में freelancers की मांग दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है । ऐसे में , Content writing भी फ्रीलांसिंग के अंतर्गत ही आता है । आप कंटेंट राइटर के तौर पर फ्रीलांसिंग कर सकते हैं । ऐसे में आप बहुत कुछ सीखेंगे भी और दूसरे की आपकी कमाई भी अच्छी खासी हो जायेगी । इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि आप अपने मनमुताबिक काम करते हैं ।

आप अपने हिसाब से contract लेकर पूरा करते हैं और फिर उसके बदले में आपको रुपए मिलते हैं । समय के साथ ही आपकी portfolio भी बढ़िया होती जाती है और आप एक best content writer बन पाते हैं । आप fiverr , freelancer जैसे साइट्स पर काम कर सकते हैं ।

3. Certification

अगर आप चाहें तो content writing , digital marketing और writing से जुड़े विषयों में UG और PG course भी कर सकते हैं । इस तरह आपके पास एक degree / certificate होगा जो आपको बढ़ी कंपनियों में काम दिलाने में मदद करेगा । आप ये courses ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से कर सकते हैं ।

अगर आप ऑनलाइन इन कोर्सेज को करना चाहते हैं तो मैंने नीचे बताया है कि ऐसी कौन कौन सी sites हैं जहां से आप content writing सीख सकते हैं ।

Content Writing examples in Hindi

चलिए हम आपको content writing samples in Hindi के links देते हैं जो मेरे हिसाब से content writing के सबसे बेहतरीन उदाहरण हैं –

मेरे हिसाब से ये दोनों content marketing के सबसे बेहतरीन उदाहरण हैं । इसके साथ ही आप हमारे वेबसाइट पर पब्लिश किए गए Articles भी पढ़ सकते हैं जिसे हम बेहतर तरीके से लिखने की कोशिश करते हैं ।

Hindi content writing

अगर आपकी हिंदी भाषा पर अच्छी पकड़ है तो आप हिंदी कंटेंट राइटिंग जॉब्स फ्रॉम होम करके पैसे कमा सकते हैं । कैसे ? चलिए मैं आपको दिखाता हूं :

Step 1 : सबसे पहले freelancer.in पर जाएं ।

Step 2 : यहां दिए Sign up बटन की मदद से मांगी गई सभी जानकारी भरें ।

Step 3 : जब आपका अकाउंट बन जाए तो फिर sign in करें । साइन इन करने के बाद आपको सामने होमपेज खुल जाएगा ।

Step 4 : Bottom में दिए options में चौथे नम्बर पर दिख रहे ऑप्शन + पर क्लिक करें । इसके बाद As Freelancer पर क्लिक करें और उनकी सभी मांगों को पूरा करें ।

इसके बाद , आप अपना प्रोफाइल सेटअप करके projects के लिए bidding करना शुरू कर सकते हैं । hindi content writing job – लिखकर पैसे कमाओ केे लिए ऊपर दिए स्टेप्स को फॉलो करें ।

कंटेंट राइटिंग जॉब इन हिंदी

अगर आप कंटेंट राइटिंग के लिए Jobs यानि नौकरियों की तलाश में हैं तो नीचे दी गई sites आपके लिए फायदेमंद साबित होंगी –

इन sites पर आप आसानी से content writer की जॉब कर सकते हैं । Economic Times की रिपोर्ट के मुताबिक , जो content writers फ्रेशर होते हैं यानि इस फील्ड में नया नया जुड़े होते हैं वे महीने के 8,000 रुपए से लेकर 10,000 रुपए तक कमा सकते हैं ।

जैसे जैसे उन्हें अनुभव होता जाएगा , उनकी earnings 20,000 रुपए से लेकर 25,000 रुपए महीने की भी हो सकती है । ऊपर दिए गए लिस्ट में हिंदी आर्टिकल राइटिंग जॉब्स भी आपको मिल जायेंगी । बस आपको इन साइट्स के search bar से हिंदी आर्टिकल राइटिंग या हिंदी सर्च करें जिसके बाद आपको इससे जुड़े सभी रिजल्ट्स दिख जायेंगे ।

एक कंटेंट राइटर बनने के लिए नीचे दी गई कुछ qualification की मांग की जा सकती है –

  • Communication , Marketing , Journalism या English / Hindi भाषा में bachelor’s degree
  • content writing या copywriting में अनुभव
  • content management system की जानकारी
  • आपको microsoft office के सभी software की जानकारी होनी चाहिए
  • अपने published content का एक portfolio

कंटेंट राइटिंग कैसे सीखें ?

कई ऐसे लोग हैं जिन्हें कंटेंट राइटिंग तो करनी है परन्तु वे इसे करने के तरीके के बारे में नहीं जानते । ऐसे में आपको content writing courses करनी चाहिए ताकि आप इस फील्ड को सही से समझने के साथ ही इसमें काम करने के लायक बन सकें । अगर आप कंटेंट राइटिंग सीखना चाहते हैं तो –

इसके अलावा आप Video Courses भी कर सकते हैं । इसके लिए मैं recommend करूंगा WsCube Tech का यह playlist पूरा देख सकते हैं –

Content marketing course in Hindi

What is content writing in Hindi – conclusion

इस पोस्ट में मैंने विस्तार से आपको content marketing in Hindi के बारे में आसान भाषा में समझाया । अगर आपके मन मे इस टॉपिक से जुड़े अन्य प्रश्न हैं तो उसे कॉमेंट के माध्यम से बताएं , हम अवश्य उन प्रश्नों का FAQs बनाकर आपको बताएंगे । इसके साथ ही पोस्ट पसंद आया हो तो शेयर करना न भूलें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.