What Is Franchise In Hindi – फ्रेंचाइज बिजनेस की पूरी जानकारी

अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जो बिजनेस तो करना चाहते हैं लेकिन बिजनेस के लिए एक perfect idea की तलाश नहीं कर पा रहे हैं । आपको marketing, branding, sales, hiring से जुड़ी जानकारी और लगने वाला खर्च वहन नहीं करना है तो ऐसे में आपकी मदद फ्रेंचाइज करेगा । आज के इस What is franchise in Hindi में हम इसी के बारे में विस्तार से जानेंगे ।

इस आर्टिकल में आपको निम्नलिखित बिंदुओं पर जानकारी मिलेगी, इसलिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें और अगर पसंद आए तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ।

  • फ्रेंचाइज बिजनेस क्या है ?
  • फ्रेंचाइज बिजनेस कैसे काम करता है ?
  • किसी कंपनी का फ्रेंचाइज कैसे लें ?
  • Franchise और Dealership में क्या अंतर है ?
  • Top Franchise Businesses in India

Franchise Business क्या है ?

Franchise किसी एक व्यक्ति के बिजनेस मॉडल को कोई अन्य व्यक्ति द्वारा प्रैक्टिस करना है । इसमें किसी मुख्य व्यवसाय का logo, company name इत्यादि को इस्तेमाल करने का कानूनी अधिकार कोई अन्य व्यक्ति एक निश्चित राशि का भुगतान करके प्राप्त करता है । हालांकि, इसमें कुछ नियम और शर्तों का पालन करना होता है ।

इसे एक उदाहरण की मदद से समझें, मान लीजिए कि आप एक inner wear products को बेचने का बिजनेस करना चाहते हैं । लेकिन आपको अच्छे से पता है कि मार्केट में भरी संख्या में ताकतवर competitors मौजूद हैं । ऐसे में आप फ्रेंचाइज की मदद ले सकते हैं । आप Jockey India कंपनी का फ्रेंचाइज ले सकते हैं और उनके उत्पाद को खुद बेच कर अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं ।

जब आप Jockey India का फ्रेंचाइज लेंगे तो आपको एक perfect business idea, branding, logo, marketing, hiring जैसे महत्वपूर्ण कार्यों को करने के लिए मेहनत नहीं करनी होगी । आपको सब कुछ खुद कंपनी ही देगी बस आपको उनके उत्पाद बेचने हैं । Jockey India का मार्केट में अच्छा नाम होने की वजह से लोग खुद न खुद आपसे उत्पाद खरीदेंगे लेकिन अगर आप अपनी कंपनी बनाते हैं तो आपको मार्केट में एक Goodwill बनाने के लिए कई वर्ष खर्च करने होंगे ।

फ्रेंचाइज बिजनेस कैसे काम करता है ?

अब आपके मन में यह प्रश्न आ रहा होगा कि How Franchise Business Works ? यानि फ्रेंचाइजी बिजनेस कैसे काम करता है । इसके बारे में विस्तार से जानने से पहले आपको सबसे पहले 2 मुख्य Terms के बारे में जान लेना चाहिए ।

1. Franchisor

सबसे पहले स्थान पर आता है Franchisor जोकि मुख्य कंपनी या बिजनेस है । फ़्रेंचाइज़र की खुद की कंपनी होती है और सारे legal rights उसके पास होते हैं । इनकी मार्केट में पहले से अच्छा नाम होता है और ज्यादातर मामलों में इनके उत्पाद अच्छी मात्रा में खरीदे जाते हैं ।

2. Franchisee

Franchisee वह व्यक्ति या बिजनेस होता है जो फ्रेंचाइजर यानि Parent Company के products, brand, name इत्यादि का इस्तेमाल करने का लाइसेंस लेता है । ध्यान रहे कि एक franchisee का केवल एक ही Franchisor हो सकता है जबकि एक फ्रेंचाइजर के कई फ्रेंचाइजी हो सकते हैं । इससे आपको समझ आ गया होगा कि ये दोनों क्या हैं ।

फ्रेंचाइज बिजनेस एक franchise agreement पर काम करता है । उस एग्रीमेंट में इन rules & regulations को लिखा जाता है जिसे एक फ्रेंचाइजी को मानना होता है । यह एक written legal document होता है जिसपर दोनों पार्टियां सहमत होती हैं । भविष्य में किसी भी प्रकार की कानूनी समस्या या विवाद में यह एग्रीमेंट ही दोनों की मदद करता है ।

एक Franchisee को एग्रीमेंट में तय निश्चित राशि का भुगतान करना होता है ताकि वह कानूनन Parent Company के नाम और ब्रांडिंग का इस्तेमाल कर सके । अलग अलग कंपनियों द्वारा यह राशि अलग अलग होती है जिसे एक फ्रेंचाइजी को देनी पड़ती है । अगर आप तय राशि से सहमत नहीं हैं तो फिर एग्रीमेंट नहीं होगा ।

किसी कंपनी का Franchise कैसे लें ?

अगर आप इतनी जानकारी पढ़ने के बाद Franchise Business में रुचि रखते हैं तो आपको नीचे दिए steps follow करने चाहिए ।

1. सबसे पहले रिसर्च करें

अगर आप किसी कंपनी या व्यवसाय का Franchise लेना चाहते हैं तो आपको सबसे पहला काम रिसर्च का करना चाहिए । अगर आप सच में मुनाफा कमाना चाहते हैं तो आपको सही फ्रेंचाइज बिजनेस की तलाश करनी होगी । इसके अलावा, उस बिजनेस के प्रोडक्ट आपके लोकेशन में खरीदे जाएंगे या नहीं, डिमांड और सप्लाई का ratio कितना है इत्यादि चीजें भी आपको देखनी होंगी ।

आपको अपने budget के हिसाब से ही फ्रेंचाइज कंपनियों को ढूंढना चाहिए । आप Franchiseindia वेबसाइट की मदद से फ्रेंचाइज कंपनियों की जानकारी ले सकते हैं और काफी कुछ रिसर्च भी कर सकते हैं ।

2. कंपनी की Qualification Requirements

इसके बाद जरूरी है कि आपने जिस कंपनी को चुना है, उसके Qualification Requirements को ध्यान से पढ़ें । हर कंपनी के अलग अलग योग्यता संबंधी जरूरतें हो सकती हैं जिसका पालन आवश्यक है । आप एक established business के नाम, ब्रांडिंग, उत्पाद इत्यादि का इस्तेमाल कर रहे हैं और आपकी एक गलती कंपनी का नाम खराब कर सकती है ।

इसलिए, कंपनियां ध्यानपूर्वक Qualification Requirements को सेट करती हैं और एग्रीमेंट पर आपका हस्ताक्षर भी करवाती हैं । किसी भी failure scenario में आपसे लाइसेंस छीन सकता है इसलिए इसका ध्यान जरूर रखें ।

3. कंपनी से संपर्क करें

अब आपको कंपनी से सीधे संपर्क करना चाहिए और उनसे उनके कंपनी द्वारा फ्रेंचाइज से जुड़ी जानकारी लेनी चाहिए । आप जैसे ही कंपनी से Email information request भेजेंगे, कंपनी आपको जल्द से जल्द कॉन्टैक्ट करेगी । शायद इसमें एक सप्ताह भी लग सकता है इसलिए धैर्य रखिए । आपको एक Questionnaire भी मिल सकता है जिसे भरकर आपको submit करना होगा ।

4. Franchise Disclosure Document को ध्यानपूर्वक पढ़ें

Questionnaire को जमा करने के बाद कंपनी द्वारा आपको Franchise Disclosure Document यानि FDD दिया जायेगा । FDD को आपको ध्यानपूर्वक पढ़ना है क्योंकि इसमें फ्रेंचाइज से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां लिखी होती हैं ।

अगर आप किसी बात से असहमत हैं या आपके मन में कोई प्रश्न है तो उनसे जरुर पूछें । किसी भी बिजनेस का फ्रेंचाइज लेने के लिए यह एक महत्त्वपूर्ण पड़ाव है इसलिए आपको हर जरूरी जानकारी ले लेनी चाहिए । हालांकि, आपको 14 दिनों का एक disclosure period भी दिया जाता है जिसमें आपको franchisee agreement को ध्यानपूर्वक पढ़ना है ।

आप franchisee agreement को पढ़कर फिर रिसर्च इत्यादि कर सकते हैं और फैसला ले सकते हैं । इस disclosure period के बीच में कोई भी पार्टी एग्रीमेंट पर signature नहीं कर सकती है । आप पहले से मौजूद Franchise Businesses से संपर्क कर सकते हैं और उनसे सभी जरूरी जानकारी इकट्ठी कर सकते हैं ।

5. अंतिम निर्णय लें

अगर आप ऊपर दिए गए सभी steps follow कर चुके हैं तो अब बारी है निर्णय लेने की । अगर आपने अपने रिसर्च इत्यादि में पाया कि कंपनी से Franchisee के तौर पर जुड़ना आपके लिए फायदेमंद है तो आप जुड़ सकते हैं । इसके अलावा, आप यह deal cancel भी कर सकते हैं । अगर आप डील से सहमत हैं तो एग्रीमेंट पर दोनों पार्टियां अपना हस्ताक्षर करेंगी ।

इसके साथ ही, आप इस कंपनी के key executives से मिलेंगे जो आपके साथ काम करेंगे । आपको पहले से तय निश्चित राशि का भुगतान करके अपने बिजनेस को शुरुआत करनी है । एक Business Owner बनने के सबसे सुरक्षित तरीकों में से एक Franchising है ।

Franchise और Dealership में क्या अंतर है ?

अक्सर लोग Franchise vs Dealership में कंफ्यूज हो जाते हैं । दोनों ही किसी parent company के ही name & fame का इस्तेमाल करती हैं लेकिन इनके बीच कुछ अंतर हैं । चलिए जानते हैं कि इन दोनों के बीच मूल अंतर क्या है ?

FranchiseDealership
Franchise Business Model के अंतर्गत एक Franchisee को खुद से ही मैन्युफैक्चर करना होता है ।Dealership के अंतर्गत पहले से बने उत्पादों को resell किया जाता है, न कि मैन्युफैक्चर ।
इसमें Parent Company द्वारा सभी दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य होता है ।इसमें Parent Company सिर्फ सलाह देने का कार्य करती है, डीलरशिप द्वारा दिशा निर्देशों को पालन अनिवार्य नहीं है ।
Franchisee पैरेंट कम्पनी को हर महीने royalty pay करनी होती है । इसमें commission ज्यादा होता है ।डीलरशिप में डीलर्स को सिर्फ एक निश्चित राशि हर महीने कंपनी को देनी पड़ती है । ज्यादा high commission नहीं देना पड़ता ।
फ्रेंचाइज बिजनेस की शुरुआत करना काफी महंगा होता है जिसमें franchises, equipment और licenses के लिए रुपए देने होते हैं । डीलरशिप बिजनेस शुरू करना फ्रेंचाइज बिजनेस के मुकाबले सस्ता है जिसमें सिर्फ licensing और purchasing cost देनी होती है ।
इसमें आपको सिर्फ एक ही ब्रांड के साथ काम करना होता है । इसमें आप कई कंपनियों या ब्रांड्स के साथ काम कर सकते हैं और कई बार competitor brands के साथ भी काम जारी कर सकते हैं ।

Top Franchise Businesses in India

भारत में कई Franchise Businesses चल रही हैं जो काफी मुनाफा कमा रही हैं । मैं आपको कुछ Top Franchise Businesses in India की जानकारी दे देता हूं ताकि आप अपनी रिसर्च को सही ढंग से कर सकें ।

  • Subway: Food and Beverages (Fast Food)
  • Giani’s: Food and Beverages (Desserts and Ice creams)
  • Jawed Habib Hair and Beauty Ltd.: Beauty and Wellness
  • Affinity Salon: Beauty and Wellness
  • InXpress: Courier and Delivery

इन सभी Franchise Business की जानकारी आप इंटरनेट की मदद से ले सकते हैं । इन सभी कंपनियों ने फ्रेंचाइज बिजनेस मॉडल की मदद से काफी मुनाफा कमाया है और इनके कई Franchise Units देशभर में कार्यरत हैं । आप भी सबसे पहले रिसर्च करके आपके लिए एक परफेक्ट फ्रेंचाइज बिजनेस की तलाश कर सकते हैं ।

Conclusion on Franchise in Hindi

What is franchise in Hindi के इस आर्टिकल में आपने जाना कि फ्रेंचाइज क्या है, फ्रेंचाइज बिजनेस क्या है, franchise meaning in Hindi, यह कैसे काम करता है, फ्रेंचाइज बिजनेस लाइसेंस कैसे लें, डीलरशिप और फ्रेंचाइज में क्या अंतर है इत्यादि । अगर आपके मन में इस विषय से जुड़े अन्य प्रश्न हैं तो नीचे कमेंट जरुर करें ।

इसके अलावा आपको यह आर्टिकल कैसा लगा, कॉमेंट करके बताए । अगर आर्टिकल helpful लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.