How To Use Blogger in Hindi – Blogger Important Settings

अगर आप blogging करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इंटरनेट पर मौजूद विभिन्न Blogging Platform में से एक चुनते हैं । अक्सर इस फील्ड में नए लोग Blogger.com को ही चुनते हैं जहां से वे इस फील्ड को सबसे पहले सीखना शुरू करते हैं । लेकिन, हर प्लेटफॉर्म की कुछ खासियत, विशेषताएं, फीचर्स इत्यादि होते हैं जिन्हें जानना जरूरी है । इसलिए How To Use Blogger in Hindi का यह आर्टिकल आपके लिए हेल्पफुल साबित होगा ।

आर्टिकल में मैं विस्तारपूर्वक आपको बताऊंगा कि आप ब्लॉगर कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके features क्या हैं, इसकी settings को कैसे customise करें, custom domain name कैसे जोड़ें, ब्लॉग पोस्ट और पेज कैसे बनाएं जैसी अन्य जरूरी जानकारियां । तो अगर आप ब्लॉगर पर अपना ब्लॉग बनाना चाहते हैं तो आर्टिकल अंत तक जरूर पढ़ें ।

What is Blogger in Hindi

Blogger एक ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है जहां से आप बिल्कुल मुफ्त में कंटेंट बनाकर इंटरनेट पर पब्लिश कर सकते हैं । यह गूगल द्वारा संचालित एक प्लेटफॉर्म है जिसमें hosting और ब्लॉगर domain name बिल्कुल मुफ्त में मिलता है ।

अगर आप ब्लॉगिंग के फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपकी शुरुआत इसी प्लेटफार्म से होनी चाहिए । यह मुफ्त है इसलिए आप experiments, practice करते हैं और ब्लॉगिंग के बारे में काफी कुछ सीखते हैं । अगर बात करें अन्य ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म की तो इसमें WordPress, Medium, Wix इत्यादि आते हैं ।

अबतक आप अच्छे से जान चुके हैं कि ब्लॉगर क्या है । अब मैं आपको विस्तार से बताऊंगा कि How to use Blogger in Hindi ताकि आप बेहतर ढंग से इसका इस्तेमाल कर सकें ।

How To Use Blogger in Hindi

अगर आप ब्लॉगर का सही ढंग से उपयोग करना चाहते हैं तो नीचे दिए सभी headings को ध्यान से पढ़ें । इससे आपको ब्लॉगर प्लेटफॉर्म की पूरी जानकारी हो जाएगी । सबसे पहले मैं आपसे settings, features के बारे में बताऊंगा । यानि कि एक नया यूजर कैसे अपने प्रोफाइल इत्यादि को customise कर सकता है ।

1. Blogger Dashboard

जब आप ब्लॉगर में login कर लेंगे तो आपके सामने एक interface खुल कर आ जायेगा जोकि नीचे दिए screenshot जैसा ही होगा । यहां आपकी सारी blog posts display होती हैं जिन्हें आप edit, publish, share, label और डिलीट भी कर सकते हैं । इसके साथ ही, इस ब्लॉग पोस्ट पर आए comments और views को भी देख सकते हैं ।

यहां आने के बाद आपको Bottom Corner में एक + Icon दिखेगा जिसे आप स्क्रीनशॉट में भी देख सकते हैं । इसपर क्लिक करके आप New Blog Posts लिख सकते हैं । आप अगर नए ब्लॉग लिखना चाहते हैं तो आपको इसी बटन की मदद लेनी होगी । इसी इंटरफेस में आपको सबसे ऊपर search box मिलेगा जिसकी मदद से आप अपने ब्लॉग पोस्ट को खोज भी सकते हैं ।

2. Blogger Sidebar

दूसरे नंबर पर Blogger Sidebar है जिसे आप Upper left corner में दिए 3 horizontal patterns पर क्लिक करके access कर सकते हैं । नीचे दिए स्क्रीनशॉट में आप देख सकते हैं कि sidebar भी आपको क्या क्या मिलेगा । इसमें आपको:

  • Posts
  • New Posts
  • Stats
  • Comments
  • Earnings
  • Pages
  • Layout
  • Theme
  • Settings
  • Reading List
  • View Blog

इन सभी options की जानकारी मैं आपको एक एक करके दूंगा । इन फीचर्स के अंदर भी आपको कई विकल्प मिल जाते हैं, आप अपनी पूरी साइट को customise कर सकते हैं ।

3. Stats

Stats के ऊपर आपको दो विकल्प मिलते हैं, पहला New Post का जिसकी मदद से आप नया ब्लॉग पोस्ट लिख सकते हैं । तो वहीं, दूसरा विकल्प है Posts का जिसकी मदद से आप अपने साइट की सारी पोस्ट को देख सकते हैं । इसके बाद बारी आती है Stats की जिसपर क्लिक करके आपको अपने वेबसाइट पर अबतक आए visitors की कुल संख्या का पता चलता है ।

यहां सभी visitor count को अलग अलग भागों में बांटा गया है, जैसे All Time, Today, Yesterday, This Month और Last Month । इससे आपको यह पता चलता है कि आप सच में grow कर रहे हैं या नहीं । आप visitors count को फिल्टर करके भी देख सकते हैं जैसे last 7 days, last 24 hours इत्यादि । ऊपर आपको एक विकल्प followers का भी मिलता है, जो आपके ब्लॉग को फॉलो करेंगे उनका followers count आपको वहां दिखेगा ।

नीचे scroll करने पर आपको पता चलता है कि आपके वेबसाइट पर मौजूद posts और pages को कुल कितनी बार देखा गया है । इससे आपको पता चलेगा कि आपकी साइट के popular posts कौन से हैं । अंत में आपको manage the tracking of your own pageviews मिलता है जिसे आपको on करना है । अगर आप अपने ही ब्लॉग को देखते हैं तो वह visitor count में शामिल नहीं होगा ।

4. Comments

Blogger में अगला विकल्प आपको Comments के मिलता है । अगर आपके किसी blog post या page पर कोई कॉमेंट करेगा तो वे सभी यहां डिस्प्ले होंगे । यहां आपको पता चलता है कि आपके किस आर्टिकल या ब्लॉग पोस्ट पर किसने क्या कॉमेंट किया है ।

आप अगर चाहें तो सीधे इसी comments interface से रिप्लाई भी दे सकते हैं और कॉमेंट को डिलीट भी कर सकते हैं । इसके अलावा, कॉमेंट को report करने की सुविधा भी आपको इस इंटरफेस में मिल जाती है ।

5. Earnings

Comments के उपरांत आपको Earnings का सेक्शन मिलता है जहां से आप अपने ब्लॉग पर हुई कुल कमाई का ब्योरा देख सकते हैं । इसके लिए सबसे पहले आपके ब्लॉग पर AdSense active होने के साथ ही ads चलने भी चाहिए । अगर आपने अभी तक एडसेंस से ब्लॉग को link नहीं किया है तो आपको सबसे पहले एक AdSense Account बनाना होगा ।

इसके बाद आप एडसेंस अकाउंट को आसानी से ब्लॉग से लिंक कर सकेंगे । गूगल की तरफ से आपको एक Code दिया जाता है जिसे ब्लॉग के Header में आपको डालना होता है, इसके बाद गूगल एडसेंस खुद ब्लॉग को verify कर लेगा । अगर आप अपने Blogger के लिए AdSense account चाहते हैं तो आप Google AdSense account बनाकर approval कैसे लें आर्टिकल पढ़ सकते हैं ।

6. Pages

Blogger का अगला फीचर है Pages का, जहां से आप अपने ब्लॉग के सभी Pages को view, edit और delete भी कर सकेंगे । इसके अलावा, आपको page sharing का भी विकल्प मिलता है ताकि आप अपने ब्लॉग को आसानी से शेयर कर सकें । अगर हम बात करें Important blogger pages की तो इसमें:

  • About Us
  • Privacy Policy
  • Contact Us
  • Disclaimer
  • Disclosure

आते हैं । आप अपनी जरूरतों के हिसाब से अन्य पेजेस भी बना सकते हैं । इन पेजेस को बनाने की जानकारी आप नीचे दिए articles पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं ।

7. Layout

Blogger में आपको अगला बेहद ही महत्वपूर्ण फीचर मिलता है Layout का । Layout की मदद से आप अपनी पूरी साइट को कस्टमाइज कर सकते हैं, उसके look & feel और design को पूरी तरह से बदल सकते हैं । आपको अलग से कुछ करना नहीं होता है, सारी चीजें आपके installed theme द्वारा ही दी गई होती हैं, आपको उन्हीं विकल्पों को अपने हिसाब से बस कस्टमाइज करना होता है ।

कुछ जरूरी settings:

1. Header Logo: अगर आपने अपने ब्लॉग क्रिएट किया है तो आपने अवश्य ही Logo बनाया होगा । आप Header Logo विकल्प को एडिट करके अपना लोगो वहां लगा सकते हैं । अगर आप लोगो नहीं लगाना चाहते हैं तो आपके ब्लॉग का Header Name डिस्प्ले होगा ।

2. Blog Post: इस विकल्प की मदद से आप Number of posts on main page, Share link, Author Profile, Tags इत्यादि को अपने हिसाब से कस्टमाइज कर सकते हैं ।

3. Contact Form: इस विकल्प पर क्लिक करके आप अपने Contact Form को कस्टमाइज कर सकते हैं । हालांकि, इसकी पूरी जानकारी ऊपर दिए लिंक पर क्लिक करके आप ले सकते हैं ।

4. Social Widget: Social Widget आपको अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स को ब्लॉग पर जोड़ने की सहूलियत देता है । आप इस सेक्शन को एडिट करके अपने social media accounts के लिंक को जोड़ सकते हैं । इससे आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर engagement बढ़ा सकते हैं ।

5. Header Menu: हेडर मेनू यानि एक ऐसा सेक्शन जहांसे आपकी साइट के important pages को access किया जा सकता है । यहां आपको अपने ब्लॉग के जरूरी पेजेस जैसे About us, Privacy Policy, Contact us को इसमें जोड़ना चाहिए ।

8. Themes

अगला सेक्शन आपको Themes का मिलता है जहां से आप ब्लॉग के थीम को कस्टमाइज कर सकते हैं । इसके अलावा, आप नए थीम को भी इसमें जोड़ सकते हैं । आपको बस गूगल पर Best blogger themes 2021 Free सर्च करना है और आपको ब्लॉगर के लिए अच्छे थीम आसानी से मिल जायेगी । आप जैसे ही इस सेक्शन में customise पर क्लिक करेंगे, आप Restore विकल्प की मदद से ने थीम अपलोड कर सकते हैं ।

अगर आप अपने थीम में कोई बदलाव करना चाहते हैं तो आपको Edit HTML विकल्प पर क्लिक करना है । अगर आप AdSense Code insert करना चाहते हैं या थीम कोई बदलाव करना चाहते हैं तो इस विकल्प की मदद ले सकते हैं । इस सेक्शन में आपको गूगल द्वारा दी गई ढेरों Themes मिल जाती हैं जिन्हें आप चाहें तो इस्तेमाल भी कर सकते हैं ।

9. Settings

Blogger में अगला महत्वपूर्ण विकल्प आता है Settings का । यह बहुत ही ज्यादा जरूरी सेक्शन है, जिसे आपको ध्यान से बदलना चाहिए । कुछ महत्वपूर्ण settings:

1. Google Analytics Property ID: इस विकल्प की मदद से आप Google Analytics को अपने blog के साथ लिंक कर सकते हैं । इसका फायदा यह होता है कि आपको विस्तृत रूप से जान पाते हैं कि आपके साइट पर कितने visitors कहां से और कब आ रहे हैं । उनके mobile devices क्या हैं आदि काफी कुछ आपको मिल जाता है । इसके लिए आपको Google Analytics पर जाकर दोनों को लिंक करना होगा ।

2. Visible to search engines: इस विकल्प को आपको हमेशा switch on करके रखना चाहिए । इससे आपका ब्लॉग Google पर visible या यूं कहें कि rank होगा । अगर आप नहीं चाहते हैं कि आपका ब्लॉग रैंक हो या कोई आपके ब्लॉग को सर्च इंजन की मदद से access कर सके तो आप इसे off कर सकते हैं ।

3. Custom Domain: Custom Domain विकल्प से आप कस्टम डोमेन को खरीद कर जोड़ सकते हैं । अगर बात करें default domain name की तो आपको .blogspot.com का एक्सटेंशन मिलता है । लेकिन यह unprofessional लगता है इसलिए आप डोमेन नेम खरीद कर उसे link कर सकते हैं ।

4. HTTPS: अगर आप चाहते हैं कि आपका ब्लॉग SSL secured हो तो आपको HTTPS विकल्प को हमेशा ऑन करके रखना चाहिए । इससे आपके visitors का डेटा भी सुरक्षित रहता है और आपको एडसेंस अप्रूवल मिलने में आसानी रहती है । ज्यादा जानकारी के लिए SSL क्या है पर जाएं ।

5. Meta Tags: Meta Tags setting की मदद से आप आसानी से अपने ब्लॉग के लिए search description और tags को सेट कर सकते हैं । इसके अलावा आपको Enable Search Description को toggle on करके रखना चाहिए ।

इसके अलावा, अन्य विकल्प हैं जिन्हें आप अपने मनमुताबिक set कर सकते हैं ।

10. Reading List

Blogger में अगला विकल्प आपको Reading List का मिलता है जहां से आप Google द्वारा ब्लॉगर के संबंध में important updates & notification को पढ़ सकते हैं । यहां से आप ब्लॉगर में आ रहे नए नए बदलावों के बारे में भी जान पाते हैं ।

11. View Blog

View Blog विकल्प की मदद से आप अपने blog के finalised design को देख सकते हैं । मान लीजिए कि आपने Theme में कोई बदलाव किया है और आप जानना चाहते हैं कि आपके ब्लॉग के overall look पर क्या असर पड़ा है तो आप इस विकल्प की मदद से देख सकते हैं ।

Important Settings of Blogger

यहां में आपको Blogger Important settings की जानकारी दूं ताकि आप अच्छे से अपनी साइट को अच्छे से setup कर सकें ।

1. Adult Content

जब आप ब्लॉगर की settings में जाते हैं तो आपको 2 विकल्प होते हैं:

  • Show warning to blog readers
  • Require age confirmation

अगर आप Adult Content नहीं बनाते हैं तो इन दोनों विकल्पों को toggle off करके रखें । लेकिन अगर आप adult content बनाते हैं तो इस विकल्प को ऑन करें ।

2. Redirect Domain

अगला महत्वपूर्ण विकल्प आपको Redirect Domain का मिलता है । यह सेटिंग आपके लिए तभी useful है जबकि आपने custom domain खरीदा है । Blog Address में आपको अपने ब्लॉग के उस एड्रेस को डालना है जिसे आपने ब्लॉग बनाते समय बनाया था । जैसे Listrovert.blogspot.com या आपने जो भी blogspot extension के साथ बनाया हो ।

इसके बाद, custom domain में आपको वह domain address डालना है जिसे आपने खरीदा है ।इसके बाद अंत में आपको Redirect Domain को ऑन कर देना है । इससे अगर कोई आपके blogspot extension domain address पर जायेगा तो वह आपके custom domain पर redirect होगा ।

3. Max Posts Shown On Main Page

अगर आप चाहते हैं कि आपके ब्लॉग तेजी से load हो तो आपको Max Posts को ज्यादा से ज्यादा 5 ही रखना चाहिए । आप चाहें तो इसे 10 भी रख सकते हैं लेकिन 5 रखना ज्यादा बेहतर होगा । जब आप इसका count बढ़ा देते हैं तो आपका ब्लॉग सारे posts को एक साथ load करता है जिसे loading speed घट जाती है ।

इसी विकल्प के नीचे आपको image lightbox विकल्प मिलता है जिसे आपको off कर देना चाहिए । ऐसा देखा गया है कि यह साइट की loading speed को घटाने का काम करता है । इसके बाद, आपको Ideas Panel विकल्प मिलता है । अगर आपको Keyword Research की ज्यादा जानकारी नहीं है तो आपके लिए इसे On करना बेहतर होगा । यह आपके आपके existing content के हिसाब से नए ideas suggest करता है जिनपर आप लिख सकते हैं ।

4. Comment Moderation

अगर आप नहीं चाहते हैं कि लोग फालतू के comments करें और वे सारे कॉमेंट सीधे आपकी साइट पर display हो तो आपको इसे Always set कर देना चाहिए । इससे अगर आपके किसी blog post और page पर कोई कॉमेंट करता है तो वह सीधे ब्लॉग पर display नहीं होगा । सबसे पहले आपको comment approve करना होगा जिससे कि spammy comments से आप बच जाते हैं ।

यहां आपको Who can comment ? का विकल्प मिलता है । मैं आपको recommend करूंगा कि इसे आप users with Google account सेट कर दें ताकि आपको पता चल सके कि किसने कॉमेंट किया है । यह आपके साइट को spammy comments से भी बचाता है ।

5. Crawlers & Indexing

Crawlers & Indexing एक बेहद ही महत्वपूर्ण setting है जिसकी मदद से आप Google Crawlers को crawling और indexing से जुड़ी जरूरी direction देते हैं । आपके ब्लॉग को गूगल कितना और कैसे क्रॉल करे, इसे आप इस विकल्प से सेट कर सकते हैं । सबसे पहले आपको Enable Custom Robot TXT को on करना है । इसके बाद custom robot txt में आपको नीचे दिए code को कॉपी करना है:

# Blogger Sitemap 
created on Tue, 09 Nov 2021 17:56:00 GMT

User-agent: *Disallow: /searchAllow: /Sitemap: https://devpolytech.blogspot.com/atom.xml?redirect=false&start-index=1&max-results=500

आप ऊपर दिए date और time को बदल सकते हैं । जब आप इस कोड का इस्तेमाल करते हैं तो यह गूगल को दिशानिर्देश देता है कि उसे क्या क्या crawl करना है और क्या क्या नहीं । यह बहुत ही जरूरी फीचर है ।

6. Custom Robots Header Tags

इस विकल्प को आप नीचे दिए screenshot के हिसाब से सेट कर सकते हैं । आपको अलग से कोई सेटिंग पर tick नहीं करनी है बस जिस हिसाब से आपको स्क्रीनशॉट में दिखता है, उसी हिसाब से टिक करते जाना है ।

7. Custom Ads.txt

अगर आप ब्लॉग पर monetisation को ऑन करना चाहते हैं तो आपको Custom ads.txt को on कर देना चाहिए । इसे ऑन करने के बाद आपको ads.txt के कोड को इसमें enter करना है । जब आपका AdSense Request approve हो जायेगा तो आपको गूगल एडसेंस की तरफ से यह कोड दिया जायेगा, जिसे आपको बस copy & paste करना होगा ।

Conclusion on How to use Blogger in Hindi

How to use blogger in Hindi के इस आर्टिकल में आपने विस्तार से जाना कि Blogger use कैसे करें । मैंने हर जरूरी जानकारी आपको दे दी है लेकिन अगर आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप उसे जरूर नीचे कमेंट करके पूछें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और अन्य लोगों को भी Blogger ki setting kaise kare और blogger kaise use kare के बारे में अवगत कराएं ।

पसंद आया ? शेयर करें 🙂

1 thought on “How To Use Blogger in Hindi – Blogger Important Settings”

Leave a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.