What is Feedback in Hindi – फीडबैक या प्रतिपुष्टि क्या है

आप जब कोई सेवा या उत्पाद इस्तेमाल करते हैं तो आपसे Feedback मांगा जाता है । अक्सर जब आप कोई एप्लीकेशन अपने मोबाइल में चलाते हैं तो अक्सर ऐप आपसे आपके अनुभव के आधार पर फीडबैक की मांग करता है । लेकिन यह फीडबैक क्या है, इसके कितने प्रकार होते हैं, एक बढ़िया फीडबैक कैसे दें और अन्य जरूरी प्रश्नों का उत्तर मैं आपको इस आर्टिकल में दूंगा ।

What is Feedback in Hindi के इस आर्टिकल के अंत में मैं आपको कुछ examples भी दूंगा । इससे आपको प्रतिपुष्टि लिखने और समझने में आसानी होगी । इस विषय से जुड़े सभी महत्वपूर्ण प्रश्नों का उत्तर जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें । अगर यह जानकारी आपके लिए सहायक हो तो इसे शेयर भी करें ।

What is feedback in Hindi

Feedback को हिंदी में प्रतिपुष्टि या प्रतिसूचना भी कहते हैं । इसे आसान भाषा में समझें तो यह लोगों को यह बताने के बारे में है कि हम उनके प्रदर्शन के बारे में क्या सोचते हैं और उन्हें इसे बेहतर तरीके से कैसे करना चाहिए । यह काम की गुणवत्ता का मूल्यांकन जैसा है । यह फीडबैक इन हिंदी मीनिंग है ।

उदाहरण के तौर पर, मान लीजिए कि आप किसी Freelancer से अपने लिए एक प्रोजेक्ट फाइल बनवाते हैं । जब फ्रीलांसर आपको आपका प्रोजेक्ट वर्क सौंपता है तो आप उसके कार्य का evaluation या मूल्यांकन करते हैं । आप सबसे पहले प्रोजेक्ट वर्क को देखते और परखते हैं, आप यह भी देखते हैं कि फ्रीलांसर ने आपकी उम्मीदों के हिसाब से कार्य किया है या नहीं ।

इसके बाद आप फ्रीलांसर को उसके द्वारा किए गए कार्य पर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं । आप कह सकते हैं कि आपने सभी बारीकियों का ध्यान रखा और निश्चित समय पर मुझे इस परियोजना कार्य को सौंपा है । मुझे खुशी हुई कि आपने बहुत ही बेहतर ढंग से इसे पूरा किया, आपका बहुत शुक्रिया! तो यह उस फ्रीलांसर के लिए एक Feedback या प्रतिपुष्टि होगा ।

Types of feedback in Hindi

Types of feedback यानि प्रतिपुष्टि कुल 7 प्रकार का होता है । इसके बारे में मैं आपको संक्षेप में उदाहरण सहित समझाऊंगा ।

1. Positive Feedback

Positive Feedback यानि सकारात्मक प्रतिपुष्टि । हम सभी हर किसी से सकारात्मक प्रतिपुष्टि की ही उम्मीद करते हैं । हम चाहते हैं कि लोग हमारी तारीफें करें, हमें प्रोत्साहित करें । जब बात आती है किसी संस्था या संगठन की तो पॉजिटिव फीडबैक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । किसी कर्मचारी को जब सकारात्मक प्रतिक्रिया दी जाती है तो वह अपनी productivity बढ़ाने पर ध्यान देता है ।

सकारात्मक प्रतिक्रिया किसी भी व्यक्ति को संस्था या किसी अन्य व्यक्ति के प्रति ईमानदार और वफादार बनाने में कारगर होता है । लेकिन इसका जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल या अनावश्यक इस्तेमाल करने की वजह से सामने वाला व्यक्ति लापरवाह या unproductive होने लगता है । एक उदाहरण:

“मैं यह देखकर खुश हूं कि आपने बहुत ही कम समय में सभी key skills को सिख लिया है । आपने जरूरी कौशल के महत्व को समझते हुए काफी अच्छा कदम उठाया है । अगर आपको अन्य जरूरी कौशल सीखने में मेरी किसी भी प्रकार की मदद चाहिए तो मुझे जरूर बताएं ।”

2. Positive feedforward

Positive feedforward यानि सकारात्मक फीडफॉरवर्ड की मदद से हम किसी व्यक्ति के पुराने प्रदर्शनों के बजाय उसके भविष्य पर ध्यान केंद्रित करके प्रतिपुष्टि देते हैं । यह भविष्य को केंद्रित समाधानों के साथ सकारात्मक या नकारात्मक प्रतिक्रिया को बदलने की प्रक्रिया है । सरल शब्दों में, इसका अर्थ अतीत के बजाय भविष्य पर ध्यान केंद्रित करना है ।

यह भी सकारात्मक प्रतिपुष्टि का ही एक भाग है लेकिन भविष्य पर केंद्रित है । इससे कर्मचारी या व्यक्ति पुरानी गलतियों को नहीं दोहराता है या अपने कार्यों में सुधार करता है । कई संस्थाएं अब Positive Feedforward का इस्तेमाल करके अपने कर्मचारियों की कार्य उत्पादक क्षमता को बढ़ा रही हैं । एक उदाहरण:

“मुझे खुशी हुई कि आपने कॉलेज की सभी परीक्षाओं में अच्छे अंक हासिल किए हैं । लेकिन इसके साथ ही मैं चाहता हूं कि आप नए कौशल सीखने जैसे self management इत्यादि सीखने पर ध्यान दें क्योंकि नौकरियां अब डिग्री पर नहीं बल्कि आपके कौशल के आधार पर दी जाती हैं ।”

3. Negative Feedback

Negative Feedback यानि नकारात्मक प्रतिपुष्टि । हममें से कोई भी अपने कार्यों, व्यवहार इत्यादि के बरे मे नकारात्मक नहीं सुनना पसंद करता है । लेकिन, यह भी प्रतिपुष्टि का एक अहम हिस्सा है । Negative Feedback की वजह से हमें काफी बुरा लगता है और हमारा आत्मविश्वास भी कहीं न कहीं डगमगाने लगता है ।

लेकिन अगर constructive negative feedback दिया जाए तो यह सामने वाले व्यक्ति में सुधार करता है, उसे बेहतर बनाता है । नकारात्मक प्रतिपुष्टि देते समय आपको बेहद ही सावधानी बरतने की जरूरत होती है । कभी भी किसी व्यक्ति को सार्वजनिक तौर पर नकारात्मक प्रतिक्रिया न दें, उसके दोस्तों या अन्य लोगों के सामने उसके बुरे प्रदर्शन के बारे में न बोलें । एक बढ़िया नकारात्मक प्रतिपुष्टि का उदाहरण:

“मैंने गौर किया कि कक्षाओं में तुम लेक्चर पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहे थे । इसकी वजह से तुम्हारे अंक अच्छे नहीं आए हैं । क्या कोई ऐसी बात है जो तुम्हें परेशान कर रही है ? क्या तुम्हें किसी प्रकार की सहायता की जरूरत है ?”

4. Negative Feedforward

Positive Feedforward की ही तरह यह भी भविष्य पर केंद्रित होता है । इसकी मदद से किसी व्यक्ति को भविष्य में होने वाले नकारात्मक प्रभावों या कार्यों के प्रति सजग करते हुए feedback दिया जाता है । ये ऐसी चीजें हैं जो भविष्य में प्रदर्शन में सुधार करेंगी, उन्हें केंद्र में रखकर प्रतिपुष्टि की जाती है । एक उदाहरण:

“तुम प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी तो कर रहे हो लेकिन तुम समय प्रबंधन पर ध्यान नहीं दे रहे हो । परीक्षाओं में समय प्रबंधन यानि time management सबसे जरूरी होता है इसलिए इसपर तुम्हें ध्यान देने की जरूरत है ।”

5. Constructive Feedback

Constructive Feedback का हिंदी अर्थ है संरचनात्मक प्रतिक्रिया । यह व्यक्ति के बजाय उसके कार्यों पर केंद्रित होता है । रचनात्मक प्रतिक्रिया प्रतिक्रिया का एक प्रकार है जिसका उद्देश्य किसी को टिप्पणियां, सलाह या सुझाव प्रदान करके सकारात्मक परिणाम प्राप्त करना है जो उनके काम या उनके भविष्य के लिए उपयोगी हैं ।

इसके लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले व्यक्ति के कार्यों और व्यवहार को परखें । इसके बाद ही कंस्ट्रक्टिव फीडबैक प्रदान करें जो व्यक्ति के जीवन में सुधार करे । एक उदाहरण:

“तुम लगातार संस्था की सफलता के लिए कार्य कर रही हो जोकि एक सराहनीय कार्य है । लेकिन पिछले कुछ दिनों से तुम्हारा प्रदर्शन खराब रहा है । इसके अलावा तुम मीटिंग्स में भी ध्यान नहीं दे पा रही हो । क्या कुछ ऐसा है जो तुम्हे परेशान कर रहा है जिसमें मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं ।”

6. Destructive Feedback

Destructive Feedback संरचनात्मक प्रतिक्रिया के ठीक उलट है । इसमें व्यक्ति के कार्यों पर नहीं बल्कि व्यक्ति पर केंद्रित होकर प्रतिपुष्टि दी जाती है । इसमें किसी व्यक्ति की गलतियों पर सीधे point किया जाता है और कई बार यह personal attack जैसा होता है । इसमें किसी भी प्रकार का व्यवहारिक सलाह नहीं दिया जाता है जिसकी वजह से व्यक्ति की उत्पादकता पर नकारात्मक असर पड़ता है ।

इसका एक उदाहरण है:

“तुम किसी लायक नहीं हो । तुम्हें एक छोटा प्रोजेक्ट वर्क सौंपा गया था, वह भी तुमसे न हो सका । मुझे नहीं लगता है कि तुम भविष्य में कभी कुछ कर पाओगे ।”

How to give feedback in Hindi

अगर आप किसी को Feedback देना चाहते हैं तो आपको How to give feedback in Hindi के सभी बिंदुओं पर ध्यान देना चाहिए । आप इन्हें ध्यान में रखकर सही ढंग से एक बढ़िया प्रतिपुष्टि दे सकेंगे ।

  • Feedback देते समय हमेशा सकारात्मक पहलुओं पर भी ध्यान दें ।
  • व्यक्ति पर केंद्रित करके नहीं बल्कि उसके व्यवहार या कार्यों को ध्यान में रखकर feedback दें ।
  • सही समय पर फीडबैक देना बहुत जरूरी है इसलिए timing का ध्यान रखें ।
  • अपने फीडबैक में अनावश्यक बातें बिल्कुल न जोड़ें ।
  • अपने नकारात्मक प्रतिक्रियाओं को बहुत ही सोच समझकर बोलें, इससे सामने वाले व्यक्ति पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है ।
  • अपने फीडबैक को साक्ष्यों के साथ सामने रखें ।
  • सामने वाले व्यक्ति को भी प्रतिक्रिया/प्रतिपुष्टि देने का समय दें ।

Quality Feedback Examples

अक्सर आप सभी यह प्रश्न करते हैं कि Feedback me kya likhe in English यानि फीडबैक में क्या लिखें । हालांकि इसके बारे में मैंने प्रतिपुष्टि के प्रकार में ही जानकारी दे दी थी । लेकिन इसके बारे में आप ज्यादा जानकारी नीचे साइट्स पर जाकर ले सकते हैं ।

FAQs On Feedback in Hindi

Feedback in Hindi विषय पर अक्सर कुछ प्रश्न बार बार पूछे जाते हैं । चलिए इन प्रश्नों का संक्षेप में उत्तर जानते हैं इस FAQs सेक्शन में ।

Feedback FAQs

1. We really appreciate your feedback का क्या अर्थ है ?

इसका हिंदी अर्थ है कि हम वास्तव में आपकी प्रतिपुष्टि की सराहना करते हैं । जब कोई व्यक्ति आपको फीडबैक देता है तो आपको हमेशा इसी पंक्ति के साथ रिप्लाई करना चाहिए ।

2. Your feedback helps make instagram better for everyone का हिंदी अर्थ क्या है ?

Your feedback helps make instagram better for everyone का हिंदी अर्थ है कि आपकी प्रतिक्रिया इंस्टाग्राम को सभी के लिए बेहतर बनाने में मदद करती है । जब आप इंस्टाग्राम ऐप की सेवाओं को इस्तेमाल करने के बदले में हुए अनुभव की प्रतिक्रिया देते हैं तो इससे इंस्टाग्राम को मदद मिलती है । इससे इंस्टाग्राम को यह पता चल पता है कि उनके किस features को लोग पसंद कर रहे हैं और किन्हें नहीं ।

3. Peer feedback meaning in Hindi क्या है ?

पीयर फीडबैक एक अभ्यास है जहां एक छात्र द्वारा दूसरे को फीडबैक दिया जाता है । पीयर फीडबैक छात्रों को एक दूसरे से सीखने के अवसर प्रदान करता है ।

Conclusion on feedback in Hindi

What is feedback in Hindi के इस आर्टिकल में आपने जाना कि फीडबैक यानि प्रतिपुष्टि क्या होता है, इसके प्रकार, उदाहरण और इससे जुड़े प्रश्नों का उत्तर । मैंने पूरी कोशिश की है कि आपको इस विषय से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी दे सकूं । अगर आपके मन में अन्य कोई भी प्रश्न है तो आप नीचे कॉमेंट करके पूछ सकते हैं ।

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताएं । आर्टिकल helpful लगा हो तो उसे शेयर करें ।

Ank Maurya - Owner of Listrovert.com

I have always had a passion for writing and hence I ventured into blogging. In addition to writing, I enjoy reading and watching movies. I am inactive on social media so if you like the content then share it as much as possible .

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.